script130 girls up to 12 years were victims of excesses in 6 months | 6 माह में 12 साल तक की 130 बालिकाएं हुई ज्यादती का शिकार | Patrika News

6 माह में 12 साल तक की 130 बालिकाएं हुई ज्यादती का शिकार


प्रदेशभर में बच्चियों की अस्मत खतरे में, विधि विज्ञान प्रयोगशाला के पास आए सैम्पल बता रहे हकीकत

-नागौर की चार बेटियां हुई शिकार, डीएनए सैम्पल रिपोर्ट मिलने की रफ्तार धीमी, नागौर के 305 मामले बकाया

नागौर

Published: June 05, 2022 10:00:31 pm


एक्सक्लूसिव

संदीप पाण्डेय

नागौर . पिछले छह माह के भीतर राज्य में बारह साल से कम उम्र की 130 बालिकाएं यौन शोषण का शिकार हुईं, इनमें चार मासूम नागौर जिले की हैं। आधा दर्जन की हत्या कर दी गई। विधि विज्ञान प्रयोगशाला (एफएसएल) जयपुर में डीएनए जांच के सैम्पल यह हकीकत बयान कर रहे हैं। दिसम्बर से जोधपुर में इस जांच की सुविधा के बाद भी नतीजा ढाक के तीन पात है। नागौर जिले में दर्ज पोक्सो के 109 व बलात्कार के 196 सैम्पल की रिपोर्ट आना बाकी हैं। इनमें दिसम्बर से पहले जयपुर भेजे गए सैम्पल भी शामिल हैं। यानी कई रिपोर्ट तो साल-डेढ़ साल बाद भी नहीं मिल पाई है।
यौन शोषण
नागौर जिले में दर्ज पोक्सो के 109 व बलात्कार के 196 सैम्पल की रिपोर्ट आना बाकी हैं।
सूत्रों के अनुसार प्रदेश में बढ़ रहे बलात्कार अथवा यौन शोषण के मामलों में कम उम्र की बच्चियां भी शिकार हो रही हैं। छह माह यानी करीब 180 दिन में बारह बरस से कम उम्र की 130 बालिकाएं हवस का शिकार हुईं। बदलते मानसिक विकार ने दो-तीन साल तक की बच्चियां नहीं छोड़ी गई। जयपुर, जोधपुर ही नहीं कई बड़े जिलों में ऐसी वारदातों की संख्या दर्जन भर तक की रहीं। करीब आधा दर्जन की हत्या कर दी गई। जबकि सात की तबीयत बिगडऩे से मौत हो गई। हाल ही मालाखेड़ा, बहरोड़ और डूंगरपुर में भी इसी तरह के वाकये सामने आए।
अपने ही ज्यादा

सूत्र बताते हैं कि इनमें अस्सी फीसदी में तो आरोपी हाथोंहाथ धरे गए। अधिकांश अपने ही नाते-रिश्तेदार अथवा पड़ोसी निकले। करीब तीन-चार माह पूर्व नागौर जिले में भतीजी के साथ दुष्कृत्य के बाद चाचा ने आत्महत्या कर ली। जबकि पादूकलां में मुंहबोले मामा ने सात साल की भांजी को हवस का शिकार बनाकर मौत के घाट उतार दिया। 37 मामलों में आरोपी पीडि़ता का रिश्तेदार अथवा परिवार का ही निकला। 21 वारदात पड़ोसी, परिवार के मित्र अथवा जानकार ने की। केवल दस फीसदी मामलों में ही आरोपी अनजान निकले।
305 मामलों की जांच बकाया

नागौर में हुई वारदात के बाद डीएनए सैम्पल की जांच जयपुर ही होती थी। गत दिसम्बर से जोधपुर में भी इसे शुरू किया गया। नागौर जिले के कुल 305 मामलों की रिपोर्ट बकाया चल रही है। इनमें पोक्सो के 109 व बलात्कार के 196 मामले हैं। दिसम्बर से यह सैम्पल जोधपुर लैब भेजे जा रहे हैं, जबकि पिछले साल के भी काफी मामले जयपुर में बकाया चल रहे हैं।
क्विक रेस्पांस टीम फिर भी...

सूत्र बताते हैं कि जयपुर की विधि विज्ञान प्रयोशाला कम उम्र की बच्चियों के साथ हुई ज्यादती की जांच के लिए बनाई गई है। बावजूद इसके मामलों के अम्बार के चलते रिपोर्ट जल्द देना संभव नहीं हो पा रहा। कोर्ट अथवा उच्च स्तर पर मिले आदेश या फिर वारदात की भयावहता को देखते हुए रिपोर्ट दो-तीन दिन में दे दी जाती है अन्यथा रफ्तार धीमी हो जाती है। जयपुर के साथ जोधपुर में भी सैम्पल रिपोर्ट मिलने की गति धीमी है।
वारदात नहीं बढ़ी, सैम्पल दोगुने हो गए...

सूत्र बताते हैं कि दिसम्बर से पहले जयपुर भेजने वाले सैम्पलों की संख्या हर माह 30-35 थी, जो अब सत्तर तक पहुंच गई है। ऐसा नहीं है कि बलात्कार/पोक्सो एक्ट के तहत मामलों में वृद्धि हुई है, लेकिन हकीकत कुछ और है। बताया जाता है कि जयपुर डीएनए जांच के लिए सैम्पल जाता था। ज्यादा दूरी, आलस, सैम्पल टूटने-फूटने का डर आदि था तो करीब चालीस-पचास फीसदी सामान्य माने जाने वाले मामलों में अन्य जांचें जोधपुर में ही करवाकर काम चलाया जाता था। अब जोधपुर में ही डीएनए की जांच शुरू हो गई है, जबसे भेजे जाने वाले सैम्पल दोगुने हो गए।
सुप्रीम कोर्ट के आदेश

पोक्सो मामले में सुप्रीम कोर्ट ने जल्द से जल्द एफएसएल की डीएनए रिपोर्ट देने के आदेश दे रखे हैं। इसकी वजह यह भी है कि रिपोर्ट में देरी से पीडि़ता को न्याय मिलने में विलम्ब होता है। आरोपियों को मिलने वाली सजा अटक जाती है।राज्य सरकार ने भी इसके लिए दबाव बना रखा है। शून्य से बारह साल की बालिकाओं के मामले में तो रिपोर्ट फिर भी जल्द मिल जाती है, लेकिन इससे अधिक उम्र के अधिकांश मामले धीमी गति से नतीजे तक पहुंचते हैं।
इनका कहना

कम उम्र की बालिकाएं शिकार हो रही है जो वाकई चिंताजनक है। पोक्सो/बलात्कार मामले में डीएनए सैम्पल की लम्बित रिपोर्ट जल्द से जल्द देने के लिए संबंधित को लिखा जा रहा है। अदालत में चल रहा मामला काफी कुछ इस रिपोर्ट पर निर्भर करता है।
-राममूर्ति जोशी, एसपी नागौर

....

पिछले छह माह में शून्य से बारह साल तक की राज्य की 130 बालिकाएं यौन शोषण का शिकार हुईं। इनमें चार तो नागौर जिले की हैं, इनके सैम्पल जल्द से जल्द देने की कोशिश रहती है। जोधपुर में डीएनए जांच के दिसम्बर से शुरू होने पर इसमें और तेजी आएगी। पहले नागौर से औसतन तीस-चालीस सैम्पल ही हर माह जयपुर आते थे, अब जोधपुर जाने वाले सैम्पल की संख्या 70 हो गई। संभवतया डीएनए जांच अब हर बलात्कार/यौन शोषण मामले में फोकस की जा रही है। शायद दूरी या अन्य कारणों से पहले कई मामलों की अन्य जांच जोधपुर ही करा ली जाती थी, केवल जरूरी मामलों में ही डीएनए सैम्पल जयपुर भेजे जाते थे।
-डॉ राजेश सिंह सहायक निदेशक विधि विज्ञान प्रयोग शाला जयपुर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद बोले तेजस्वी यादव- 'नीतीश जी का हमसे हाथ मिलाना BJP के मुंह पर तमाचे की तरह''स्मोक वार्निंग' के कारण मालदीव जा रही 'गो फर्स्ट' की फ्लाइट की हुई कोयंबटूर में इमरजेंसी लैंडिंगHimachal Pradesh News: रामपुर के रनपु गांव में लैंडस्लाइड से एक महिला की मौत, 4 घायलMaharashtra Politics: चंद्रशेखर बावनकुले बने महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष, आशीष शेलार को मिली मुंबई की कमानममता बनर्जी को बड़ा झटका, TMC के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पवन वर्मा ने पार्टी से दिया इस्तीफामाकपा विधायक ने दिया विवादित बयान, जम्मू-कश्मीर को बताया 'भारत अधिकृत जम्मू-कश्मीर'गुजरात चुनाव से पहले कांग्रेस का बड़ा ऐलान, सरकार बनी तो किसानों का तीन लाख तक का कर्ज होगा माफBJP का महागठबंधन पर बड़ा हमला, सांबित पात्रा बोले- नीतीश-तेजस्वी के साथ आते ही बिहार में जंगलराज शुरू
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.