Nagaur patrika news. रात 12 बजे के बाद किराया हो जाता है चार से पांच गुना -

नागौर. जिम्मेदारों की आंखों के सामने ही ऑटो वाहन चालक रात्रि की मजबूरी का फायदा उठाकर आम को किराए की आड़ में चूना लगाने में लगे हुए हैं

By: Sharad Shukla

Published: 21 Nov 2020, 10:12 PM IST

नागौर. जिम्मेदारों की आंखों के सामने ही ऑटो वाहन चालक रात्रि की मजबूरी का फायदा उठाकर आम को किराए की आड़ में चूना लगाने में लगे हुए हैं। इस बात का खुलासा पत्रिका टीम के पड़ताल में सामने आया है, जी हां पत्रिका टीम रात को अलग-अलग इलाकों का जायजा लेने के लिए पहुंची तो यह आंखों के सामने आया। नागौर रेलवे स्टेशन की तो यहां पर रात को दो बजे के करीब जयपुर से नागौर सुपर फास्ट ट्रेन पहुंची थी। टीम यहां पर खड़े होकर ऑटो चालक से पूछा कि रेलवे स्टेशन से दिल्ली दरवाजा जाना है, कितना रुपया लगेगा...? इस पर टैक्सी चालक ने कहा कि 100 रुपए लगेंगे। वहीं पर खड़े दूसरे चालक से पूछा तो पहले वाले ऑटो चालक के इशारे को समझता हुआ दूसरे ऑटो चालक ने 150 रुपए बताए। जब टीम उनसे कहा कि आपकी जो यात्री सूची है वह कहां पर है तो इस पर वह कोई जवाब नहीं दे पाया। इसके बाद केन्द्रीय बस स्टैंड पर पहुंचे। इस दौरान समय करीब करीब पौने तीन बजे हो रहा था। यहां पर सन्नाटा छाया हुआ था। लाइन से खड़े ऑटो वाहनों में से ज्यादातर में चालक ही नहीं थे, लेकिन सबसे आगे वाली लाइन में खड़े ऑटो वाहन में चालक मौजूद था। उससे पूछा गया कि पुराना अस्पताल तक का कितना लोगे। उसने कहा कि आप तो डेढ़ सौ रुपए दे देना। जब उससे कहा गया कि ज्यादा किराया तो जवाब मिला कि जो कम में ले जा रहा हो उसके साथ चले जाओ। इसके बाद विजयबल्लभ चौराहे पर आए तो यहां पर एक ऑटो वाले से पुराना अस्पताल तक जाने के लिए किराया पूछा, अभी वह जवाब नहीं दे पाता इसके पहले ही बस स्टैंड वाला ऑटो चालक आया और वहीं खड़ा हो गया। इसके बाद ऑटो चालक ने कहा कि वहां तक जाने के लिए आपको 200 देने पड़ेंगे। उससे कहा गया कि कितनी दूर है है जो इतना किराया मांग रहे हो। इस पर जवाब मिला कि नहीं, बिलकुल पास है, आप तो पैदल ही चले जाओ आपका पैसा बच जाएगा। इसके बाद मानासर चौराहा पहुंचे, तब तक सुबह के सवा चार बज गए थे। यहां पर बमुश्किल दो ऑटो वाहन खड़े मिले। इनमें से एक से पूछा गया कि नकासगेट तक कितना किराया लगेगा, जवाब मिला सौ रुपए। ज्यादा किराए की बात पर यहां भी पैदल जाने की नसीहत दे दी गई। इस दौरान सोचा कि मौके पर ट्रेफिक कर्मी से मनमर्जी की शिकायत की जाए तो वहां पर कोई नजर ही नहीं आया। हरकत में आई ट्रेफिक पुलिसराजस्थान पत्रिका में इस मुद्दे पर प्रमुखता से खबर प्रकाशित होने के बाद ट्रेफिक पुलिस की ओर से एहतियातन गश्त बढ़ा दी गई है। इसके साथ ही ऑटो रिक्शा यूनियन अध्यक्ष से टे्रफिक पुलिस की ओर से बातचीत की गई। उनको पुलिस की ओर से स्पष्ट तौर पर नसीहत दी गई कि किराया सूची सार्वजनिक केन्द्रों पर लगनी चाहिए। अन्यथा ऐसे प्रकरणों पर विधिक कार्रवाई की जाएगी।इस नंबर पर की जा सकती है शिकायतबस स्टैंड या रेलवे स्टेशन पर रात्रि में ऑटो चालक निर्धारित दर से ज्यादा किराए की वसूली करता है तो वह इस 9530413601 नंबर पर फोन कर सकता है। इस पर तत्काल पुलिस दल सहायता के लिए पहुंच जाएगा। इसके अलावा रात्रि में आठ बजे से पहले ज्यादा किराए मांगने की शिकायत इस नंबर पर शिकायत की जा सकती है । इस नंबर पर 9530413633 कॉल करने पर तत्काल पुलिस दल शिकायत करने पर पहुंच जाएगा।इनका कहना है...कोई ऑटो चालक किसी भी यात्री से रात में हो या दिन में तय दर से ज्यादा किराए की वसूली करेगा तो फिर उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इस संबंध में ऑटोरिक्सा चालक यूनियन के अध्यक्ष से बातचीत की गई है। इस पर सकारात्मक परिणाम मिलेगा। इनके निर्धारित किराए की दर जल्द ही रेलवे स्टेशन व बस स्टैंड आदि पर लगाई जाएगी।शिवदेवराम, ट्रेफिक इंचार्ज नागौर

Sharad Shukla Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned