सूचना बोर्ड पर चिपका दिए विज्ञापन, जिम्मेदार नींद में

सूचना दर्शाने को लगाए थे बोर्ड, अनदेखी में बन गए प्रचार बोर्ड, कोई अनजान व्यक्ति आए तो दिशासूचक बोर्ड के अभाव में भटकता रह जाएगा

By: Jitesh kumar Rawal

Published: 06 Dec 2020, 07:15 PM IST

नागौर. शहर में कोई अनजान व्यक्ति कहीं चला जाए तो उसे शायद ही कॉलोनी या अपनी इच्छित जगह मिल सके। इसके लिए किसी को पूछे बगैर उसे पता नहीं मिल सकेगा। इसलिए कि शहर में लगे सूचना सम्बंधी बोर्ड प्रचार सामग्री से अटे पड़े हैं। कहने को नगर परिषद ने सूचना पट्ट लगा रखे हैं, लेकिन इन पर लगे पोस्टर लोगोंा की मुश्किल बढ़ा रहे हैं। दिशासूचक चिह्न व काम की सूचना पोस्टर के पीछे छिप गई है। एक तरह से सूचना देने वाले ये बोर्ड प्रचार सामग्री के बोर्ड बन रहे हैं, लेकिन जिम्मेदारों की नींद नहीं उड़ रही।

नाकारा साबित हो रहे बोर्ड
शहर के मोहल्लों में कुछ तंग गलियां व विभिन्न इलाके होते हैं, जिनकी जानकारी के लिए कुछ खास स्थानों पर सूचना बोर्ड लगाए जाते हैं। लेकिन, नागौर शहर में लगे ये सूचना बोर्ड नाकारा साबित हो रहे हैं। प्रचार सामग्री से अटे बोर्ड इन दिनों लोगों के खास काम नहीं आ रहे। सफाई नहीं होने से कई बोर्ड पर एक के बाद एक कई पोस्टर चस्पा किए हुए हैं।

बेखौफ होकर चिपका रहे सामग्री
सार्वजनिक सम्पति विरूपण अधिनियम के तहत कार्रवाई का प्रावधान है, लेकिन जिम्मेदार मौन हैं। शहर की सार्वजनिक सम्पति नजरों के सामने बदरंग हो रही है, लेकिन कार्रवाई तो दूर सफाई करवाने की भी सुध नहीं ले रहे। ऐसे में प्रचार सामग्री लगाने वाले भी बेखौफ हो रहे हैं। रात ही रात में सभी सूचना बोर्ड एक साथ पोस्टर-बैनर से अट जाते हैं।

निर्देश दिए हैं...
शहर में सार्वजनिक सम्पति पर लगाए पोस्टर व बैनर को हटाने के लिए कार्मिकों को निर्देशित किया है। जल्द ही कार्रवाई की जाएगी।
- मनीषा चौधरी, आयुक्त, नगर परिषद, नागौर

Jitesh kumar Rawal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned