नागौर के अस्पतालों में पर्याप्त रूप से उपलब्ध है बेड एवं ऑक्सीजन सिलेण्डर - कलक्टर

दिन में दो बार मिलेगी बेड उपलब्धता की ऑनलाइन सूचना

By: shyam choudhary

Updated: 21 Apr 2021, 09:42 AM IST

नागौर. जिला कलक्टर डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी ने कहा कि चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के निर्देशों की अनुपालना में संक्रमित हो रहे कोविड मरीजों के लिए जिला मुयालय एवं जिले के सभी राजकीय एवं निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन सिलेण्डर एवं बेड्स की कमी नहीं होने दी जाएगी। अस्पतालों में इसकी उपलब्धता के लिए प्रतिदिन दो बार ऑनलाइन सूचना जारी कर लोगों को सचेत किया जाएगा। इसके अलावा अस्पतालों में बेड्स की उपलब्धता के लिए जिला स्तरीय दल का गठन भी किया गया है।

कलक्टर सोनी ने कलक्ट्रेट सभागार में आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की बैठक में अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि राजकीय एवं निजी चिकित्सालयों में उपलब्ध रिक्त बेड्स की रियल टाइम सूचना प्रतिदिन दिन में दो बार अस्पताल के डिस्पले बोर्ड पर प्रदर्शित की जाएगी और ये सूचना ऑनलाइन सीएम हेल्पलाइन 181 एवं जिला स्तरीय वॉर रूम तथा वेबसाइट पर नियमित रूप से सुबह 10 बजे एवं शाम 5 बजे जारी होगी।

बेड व ऑक्सीजन की व्यवस्था को जिला स्तरीय दल गठित
कलक्टर ने कहा कि अस्पतालों में बेड्स की समूचित व्यवस्था के लिए जिला स्तरीय दल का गठन किया है, जिसमें जिला परिषद के मुय कार्यकारी अधिकारी जवाहर चौधरी (9829441699) अध्यक्ष होंगे एवं मुय चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (8290812736), नागौर जेएलएन अस्पताल के प्रमुख चिकित्सा अधिकारी (9414880075) तथा राज्य बीमा एवं प्रायधायी निधि विभाग के सहायक प्रशासनिक अधिकारी (9414463583) सदस्य होंगे। ये अधिकारी मरीजों को बेड्स और ऑक्सीजन की उपलब्धता पर नजर बनाए रखेंगे। अस्पतालों में भर्ती मरीजों के लिए ऑक्सीजन की बढ़ती मांग को ध्यान में रखते हुए समुचित रूप से आक्सीजन उपलब्ध कराने के लिए सहायक कलक्टर एवं कार्यपाल मजिस्ट्रेट (9414128681) की अध्यक्षता में जिला स्तरीय टीम का गठन किया गया है, जिसमें सहायक औषधि नियंत्रक (7727022576) एवं रीको के महाप्रबंधक (9829046813) को सदस्य बनाया गया है।

दूसरे जिलों के मरीजों को भी देंगे राहत
डॉ. सोनी ने कहा कि राजकीय एवं निजी चिकित्सालयों के बीच आपसी समन्वय स्थापित कर कोविड मरीजों के उपचार के लिए बेड्स की संया में आवश्यकता अनुसार बढ़ोतरी की जाएगी। इसके साथ ऐसे भवन जिनका उपयोग कोविड उपचार के लिए कोविड केयर सेंटर के रूप में उपयोग किया जा सकता है, उनका चिह्नीकरण कर कोविड सेंटर संचालन की आवश्यक कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि जिला स्तरीय गठित दल इस बात की समीक्षा भी करेगा कि जिले के डेडीकेटेड कोविड अस्पताल में नजदीकी जिलों से उपचार के लिए आने वाले मरीजों को भी आवश्यक बेड और सुविधाएं उपलब्ध कराएं। इनके लिए इस बात को नजरअंदाज करें कि वे मरीज रेफरेल या बिना रेफरेल के आ रहे हैं, ऐसी स्थिति में दल को आपसी समन्वय स्थापित कर कदम उठाने का प्रयास करना चाहिए। उन्होंने कहा कि जिला स्तरीय गठित दल कोविड मरीज एंव उसके परिजन द्वारा बेड्स की मांग की जाने पर मरीज की मेडिकल स्थिति के अनुरूप राजकीय एवं निजी चिकित्सालयों मेें उपलब्ध रिक्त कोविड बेड्स की स्थिति से अवगत कराया जाए और मरीज एवं उसके परिजन की सहमति पर ही बेड खाली होने की स्थिति में अस्पताल में भर्ती कराया जाना सुनिश्चित करें। यह दल जिले में बेड एवं एबुलेंस की उपलब्धता के संबंध में प्राप्त होने वाली सभी शिकायतों का संकलन कर 24 घंटे में उसका निराकरण करेगा।

shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned