लॉकडाउन के बीच आसमानी बिजली गिरने से दो बच्चों की दर्दनाक मौत

  • झोपड़ी पर गिरी आसमानी बिजली
  • हादसे के वक्त चार लोग थे झोपड़ी में
  • माता-पिता की हालत भी गंभीर

By: Iftekhar

Published: 18 Apr 2020, 07:55 PM IST

 

मुजफ्फरनगर. बिजनौर के थाना मंडावर क्षेत्र के गंगा खादर में बीती रात तेज आंधी के साथ हुई बारिस के दौरान अचानक आसमानी बिजली गिरने से एक ही परिवार के चार सदस्य झुलस गए। इसके बाद आनन-फानन में सभी को इलाज के लिए जिला अस्पताल पहुंचाया गया, जहां दो बच्चों की दर्दनाक मौत हो गई, जबकि उनके माता-पिता का इलाज अब भी जारी है। इस हादसे के बाद गांव में दहशत व्याप्त हो गई।

यह भी पढ़ें: अब नहीं छूटेगा एक भी कोरोना पीड़ित, शुरू हुई डोर-टू-डोर थर्मल स्क्रीनिंग

मामला जनपद बिजनौर के थाना क्षेत्र के गांव इच्छावाला गंगा खादर में कैराना निवासी शाहलून अपनी पत्नी साजिदा, 12 वर्षीय पुत्र नाजिम, 13 वर्षीय जीशान के साथ ठेके पर जमीन लेकर सब्जी की खेती कर रहा था। जहां शुक्रवार की देर रात तेज आंधी के साथ आई बारिश से बचने के लिये वह झोपड़ी के अंदर सोने चले गए। अचानक तेज गड़गड़ाहट के साथ बिजली झोपड़ी के ऊपर गिरने से परिवार के चारों लोग गंभीर रूप से घायल हो गए, जिसमें नाजिम और जीशान की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई।

यह भी पढ़ें- प्यार ने लॉकडाउन को दी मात, जानिए दिल्ली के दूल्हे ने मुजफ्फरनगर पहुंचकर कैसे रचाई शादी

बताया गया है कि गंगा खादर क्षेत्र में शाहलून का परिवार झोंपड़ी डालकर फसल की रखवाली कर रहा था। इसी बीच तेज़ बारिश के साथ झोंपड़ी पर आकाशीय बिजली गिर गई, जिससे झोंपड़ी में आग लग गई। 45 वर्षीय शाहलून, उसकी 40 वर्षीय पत्नी साजिदा और 13 वर्षीय नाज़िम के साथ ही 11 वर्षीय जीशान भी झुलस गया। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची एम्बुलेंस ने सभी घायलों को मोरना के प्रार्थमिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचाया, जहां से उन्हें ज़िला चिकित्सालय मुज़फ्फरनगर रैफर कर दिया गया। जहां इलाज के दौरा डॉक्टरों ने नाज़िम और जीशान को मृत घोषित कर दिया।

Iftekhar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned