मुफ्त का चंदन पाने आए लोगों पर पुलिस ने लगाएं डंडे

(Bihar News ) लॉक डाउन (Lock down ) के इस दौर में जहां मजूदरी के लाले पड़ रहे हों, निजी-सरकारी क्षेत्र वेतन की कटौतियां करने में लगे हों वहीं यदि अचानक मांग के विपरीत दुगने नोट मिलने लगें तो सोचिए मन कितना गदगद होगा। दरअसल हुआ यूं कि एक एटीएम ( ATM revealed double ) में रुपए निकलवाने गए लोग उस समय हतप्रभ रह गए जब मशीन ने दुगने रुपए उगलने शुरु कर दिए।

By: Yogendra Yogi

Published: 20 May 2020, 06:01 PM IST

मुजफ्फरपुर(बिहार)प्रियरंजन भारती: (Bihar News ) लॉक डाउन (Lock down ) के इस दौर में जहां मजूदरी के लाले पड़ रहे हों, निजी-सरकारी क्षेत्र वेतन की कटौतियां करने में लगे हों वहीं यदि अचानक मांग के विपरीत दुगने नोट मिलने लगें तो सोचिए मन कितना गदगद होगा। ऐसी ही प्रसन्नता मिली वैशाली जिले के विदुपुर क्षेत्र के चाकसिकंदर क्षेत्र के बासिंदों को। दरअसल हुआ यूं कि इस क्षेत्र में लगे एक एटीएम ( ATM revealed double ) में रुपए निकलवाने गए लोग उस समय हतप्रभ रह गए जब मशीन ने दुगने रुपए उगलने शुरु कर दिए।

मुफ्त के माल के लिए मारामारी
मुफ्त का माल किसे अच्छा नहीं लगता, इसकी खबर आग की तरह फैल गई। दुगनी रकम लेने के चक्कर में लंबी लाइन लग गई। हालात यह हो गए के मुफ्त के इस बटवारे में कहीं अपना नहीं नम्बर नहीं आए, इसके लिए मारामारी मच गई। नोंकझोंक के साथ मारपीट के हालात बन गए। मामला ओर ज्यादा बिगड़ता, इससे पहले कंपनी के प्रतिनिधि को सूचना मिल गई। उसने पुलिस को सूचित किया। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर मुफ्त का चंदन लगाने के लिए उलझ रहे लोगों को लाठी टिका कर खदेड़ा।

इंडिया नंबर वन कंपनी के एटीएम में लगी लाइन

यह मजेदार दृश्य उत्पन्न हुआ बुधवार को इंडिया नंबर वन कंपनी के एटीएम पर। किसी एक एटीएम धारक ने रुपए निकाले तो जितने लिखे थे, उससे दुगने निकल आए, बस फिर तो इसकी भनक लगते ही हूजूम उमड़ पड़ा। कुछ लोगों ने डेढ़ दो घंटों के भीतर ही सैंकड़ों लोग लाइन में लगकर पैसे निकालने के लिए झगड़ा करने लगे। कंपनी के प्रतिनिधि को सूचना मिली तो उसने पुलिस को सूचित किया। मौके पर पहुंची पुलिस ने भीड़ को हटाकर एटीएम का शटर गिरा दिया। पुलिस ने बल प्रयोग कर लोगों को मौके से हटाया।

गड़बड़ी की जांच शुरू

इंडिया नंबर वन कंपनी के कैश लोडर बबलू कुमार ने बताया कि डेढ़ से दो घंटों के अंदर ही दो लाख से अधिक कैश निकाल लिए गए। कंपनी के इंजीनियर वेद प्रकाश ने बताया कि एटीएम को जांच के लिए मुंबई भेजा गया है। जांच के बाद ही पता चल पाएगा कि यह गड़बड़ी आखिर कैसे हुई।

कैश बॉक्स में गलती से होता है ऐसा

इंजीनियर वेदप्रकाश ने बताया कि एटीएम के कैश बॉक्स में गलती से नोट डालने से भी इस तरह की गलती हो जाती है। मसलन यदि पांच सौ के कैश बॉक्स में दो हजार के नोट अथवा सौ के नोटों के डॉक्टर्स में यदि पांच सौ के नोट रख दिए जाएं तब भी ऐसी गलतियां एटीएम में होने लगती है। फिलहाल मशीन की जांच रिपोर्ट का इंतजार है। लेकिन इस हैरतअंगेज वाकए की लॉकडाउन में गरमागरम चचा हर जगह खूब हो रही है। जिन लोगों को दुगनी रकम हाथ लगी है, उनसे वसूली हो पाएगी या नहीं, यह मुद्दा भी कंपनी के विचाराधीन है।

Show More
Yogendra Yogi Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned