सक्रिय हुआ प्रशासन, अतिक्रमण मुक्त दिखा सार्वजनिक चौक

सक्रिय हुआ प्रशासन, अतिक्रमण मुक्त दिखा सार्वजनिक चौक

Dharmendra gaur | Publish: Mar, 14 2018 05:53:29 PM (IST) Nagaur, Rajasthan, India

चौसला. लूणवां सार्वजनिक चौक व मुख्य बस स्टैण्ड पर अस्थायी थड़ी, हाथ थेले, निजी वाहन चालकों के कब्जे को लेकर तहसील प्रशासन सक्रिय हुआ और मुक्त कराया।

चौसला. लूणवां सार्वजनिक चौक व मुख्य बस स्टैण्ड पर अस्थायी थड़ी, हाथ थेले, सब्जी की पिकअप, निजी वाहन चालकों के कब्जे को लेकर राजस्थान पत्रिका ने कई बार खबर प्रकाशित की तब जाकर स्थानीय व तहसील प्रशासन सक्रिय हुआ और सालों से जमे अतिक्रमणकारियों से सार्वजनिक चौक व मुख्य बस स्टैण्ड को मुक्त कराया। उललेखनीय है कि लूणवां स्थित सार्वजनिक चौक, बस स्टैण्ड, अतिशय दिगम्बर जैन मंदिर , मोह माया, तेजाजी, भोलेनाथ, मस्जिद आदि धार्मिक स्थलों के सामने व जैन धर्मशाला, यात्री प्रतिक्षालय परिसर आदि जगहों पर राहगीरों व वाहन चालकों का निकलना मुश्किल हो जाता था, लेकिन इन धार्मिक स्थलों व सार्वजनिक चौक से अतिक्रमण हटाने के बाद बुधवार को चौक एक दम साफ मैदान सा लगने लगा। राजस्थान पत्रिका ने 9 मार्च के अंक में अतिक्रमियों की दबंगई, पंचायत प्रशासन लाचार शीषर्क से खबर प्रकाशित होने के बाद सक्रिय हुआ पंचायत प्रशासन ने लोगों को समझाइश कर आठ थडिय़ां को हटवा तथा अन्य 26 अतिक्रमकारी अपना कब्जा नहीं हटाने पर सोमवार व मंगलवार को सरपंच गोपालकृष्ण सोनी पूरे पंचायत प्रशासन के साथ नावां एसडीएम के पास पहुंचे। एसडीएम ने नायब तहसीलदार को अतिक्रमण हटाने लूणवां भेजा जहां पर तहसीलदार ने लोगों से अतिक्रमण हटवा दिया। कल्याणमल कलवानियां, जगदीश प्रसाद शर्मा, छोटूबाबा पूनिया आदि का कहना है कि राजस्थान पत्रिका के लगातार प्रयास से आखिरकार अतिक्रमण हट ही गया। पत्रिका समूह इसी प्रकार जनहित में कार्य करता रहेगा। पत्रिका लोगों का विश्वास बन चुका है।
इनका कहना है
हमारा प्रयास रहेगा की बस स्टैण्ड व सार्वजनिक चौक के अलावा कहीं पर अतिक्रमण ना हो पाये। गांव की सुंदरता ग्रामविसियों के सहयोग से ही संभव है।
गोपालकृष्ण सोनी सरपंच ग्राम पंचायत लूणवां


अवैध शराब के प्रकरण में तीन साल की हुई सजा
लाडनूं. न्यायिक मजिस्ट्रेट लाडनूं ने अवैध शराब के एक प्रकरण में आरोपित मुकेश को तीन साल के कठोर कारावास और दो हजार रुपए के जुर्माने से दण्डित किया है। प्रकरण अनुसार दिनांक तीन अगस्त 2003 को को अवैध शराब से भरे एक ट्रक को लक्ष्मी तारा सिनेमा के पास पकड़ा गया था। जोधपुर के चांदेलाव निवासी शंकर लाल और मुकेश को मौके पर गिरफ्तार किया गया। पुलिस थाना लाडनूं में प्रकरण दर्ज कर अनुसंधान किया गया। बाद अनुसंधान मुलजिम शंकर लाल और मुकेश के विरुद्ध 19/54 राजस्थान आबकारी अधिनियम का अपराध प्रमाणित पाया गया। आरोपितों के विरुद्ध न्यायालय में आरोप पत्र पेश किया गया। न्यायालय में सहायक अभियोजन अधिकारी आनन्द व्यास ने अभियोजन की और से पैरवी करते हुए गवाहों के बयान कराए। इस बीच शंकर लाल की मृत्यु हो गयी। अभियोजन की और से आनन्द व्यास ने बहस की। न्यायालय ने अभियोजन की और से पेश दलीलों और गवाहों से सहमत होते हुए आरोपित मुकेश को दोषी माना। उसे तीन साल के कठोर कारावास और दो हजार रुपए के जुर्माने से दण्डित किया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned