योगीराज में जान जोखिम में डालकर नदी पार करने को मजबूर शिव भक्त कांवड़िये

Highlights

- मुजफ्फरनगर के थाना भोपा क्षेत्र के गांव योगेंद्र नगर का मामला

- सोनाली नदी के ऊपर इस बार प्रशासन ने नहीं की अस्थाई पुल की व्यवस्था

- जान हथेली पर रख नदी पार कर रहे कांवड़िये

By: lokesh verma

Published: 08 Mar 2021, 05:09 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मुजफ्फरनगर. उत्तर प्रदेश में कांवड़ यात्रा को लेकर सुविधाओ का दंभ भरने वाली योगी सरकार में भी कांवड़ियों की मुश्किलें कम नही हो रही हैं। इस बात को अगर किसी को विश्वास नही होता तो सोनाली नदी पार कर रहे शिव भक्त कांवड़ियों की तस्वीरों को देखा जा सकता है। यहां हरिद्वार से गंगाजल लेकर आ रहे भोले भक्त कावड़िये अपनी जान जोखिम में डालकर सोनाली नदी पार कर रहे हैं। शासन और प्रशासन को इसकी खबर भी नहीं है, क्योंकि यहां पर कोई व्यवस्था नहीं की गई है, जिसके चलते कांवड़ियों में रोष व्याप्त है।

यह भी पढ़ें- ट्रेन से यात्रा करते समय भूल से भी न करें ये काम, नहीं तो ढीली करनी पड़ेगी जेब, अब हजारों पैसेंजर्स को भरना पड़ा है जुर्माना

दरअसल, मामला मुजफ्फरनगर के थाना भोपा क्षेत्र के गांव योगेंद्र नगर का है। जहां डूंडी घाट नाम से एक घाट बना हुआ है, जिस रास्ते से प्रत्येक वर्ष करीब लाखों कावड़िये निकलकर आते हैं, प्रत्येक वर्ष उस घाट पर एक लकड़ी का अस्थाई पुल लगा दिया जाता था। उस अस्थाई पुल के रास्ते ही कावड़िये सोनाली नदी को पार किया करते थे। इस तरह वह अपनी यात्रा बगैर खतरे और रुकावट के जल्द ही पूरी कर लेते थे, लेकिन इस बार उस पुल को हटा दिया गया है।

मजबूरन नदी पार कर रहे कावड़ियों में रोष व्याप्त है। कांवड़ियों ने बताया कि अगर हम मुख्य मार्ग से अपनी यात्रा तय करते हैं, तो करीब 20 किलोमीटर की दूरी ज्यादा तय करनी पड़ती है और वह अपनी मंजिल पर नहीं पहुंच पाते। इस रास्ते से शिवभक्त अपनी यात्रा तय समय पर पूरी कर लेते हैं और भगवान शिव का जलाभिषेक करते हैं। कांवड़ियों योगी सरकार से डूंडी घाट पर पुल बनवाने की मांग की है।

यह भी पढ़ें- अयोध्या में बनेगी श्रीराम यूनिवर्सिटी, राम संस्कृति पर होगी रिसर्च

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned