scriptAfter 21 years, leaving the shadow of Khejdi, Naunihal will study in t | 21 साल बाद खेजड़ी की छाया छोड़ विद्यालय भवन में बैठकर पढ़ेंगे नौनिहाल | Patrika News

21 साल बाद खेजड़ी की छाया छोड़ विद्यालय भवन में बैठकर पढ़ेंगे नौनिहाल

-राजस्थान पत्रिका व प्रशासन के साझा प्रयास लाए रंग

- जमीन आवंटन को लेकर थी परेशानी- तत्कालीन संभागीय आयुक्त ने आदेश जारी कर आवंटित करवाई जमीन

- खजवाना पीईईओ ने शिक्षा विभाग को पत्र लिखकर करवाया भवन निर्माण के लिए बजट जारी

- नौनिहालों के चेहरे पर छाई खुशी

नागौर

Published: June 19, 2022 06:20:58 pm

राजवीर रोज

खजवाना (नागौर). इक्कीसवीं सदी में भी कोई विद्यालय 21 वर्ष से एक खेजड़ी के पेड़ के नीचे संचालित हो रहा हो और करीब 30 बच्चे नियमित पढ़ाई कर रहे हो, सुनने में जरूर अजीब लगेगा, लेकिन यह हकीकत है मूंडवा ब्लॉक के खजवाना कस्बे की।
21 साल बाद खेजड़ी की छाया छोड़ विद्यालय भवन में बैठकर पढ़ेंगे नौनिहाल
विद्यालय भवन
कस्बे के नायकों की ढाणी स्थित राजकीय प्राथमिक विद्यालय पिछले दो दशक से एक खेजड़ी के पेड़ के नीचे संचालित हो रहा था। राजस्थान पत्रिका ने कई बार इस मुद्दे को प्रकाशित सिलसिलेवार प्रकाशित कर प्रशासन का ध्यान इस ओर आकृष्ट किया , लेकिन जमीन आवंटन को लेकर आ रही अड़चन के चलते समस्या समस्या का निवारण नहीं हो पाया।इस दौरान खजवाना पीईईओ रहे भंवरलाल कासनियां ने पत्रिका के साथ मिलकर शिक्षा विभाग और राजस्व विभाग को पत्र लिखकर भवन निर्माण को लेकर आ रही परेशानी से अवगत करवाया।
पत्र मिलने पर तत्कालीन संभागीय आयुक्त डा आरूषि मलिक ने तुरंत एक्शन लेते हुए न केवल विद्यालय के लिए जमीन आवंटित करने के आदेश पारित किए, बल्कि खजवाना का दौरा कर स्थिति भी देखी। जमीन आवंटन के बाद शिक्षा विभाग ने भी भवन निर्माण के लिए फंड जारी कर दिया और आज यह विद्यालय भवन बनकर तैयार है ।नए सत्र से नौनिहाल इस भवन में बैठेंगे
गौरतलब है कि कस्बे के गौशाला रोड पर नायकों की बस्ती है साथ ही आस पास में बसे किसानों के बच्चे प्राथमिक शिक्षा के लिए इसी विद्यालय पर निर्भर है । पिछले शिक्षा सत्र में यहां 29 विद्यार्थियों का नामांकन था, जिनमें से 18 छात्राएं थी और 11 छात्रएं। जब विद्यालय भवन के अभाव में इतने नामांकन थे तो विद्यालय भवन बनने के बाद नामांकन बढ़ने के आसार है ।
एक बैग में पूरा विद्यालय, मौसम की मार के होते शिकार

विद्यालय में कार्यरत अध्यापक चेनाराम व वहीदा रहमान ने बताया कि विद्यालय भवन नहीं होने के कारण विद्यालय से संबंधित समस्त दस्तावेज एक बैग में रखने को मजबूर थे। गर्मी, सर्दी और बरसात में न चाहते हुए भी विद्यालय बंद रखना पड़ता था । भवन बनने से विद्यालय दस्तावेज सुरिक्षत तो रहेंगे ही साथ ही मौसम की मार भी नहीं झेलनी पड़ेगी ।
स्थित देखकर दंग रह गयाजब खजवाना पीईईओ का पद ग्रहण किया तो इस बारे में जानकारी मिली। मौके पर जाकर देखा तो हालत देख दंग रह गया । करीब 25 बच्चे खेजड़ी के पेड़ के नीचे चटाई पर बैठकर पढ़ाई कर रहे थे । तुरंत शिक्षा विभाग और राजस्व विभाग को पत्र लिखकर भवन निर्माण कराने का आग्रह किया । दोनों विभागों ने इस मामले पर संज्ञान लेते हुए भवन निर्माण की स्वीकृति प्रदान कर दी। इसे मेरे कार्यकाल की उपलब्धि के रूप में देखता हूं ।
भंवरलाल कासनियां (फोटो)तत्कालीन पीईईओ, खजवाना

सोचा नहीं था ऐसा भी कोई विद्यालय होगा

पत्र मिलने पर पता चला खजवाना में ऐसा विद्यालय भी संचालित हो रहा है जो पेड़ के नीचे चलता है। जमीन आवंटन की समस्या को लेकर राजस्व विभाग के अधिनस्थ अधिकारियों को मौका मुआयना कर तुरंत जमीन आवंटन के निर्देश दिए । खुशी है कि अब बच्चे विद्यालय भवन में बैठकर पढ़ाई करेंगे।डॉ आरूषि मलिक (फोटो)
तत्कालीन संभागीय आयुक्त

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान में 26 से फिर होगी झमाझम बारिश, यहां बरसेगी मेहरबुध ने रोहिणी नक्षत्र में किया प्रवेश, 4 राशि वालों के लिए धन और उन्नति मिलने के बने योगबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयपनीर, चिकन और मटन से भी महंगी बिक रही प्रोटीन से भरपूर ये सब्जी, बढ़ाती है इम्यूनिटीबेहद शार्प माइंड के होते हैं इन राशियों के बच्चे, सीखने की होती है अद्भुत क्षमतानोएडा में पूर्व IPS के घर इनकम टैक्स की छापेमारी, बेसमेंट में मिले 600 लॉकर से इतनी रकम बरामदझगड़ते हुए नहर पर पहुंचा परिवार, पहले पिता और उसके बाद बेटा नहर में कूदा3 हजार करोड़ रुपए से जबलपुर बनेगा महानगर, ये हो रही तैयारी

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: उद्धव ठाकरे ने शिंदे खेमे को फटकारा, बोले- मेरे गर्दन और सिर में दर्द था, मैं अपनी आंखें नहीं खोल पा रहा था...Maharashtra Politics: बीजेपी नेता ने राज्यपाल को लिखा पत्र, कहा- उद्धव सरकार 2 दिन से अंधाधुंध ले रही फैसले, डिप्टी CM ने दिया जवाबMaharashtra Political Crisis: नासिक में एकनाथ शिंदे का भारी विरोध, शिवसैनिकों ने पोस्टर पर कालिख पोती, शिंदे ने टाला मुंबई आने का प्लान2-3 जुलाई को हैदराबाद में BJP की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक, पास वालों को ही मिलेगी इंट्री, सुरक्षा के कड़े इंतजामनीति आयोग के नए CEO होंगे परमेश्वरन अय्यर, 30 जून को अमिताभ कांत का खत्म हो रहा है कार्यकालG7 Summit 2022: पीएम मोदी कल जी7 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने जर्मनी जाएंगे, जानिए किन मुद्दों पर होगी चर्चाMumbai News Live Updates: शिवसैनिक कर सकते है हंगामा! मुंबई समेत राज्यभर के सभी पुलिस स्टेशन हाई अलर्ट परPresidential Election: NDA प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू ने सोनिया गांधी, ममता बनर्जी व शरद पवार से की बात, सपा का यशवंत सिन्हा को सर्मथन का ऐलान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.