UP पुलिस ने किया तिहरे हत्याकांड का सनसनीखेज खुलासा, 5 हत्यारोपी गिरफ्तार, 4 फरार

UP पुलिस ने किया तिहरे हत्याकांड का सनसनीखेज खुलासा, 5 हत्यारोपी गिरफ्तार, 4 फरार

lokesh verma | Publish: Apr, 22 2019 06:40:46 PM (IST) Muzaffarnagar, Muzaffernagar, Uttar Pradesh, India

  • तीन युवकों की हत्या कर शवों को कार समेत फेंक दिया था गंगनहर में
  • पुलिस फरार आरोपियों को गिरफ्तार करने के प्रयास में जुटी
  • थाना खतौली कोतवाली क्षेत्र का मामला

मुजफ्फरनगर. 17 अप्रैल को थाना खतौली क्षेत्र के गांव बुआड़ा के निकट गंगनहर में पड़ी एक स्कॉर्पियो कार में मिले तीन युवकों के शवों के मामले में पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया है। इस मामले में तीनों मृतक युवकों के परिजनों ने उनकी हत्या कर शवों को कार सहित गंगनहर में फेंकने की आशंका जताते हुए मुकदमा दर्ज कराया था, जिसके आधार पर पुलिस ने 5 दिन में ही इस सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा करते हुए पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि चार अन्य आरोपी फरार हैं। गिरफ्तार किए गए आरोपियों ने हत्याकांड की पूरी घटना को स्वीकार कर लिया है। अब पुलिस फरार आरोपियों को गिरफ्तार करने के प्रयास में जुट गई है।

यह भी पढ़ें- शिवपाल यादव की पार्टी के चुनाव कार्यालय पर यूपी पुलिस का छापा

दरअसल मामला थाना खतौली कोतवाली क्षेत्र का है। जहां 17 अप्रैल को चौधरी चरण सिंह कांवड़ यात्रा नहर पटरी पर गांव बुआडा कला के निकट एक स्कॉर्पियो गाड़ी गंगनहर में पड़ी हुई पाई गई थी, जिसमें 3 युवकों के शव बरामद किए गए थे। मृतक युवकों की शिनाख्त प्रदीप पुत्र कृष्ण, रवि पुत्र कृष्ण एवं अक्षय पुत्र रविंद्र निवासी ग्राम भैंसवाल कला सोनीपत हरियाणा के रूप में हुई थी। इस मामले में मृतक प्रदीप के पिता किशन द्वारा तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा कायम कराया गया था। इस मामले का खुलासा करने के लिए एसएसपी द्वारा खतौली थाना प्रभारी हरशरण शर्मा के नेतृत्व में थाना खतौली पुलिस तथा क्राइम ब्रांच की संयुक्त टीम का गठन किया गया था। पुलिस शुरुआत से ही मामले को संदिग्ध मान रही थी। हादसे में मारे गए तीनों युवकों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने भी पुलिस के संदेह पर मोहर लगा दी। मौके से मिले साक्ष्यों तथा सर्विलांस टीम की मेहनत की बदौलत पुलिस ने इस घटना को अंजाम देने वाले पांच आरोपियों हामिद उर्फ गाली पुत्र गफ्फार निवासी ग्राम कुल्हेडी थाना चरथावल, जितेंद्र उर्फ सीटू पुत्र बलवीर व सतपाल पुत्र के साथ नवीन मलिक पुत्र प्रताप निवासी भैंसवाल कला सोनीपत हरियाणा तथा जितेंद्र उर्फ जीतू पुत्र राजवीर निवासी ग्राम गोयला थाना शाहपुरको गिरफ्तार कर लिया।

यह भी पढ़ें- आंखों देखी: होटल में बिखरी पड़ी थीं लाशें, खून से सने फर्श पर तड़प रहे थे लोग, मंजर देख सहम गया मेरा परिवार

एसपी सिटी ने बताया कि वर्ष 2017 में भैंसवाल कला निवासी प्रवीण उर्फ बिट्टू पुत्र बलवीर की गांव में ही प्रदीप तथा रवि ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। प्रदीप तथा रवि की नवीन से कई बार कहासुनी हुई थी, जिसके चलते प्रदीप और रवि नवीन की हत्या करने की फिराक में थे। प्रवीण की हत्या के मामले में उसके परिजन जितेंद्र उर्फ सीटू तथा सत्यपाल पुत्र होशियार ने नवीन के साथ मिलकर प्रदीप और रवि की हत्या की योजना बनाई। प्रदीप और रवि ने हाल ही में हरियाणा में शराब का ठेका लिया था और वह अपने ठेके की शराब की सप्लाई यूपी में भी करना चाहते थे। इसके लिए उन्होंने मुजफ्फरनगर के थाना चरथावल क्षेत्र के गांव कुल्हेडी निवासी हामिद उर्फ गाली से संपर्क किया। हामिद ने नवीन के साथ मिलकर प्रदीप और रवि की हत्या की योजना तैयार की। इसके बाद हामिद ने प्रदीप और रवि से बात कर उन्हें 16 अप्रैल को मुजफ्फरनगर आने के लिए तैयार कर लिया। नवीन ने अपने साथी विकास जावला के साथ चरथावल आकर हामिद से मुलाकात की और उसे बताया कि प्रदीप और रवि को लेकर कहां आना है। उसके बाद नवीन और विकास ने गंगनहर की पटरी पर उस जगह को देखा जहां हत्या के बाद रविवार प्रदीप की लाश डाली जानी थी।

यह भी पढ़ें- तेज रफ्तार ट्रक ने युवक को कुचला, मौत के बाद परिवार में मचा कोहराम

16 अप्रैल को हामिद, प्रदीप, रवि तथा उनके गांव के ही एक युवक अक्षय पुत्र रविंद्र को लेकर बरवाला गेट के पास पहुंचा। इसके बाद उन्हें गांव बरवाला के जंगल में स्थित एक ट्यूबवेल पर लाया गया। जहां नवीन मलिक अपने साथियों के साथ पहले से ही छुपा हुआ था। जैसे ही स्कॉर्पियो रुकी, उन्होंने प्रदीप, रवि और अक्षय को पकड़कर गाड़ी से नीचे उतार लिया। नवीन मलिक ने रवि की गला घोट कर हत्या कर दी और उसके बाद रवि को ट्यूबवेल की हौज में डुबो दिया। रवि की हत्या करने के बाद प्रदीप और अक्षय की भी ट्यूबवेल के हौज में बारी-बारी से डुबाकर हत्या कर दी गई। हत्या के बाद रवि को स्कॉर्पियो की आगे की सीट पर बिठाया गया, जबकि प्रदीप और अक्षय को पीछे की सीट पर बिठाया गया। इसके बाद नवीन मलिक खुद स्कॉर्पियो चलाते हुए गंगनहर की टूटी दीवार के पास पहुंचा और गाड़ी को स्टार्ट करने के बाद गियर में डालकर गंगनहर में डाल दिया। अभियुक्तों की योजना यह थी कि सभी को यह घटना एक हादसा महसूस हो और लोग यह समझे कि तीनों युवकों की मौत पानी में डूबने के कारण हुई है। इस मामले में चार और लोगों के नाम सामने आए हैं, जिनमें एक मुजफ्फरनगर गोयला तथा दूसरा गांव डांगरोल थाना कांधला शामली का निवासी बताया जा रहा है। पुलिस ने इस घटनाक्रम का खुलासा करते हुए पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि चार अन्य आरोपी अभी फरार बताया जा रहे हैं।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..
UP Lok sabha election Result 2019 से जुड़ी ताज़ा तरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए Download करें patrika Hindi News App

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned