दलित छात्रा मर्डर केस से उठा पर्दा, गांव के ही एक लड़के ने वारदात को दिया ऐसे अंजाम

पहले लड़की को बनाया हवस का शिकार, उसके बाद धारदार हथियार से कर दी हत्या।

By: Kaushlendra Pathak

Published: 09 Dec 2017, 04:35 PM IST

हापुड़। दो दिन पहले हुए एक छात्रा के मर्डर केस का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। पुलिस के मुताबिक, गांव के ही रहनेवाले आरोपी मोहित ने चारा लेने गई दलित छात्रा को गन्ने के खेत में ले जाकर पहले अपने हवस का शिकार बनाया था। इसके बाद बदनामी के डर से मोहित ने उसकी हत्या कर दी। हालांकि, पुलिस इस मामले में रेप वाली बात की पुष्टि नहीं कर रही है, जबकि आरोपी खुद रेप करने की बात कबूल कर रहा है।


पुलिस के मुताबिक, आरोपी मोहित चारा काट रही छात्रा को किसी बहाने से गन्ने के खेत में ले गया था। इसके बाद आरोपी ने छात्रा को अपनी हवस का शिकार बना लिया था और जब छात्रा ने रेप की बारदात को अपने घर बताने की बात कही तो आरोपी ने बदनामी के डर से छात्रा का गला घोट दिया। जब छात्रा गला घोंटने से भी नहीं मरी, तो आरोपी ने छात्रा का चारा काटने वाले दराती से गला रेत दिया, जिससे उसकी मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गयी थी। आरोपी मोहित हत्या करके बड़े आराम से फरार हो गया था। पुलिस ने छात्रा की हत्या के शक में उन सभी को उठा लिया, जो उस रात गांव से फरार थे। पुलिस ने सभी से गहनता से पूछताछ की तो आखिरकार आरोपी पुलिस गिरफ्त में आ गया और आज धौलाना पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल दराती के साथ गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपी हत्यारे को पकड़कर जेल भेज दिया है। लेकिन, जहा एक ओर आरोपी रेप के बाद हत्या करने की बात कह रहा है, वहीं पुलिस के अधिकारियों का कहना है की छात्रा के साथ रेप नहीं हुआ है, रेप में नाकाम होने पर आरोपी ने उसकी हत्या की है। लेकिन, सबसे बड़ी बात यह कि पुलिस रेप की बात क्यों स्वीकार रही है या फिर मोस्टमॉर्टम रिपोर्ट क्यों नहीं दिखाया जा रहा है।

Kaushlendra Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned