जिले में लगातार दूसरे दिन घटे कोरोना पॉजिटिव के एक्टिव केस, पर मौतें चिंता का कारण

नागौर जिले में शुक्रवार को कोरोना के 121 नए मरीज आए सामने, 3 की हुई मौत, 24 घंटे पूर्व की कोरोना सैंपलिंग की पेंडेंसी शून्य
- जेएलएन अस्पताल में तैनात किए छह सिविल डिफेंस सुरक्षाकर्मी

By: shyam choudhary

Published: 08 May 2021, 11:03 AM IST

नागौर. जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण से संक्रमित होने वालों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है, लेकिन राहत की बात यह है कि पिछले दो दिन जिले के कुल एक्टिव केस कम हो रहे हैं। 5 मई को जिले में एक्टिव केस की संख्या जहां 1622 थी, वहां 6 मई को घटकर 1614 हुई और 7 मई को 1567 रह गई। यानी काफी दिन बाद पिछले दो दिन में नए संक्रमितों से उपचार के बाद ठीक होने के बाद डिस्चार्ज होने वाले लोगों की संख्या अधिक रही। हालांकि मौतों का आंकड़ों तेजी से बढ़ रहा है, जो चिंता का बड़ा कारण है। चिकित्सा विभाग की रिपोर्ट के अनुसार शुक्रवार को जिेल में 3 कोरोना मरीजों की मौत हो गई, जबकि 121 नए संक्रमित मिले।

उधर, जिला मुख्यालय के जेएलएन अस्पताल में शुक्रवार को जिला कलक्टर डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी ने जिला स्तरीय अधिकारियों एवं चिकित्सा अधिकारियों की बैठक लेकर चिकित्सकीय व्यवस्थाओं की समीक्षा की। बैठक में कोरोना सैंपल पेंडेंसी, अस्पताल की सुरक्षा व्यवस्था, ऑक्सीजन सप्लाई, अतिरिक्त स्टाफ की नियुक्ति और उपलब्ध संसाधनों का बेहतर प्रबंध करने के कार्यों के क्रियान्वयन की प्रगति ली गई।

सीएमएचओ डॉ. मेहराम महिया ने बताया कि जिला कलक्टर के पूर्व आदेशानुसार जिले की 108 एम्बुलेंस के लिए 10 डी-टाइप ऑक्सीजन सिलेण्डर उपलब्ध करवा दिए गए हैं और मांग के आधार पर अतिरिक्त ऑक्सीजन सिलेण्डर की व्यवस्था भी कर दी जाएगी। डॉ. महिया ने बताया कि 108 एम्बुलेंस को मांग के आधार पर सिलेण्डर देने के लिए ड्रग कंट्रोलर के सान्निध्य में एक कमेटी गठित की गई है, जो एम्बुलेंस को मांग के अनुसार सिलेण्डर उपलब्ध करवाएगी। उन्होंने बताया कि 108 एम्बुलेंसकर्मियों के लिए विभाग द्वारा 200 मेडिसिन किट का भी वितरण किया गया।

जेएलएन में तैनात किए सिविल डिफेंस सुरक्षाकर्मी
बैठक के दौरान डीएसपी विनोद कुमार ने बताया कि अस्पताल में अतिरिक्त सुरक्षा व्यवस्था के लिए 6 सिविल डिफेंस सुरक्षाकर्मी की नियुक्ति की गई। बिना मास्क और कोविड नियमों का उल्लंघन करते पाए जाने पर गुरुवार को 6 लोगों के चालान काटकर जुर्माना वसूल किया गया।

24 घंटे पहले की एक भी जांच बाकी नहीं
कोविड लैब के नोडल ऑफिसर माइक्रो बायोलॉजिस्ट सुनिल भार्गव ने बताया कि जेएलएन अस्पताल स्थित कोरोना जांच लैब में 24 घंटे पूर्व की, अब कोई जांच बकाया नही है। कोरोना जांचों की पेंडेंसी का निपटारा करने के लिए जेएलएन स्थित लैब में कार्मिकों द्वारा दिन-रात काम करके पिछले एक दिन में 2445 कोरोना सैंपल की जांच की गई। जला कलक्टर ने कोविड लैब कार्मिकों द्वारा दी जा रही अच्छी सेवाओं और प्रयासों की प्रशंसा की।

एनोक्सीप्रिन इंजेक्शन जिला प्रशासन को भेंट
जेएलएन के मेल नर्स संतोष सोनी द्वारा अपनी माताजी की स्मृति में अस्पताल को मरीजों के उपचार के लिए 17 हजार राशि के एनोक्सीप्रिन इंजेक्शन जिला प्रशासन को भेंट किए। वहीं हरिराम व भंवरसिंह चौधरी की स्मृति में उनके पुत्र आइसोलश वार्ड के इंचार्ज विरेन्द्र चौधरी एवं उनके भाई कमल व अनिल ने अस्पताल में 7 व्हील चेयर दान दी है। इसके साथ दो नेबुलाइजर मशीन भी भेंट की।

shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned