scriptAgreements for investment of 2346 crores made in Nagaur's summit | इनवेस्ट समिट में आए उद्यमी ने कहा - नागौर में घास से बनाएंगे ईंधन, 500 करोड़ का एमओयू | Patrika News

इनवेस्ट समिट में आए उद्यमी ने कहा - नागौर में घास से बनाएंगे ईंधन, 500 करोड़ का एमओयू

इनवेस्ट समिट नागौर-2021- राज्य की उद्योग मंत्री शकुन्तला रावत व राजस्थान फाउण्डेशन के आयुक्त धीरज श्रीवास्तव का ऑनलाइन संबोधन
- विभिन्न तरह के उद्योग धंधों में 18 हजार लोगों को मिलेंगे रोजगार के अवसर

नागौर

Published: December 29, 2021 10:05:29 pm

नागौर. नागौर के औद्योगिक विकास को नई ऊंचाइयों पर ले जाने और संसाधनों की उपलब्धता के आधार पर यहां के औद्योगिक क्षेत्रों की दशा-दिशा बदलने के लिए नागौर सहित बाहर से बड़ी संख्या में आए उद्यमियों ने नए व्यवसाय करने की हामी भरी। बुधवार को आयोजित इनवेस्ट समिट नागौर-2021 नागौर के औद्योगिक विकास की नई कहानी लिखने की दृष्टि से मंगलमय रही। इनवेस्ट नागौर में करोड़ों रुपए की लागत से औद्योगिक निवेश के एमओयू और एलओआई किए गए और इस योजना को मूर्त रूप दिए जाने पर आगामी दिनों में यहां के हजारों युवाओं को रोजगार के लिए अब बाहर नहीं जाना पड़ेगा।
समिट के दौरान राज्य सरकार की उद्योगों से जुड़ी जानकारी एवं सरकार द्वारा किए जा रहे सहयोग से उद्यमियों ने उत्साह दिखाया एवं कार्यक्रम के दौरान ही 2346 करोड़ रुपए से ज्यादा के एमओयू हस्ताक्षर किए गए। जिले में लगभग 437 औद्योगिक इकाइयों एवं निवेशकों द्वारा सोलर, रियल एस्टेट, मिनरल, केमिकल, एग्रो प्रोसेसिंग, बायो फ्यूल, होटल, चर्म, लवण, जैम्स एवं ज्वलैरी सहित विभिन्न क्षेत्रों में 2346 करोड़ से भी ज्यादा के निवेश करने का समझौता हुआ, जिससे करीब 18 हजार लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे।
Agreements for investment of 2346 crores made in Nagaur's summit
Agreements for investment of 2346 crores made in Nagaur's summit
सीमेंट उत्पादन का सबसे बड़ा जिला होगा नागौर
समिट के दौरान जेके लक्ष्मी सीमेंट के राकेश गुप्ता ने सीमेन्ट उद्योग के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि गोगेलाव रीको में बड़ा प्लांट लगाएंगे। उन्होंने बताया कि नागौर का लाइम स्टोन प्रदेश ही नहीं देशभर में अपनी विशेश पहचान रखता है। यहां लिग्नाइट व जिप्सम के भी अच्छे भंडार हैं, ऐसे में उनकी कम्पनी मानती है कि आने वाले वर्षों में नागौर सीमेंट उत्पादन में प्रदेश का सबसे बड़ा जिला होगा। उन्होंने खनन के बाद खानों का उपयोग बरसाती जल संचय करने, सिंचाई के लिए उपयोग लेने व मछली पालन आदि के लिए उपयोगी बताया।
हम लाएंगे ईंधन की क्रांति
एमसीएल क्लीम लिमिटेड के कमलेश सैन ने बॉयो फ्यूल क्षेत्र में किए गए औद्योगिक निवेश और इससे बढ़ते हुए रोजगार की संभावनाओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि जिस प्रकार भारत में श्वेत क्रांति और हरित क्रांति में किसानों का योगदान रहा, उसी प्रकार उनकी कम्पनी किसानों के सहयोग से ईंधन की क्रांति लाने का काम कर रही है। इसका काम उन्होंने लाडनूं तहसील में शुरू कर दिया है और आने वाले दिनों में प्रत्येक तहसील के 10 हजार किसानों को जोडकऱ किया जाएगा। सैन ने जिले में 500 करोड़ के निवेश का एमओयू भी किया। निमोद की ग्राम सहकारी सेवा समिति के सुबोध आर्य ने नागौर में सहकारिता क्षेत्र से जुड़े उद्योगों में मिली सफलता पर प्रकाश डाला। हैण्डटूल एसोसिएशन के प्रतिनिधि सराफत अली ने भी नागौर में औजार उद्योग क्षेत्र के इतिहास और इसके विकास से जुड़ी संभावनाओं पर प्रकाश डाला।
उद्यमियों ने खींचा नागौर के नए औद्योगिक विकास का खाका
समिट में सोलर एनर्जी, सीमेन्ट, लाइम स्टोन, रियल एस्टेट, हाउसिंग, हैण्ड टूल्स, एग्रो प्रोसेसिंग, बॉयो फ्यूल, ज्वैलरी, प्रिटिंग, वुडन कलस्टर, कोल्ड स्टोरेज व नमक उद्योग से जुड़े नए उद्योग धंधों को लेकर नागौर की धरा पर बुधवार को राज्य भर से आए उद्यमियों ने विचार मंथन किया और इसे लेकर एमओयू और एलओआई पर हस्ताक्षर किए। इनवेस्ट समिट में राज्य की उद्योग मंत्री शकुन्तला रावत ने वीसी के माध्यम से समिट में आए उद्यमियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का विजन राजस्थान के प्रत्येक क्षेत्र का विकास करना एवं नए आयाम स्थापित करना है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री गहलोत की मंशा अनुरूप राजस्थान देश का प्रथम राज्य बना, जहां उद्योगों को बढ़ावा देने, निवेश का बेहतर वातावरण बनाने व रोजगार उपलब्ध कराने के उद्देश्य से इन्वेस्टर समिट कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं । राजस्थान फाउण्डेशन के आयुक्त धीरज श्रीवास्तव ने इनवेस्ट समिट नागौर-2021 में शामिल उद्यमियों को वर्चुअली संबोधित किया। इससे पूर्व अतिरिक्त जिला कलक्टर मोहनलाल खटनावलिया ने कहा कि जिला प्रशासन, नागौर औद्योगिक निवेश के लिए एमओयू और एलओआई करने वाले सभी उद्यमियों के हर सकारात्मक कदम में साथ हैं और हम सब मिलकर नागौर को औद्योगिक दृष्टि से सिरमोर जिला बनाने का प्रयास करेंगे।
नागौर अब वो नागौर नहीं रहा, अब विकास ही विकास
पूर्व मंत्री हबीबुर्रहमान अशरफी लाम्बा ने कहा कि नागौर अब वो नागौर नहीं रहा। इंदिरा गांधी नहर का मीठा पानी, निर्बाध बिजली, उच्च गुणवत्ता के हाइवे व स्टेट हाइवे की सडक़ें, तेज रफ्तार वाली रेलगाडिय़ां व पूरे देश को जोडऩे वाले रेलमार्गों पर मालवाहक गाडिय़ों का परिवहन और यहां अकूत खनिज सम्पदा तथा उनके दोहन की उच्चतम तकनीक, अब सब कुछ है यहां, जो नए औद्योगिक विकास के लिए चाहिए। जिला प्रमुख भागीरथराम चौधरी ने कहा कि इनवेस्ट समिट नागौर में जो भी उद्यमी देश व प्रदेश के विभिन्न अंचलों से आए हैं, उन्हें नागौर के औद्योगिक विकास में योगदान के लिए साधुवाद।
उद्योग विभाग के अतिरिक्त निदेशक एस.एस. शाह ने समिट में स्लाइड प्रजेंटेशन के जरिए राजस्थान के औद्योगिक विकास, यहां हो रहे औद्योगिक निवेश और उद्यमियों को प्रोत्साहन के लिए संचालित की जा रही योजनाओं और यहां पर हो रहे औद्योगिक विकास तथा यहां विकसित की गई ढांचागत सुविधाओं का विवरण प्रस्तुत किया।
रीको की भूमि अवाप्ति अधिकारी एकता काबरा ने कहा कि राजस्थान को औद्योगिक विकास की दृष्टि से देश में उच्च स्थान पर ले जाने की राज्य के मुख्यमंत्री की भावना के अनुरूप उपखण्ड स्तर पर भी रीको औद्योगिक क्षेत्र विकसित किए गए हैं।
औजार नगरी में उद्यमियों से निवेश का आह्वान
जिला उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक बजरंग सांगवा ने स्वागत भाषण देते हुए कार्यक्रम की रूपेरखा प्रस्तुत की। रीको के क्षेत्रीय प्रबंधक आरके गुप्ता ने नागौर जिले में विकसित किए गए रीको औद्योगिक क्षेत्रों और वहां भूखण्ड आवंटन तथा विकसित की गई आवश्यक सुविधाओं के बारे में जानकारी देते हुए नागौर की धरा पर निवेश करने का आह्वान किया। इस मौके पर नागौर में औद्योगिक निवेश करने वाले उद्यमियों को हैण्डटूल्स के किट देकर सम्मानित किया और उन्हें एमओयू और एलओआई की प्रतिलिपि फाइल भी अतिथियों द्वारा भेंट की गई। कार्यक्रम का संयोजन मो. शरीफ छींपा ने किया। कार्यक्रम में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हीरालाल मीणा, डीडवाना एडीएम रिछपालसिंह बुरडक़, केन्द्रीय मसाला बोर्ड के सदस्य भोजराज सारस्वत व न्यू रीको आईआईडी विकास समिति के कार्यकारी अध्यक्ष हीरालाल भाटी सहित नागौर जिले की विभिन्न व्यापारिक एसोसिएशन के प्रतिनिधि एवं जिला स्तरीय अधिकारी भी मौजूद रहे।
डोक्यूमेंट्री देखी, उद्यमियों ने बताएं अनुभव और योजनाएं
इनवेस्ट समिट के दौरान उद्योग विभाग की ओर से राज्य एवं जिला स्तर की अलग-अलग डोक्यूमेंट्री फिल्म भी प्रदर्शित की गई। इस डोक्यूमेंट्री फिल्म के जरिए राज्य सरकार की उद्योग नीति और औद्योगिक विकास को लेकर दिए जा रहे प्रोत्साहन के बारे में जानने के साथ-साथ नागौर सहित जिले के बाहर से आए उद्यमियों ने अपने अनुभव भी साझा किए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

सपा ने जारी किया 10 सूत्रीय संकल्प पत्र, सत्ता में आए तो किसानों को ब्याज कर्ज मुक्त, दोबारा शुरू होगी समाजवादी पेंशन योजनायूपी के इतिहास में पहली बार एक ही दिन विधानसभा और MLC के लिए डाले जाएंगे वोट, 36 सीटों पर एमएलसी चुनाव का जानें अपडेटCorona cases in india: पिछले 24 घंटे में कोरोना के 2.35 लाख केस, 871 की मौत, संक्रमण दर हुई 13.39%दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू खत्म, आज से नई गाइडलाइंस के साथ मेट्रो सेवाएं शुरूरीट पेपर लीक मामलाः डीपी जारोली पर गिरी गाज, माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से किया बर्खास्तकेंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का सहारनपुर-मुजफ्फरनगर में जनसंपर्क आज, टटोलेंगे वेस्ट यूपी की नब्जUP Assembly Election 2022 : "मैं और जयंत किसान के बेटे,चुनाव भाजपा के लिए राजनैतिक पलायन सिद्ध होगा''नहीं बदला जाएगा नौकरशाही का मुखिया, एक्सटेंशन के लिए फाइल सरकार ने केंद्र को भेजी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.