इस शख्स ने दिया संसार को अंतरराष्ट्रीय योग गीत

इस शख्स ने दिया संसार को अंतरराष्ट्रीय योग गीत

अंतरराष्ट्रीय योग गीत के लिए 1000 गीतों में से धीरज के लिरिक्स को चुना गया

सहारनपुर। पूरी दुनिया को योग की ताकत समझाने वाले भारत ने अब अंतरराष्ट्रीय योग गीत भी दुनिया को दिया है। खास बात यह है कि जिस गीत को अंतरराष्ट्रीय योग गीत की उपाधि मिली है। वह गीत सहारनपुर स्थित मोक्षायतन अंतरराष्ट्रीय योगाश्रम के साधक धीरज सारस्वत ने तैयार किया है।

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस 2016 के कार्यक्रमों की अंतिम कड़ी के तौर पर दिल्ली के विज्ञान भवन में 23 जून को अंतरराष्ट्रीय योग सेमिनार का समापन हुआ। सेमिनार का उद्घाटन देश व दुनिया के योग दिग्गजों के बीच उपराष्ट्रपति डॉ हामिद अंसारी ने किया। इसी अवसर पर आयुष मंत्री श्रीपद यस्सु नाईक, योग गुरु बाबा रामदेव, स्वामी भारत भूषण, स्वामी चिदानंद मुनि, प्रणव पंड्या, एच आर नागेन्द्र व् आयुष सचिव अजित मोहन शरण की उपस्थिति में दुनिया भर में योग अलख जगाने के उद्देश्य से भारत सरकार के लिए योग गीत बनाने वाले मोक्षायतन अंतरराष्ट्रीय योगाश्रम के धीरज सारस्वत को उपराष्ट्रपति ने मानपत्र व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। इस मौके पर यहां मौजूद सांसदों मंत्रियों, योगियों व विविध देशों के राजदूतों ने मेज थपथपाकर योगगीत के प्रोड्यूसर धीरज सारस्वत का हौसला बढ़ाया।

एक हज़ार गीतों से चुना गया योगगीत

देश भर के करीब एक हजार गीतों में से लिरिक्स के आधार पर इस गीत को अंतरराष्ट्रीय योग गीत के रूप में चुना गया है। इस अवसर पर धीरज सारस्वत ने बताया कि मूल रूप में योग गीत के स्वर संयोजन संगीत व रिकॉर्डिंग आदि में जो भी खर्च हुआ वह उन्होंने अपने पास से किया है। उन्होंने कहा कि गीत के लिरिक्स से छेड़छाड़ किए बिना गीत की स्वर संगीत रचना वीडियो एडिशन आदि पुनः एडिटिंग सरकार चाहे तो अपने खर्चे से कराने को स्वतंत्र है। यह भी कहा कि भले ही योग गीत उनका प्रोडक्शन है लेकिन जब इसे दुनिया के योग प्रेमियों को हमेशा के लिए दे दिया तो अब वह उनका नहीं रहा। उन्होंने कहा कि लिरिक्स के साथ छेड़छाड़ की अनुमति देना इसलिए संभव नहीं है क्योंकि उसमें भारतीय योग का मूल थीम व दर्शन निहित हैं। यह अलग बात है कि गीत का अनुवाद अगर सरकार दुनिया की दूसरी भाषाओं में भी किया जाए तो उन्हें कोई आपत्ति नहीं होगी।

गुरुदेव को दोय श्रेय
धीरज सारस्वत ने उनके गीत
'तन मन जीवन सभी संवारें......' को तैयार करने में अपनी गायन, संगीत संयोजन टीम के योगदान और गुरुदेव के आशीर्वाद को इसका श्रेय दिया। मोक्षायतन अंतरराष्ट्रीय योगाश्रम में नित गूंजने वाले 'तन मन जीवन सभी संवारें......' को भारत सरकार द्वारा अंतरराष्ट्रीय योग गीत बनाए जाने पर सहारनपुर में खास खुशी की लहर है क्योंकि धीरज की मेहनत ने देश व दुनिया को योग गीत देकर नया इतिहास रचा है।
Ad Block is Banned