scriptAkbar never won and Maharana never lost | अकबर जीता नहीं और महाराणा कभी हारे नहीं | Patrika News

अकबर जीता नहीं और महाराणा कभी हारे नहीं

डाबड़ा गांव में धूमधाम से मनाई वीर महाराणा प्रताप की जयंती

- वक्ताओं ने कहा , महाराणा प्रताप न होते तो हिन्दुस्तान भी न होता

नागौर

Published: May 09, 2022 05:49:19 pm

मौलासर (नागौर).ग्राम डाबड़ा में सोमवार को महाराणा प्रताप की 482वीं जयंती धूमधाम से मनाई गई। इस दौरान वक्ताओं ने महाराणा प्रताप की जीवनी पर प्रकाश डाला और उनके आदर्शों का अनुसरण करने का आह्वान किया। इस मौके पर महाराणा प्रताप के वफादार घोड़े चेतक व हाथी रामप्रसाद के बारे में भी विस्तार से बताया गया। वक्ताओं ने उनकी वीरता का बखान करते हुए कहा कि इतिहास कभी मिटता नहीं, ना ही बातों से बनता है, इतिहास में अमर होने के लिए महाराणा प्रताप बनना पड़ता है।
अकबर जीता नहीं और महाराणा कभी हारे नहीं
मौलासर. महाराणा प्रताप जयंती अवसर पर पांडाल में मौजूूद लोग
कार्यक्रम का शुभारंभ महाराणा प्रताप की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्जवन एवं पुष्प अर्पित कर किया गया। इस अवसर पर भाजपा नेता जितेंद्रसिंह जोधा, श्याम प्रतापसिंह रूवां, भाजपा नेत्री चद्रप्रभा डाबड़ा, सरपंच ममता कंवर राठौड़, नारायणसिंह बनवासा, सुरेंद्रसिंह थेबड़ी, गोविंदसिंह बेड़वा, लीलाधर शर्मा, अजीतसिंह पावटा, धर्मपालसिंह बरड़वा आदि अतिथि मंचस्थ थे।
आयोजक एवं ग्रामीणों की ओर से अतिथियों का राजस्थानी परंपरा अनुसार साफा बंधनकर स्वागत किया गया। इस अवसर पर जितेंद्रसिंह जोधा ने कहा कि यदि वीर महाराणा प्रताप न होते तो हिन्दुस्तान भी न होता, उन्होंने कभी भी मुगलों के सामने घुटने नहीं टेके। उल्टा अकबर की सेना उनके सामने युद्ध करने से कतराती थी। उनकी वीरता ने ही उन्हें वीर शिरोमणि बनाया।
सरपंच ममता कंवर ने कहा कि इतिहासकारों की ओर से हमारे गौरवमयी इतिहास को तोड़ मरोड़कर लिखा गया है। अकबर कभी भी महाराणा प्रताप से जीत नहीं पाया। न तो अकबर जीता और नहीं महाराणा कभी हारे, लेकिन दुर्भाग्यवश हमें गलत पढ़ाया जाता रहा है। कार्यक्रम को चन्द्रप्रभा डाबड़ा, सुरेंद्रसिंह थेबड़ी, नन्दूसिंह राठौड़ आदि वक्ताओं ने भी सम्बोधित किया।
संघर्ष के पर्याय थे महाराणा
भाजपा नेता श्यामप्रतापसिंह ने कहा कि यदि हम किसी के संघर्ष की बात करें तो संघर्ष का पर्याय कोई है तो वे प्रताप थे। उन्होंने कैसे भी हालात में कभी भी समझौता नहीं किया और न ही कभी किसी के समक्ष झुके। वे महलों को छोड़कर परिवार सहित जंगलों में रहे पर अकबर के सामने कभी झुके नहीं और नई उर्जा के साथ एक संगठित सेना का निर्माण किया।
यह रहे मौजूद
कार्यक्रम में राजेंद्रसिंह थेबड़ी, प्रदीपसिंह बेरी, लादूसिंह डाबड़ा, श्रवणसिंह डाबड़ा, नरेंद्रसिंह कणवाई, प्रवीण पुरोहित, मदनसिंह डाबड़ा, धनराज पारीक, मनीष ओझा, भवानीसिंह, कुलदीप सिंह नुवां, जोगेंद्रसिंह राजपुरा, पूजाकंवर रसीदपुरा, बहादुरसिंह, शैतानसिंह, मनोहरसिंह आदि उपस्थित रहे।
फोटो कैप्शन एमए सीए: मौलासर. डाबड़ा में महाराणा प्रताप की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर जयंती कार्यक्रम का शुभारंभ करते अतिथि

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Nashik News: कंबल में लेटाकर प्रेग्‍नेंट महिला को पहुंचाया गया हॉस्पिटल, दिल दहला देने वाला वीडियो हुआ वायरलसलमान रुश्दी पर हमला करने वाले की ईरान ने की तारीफ, कहा - 'हमला करने वाले को एक हजार बार सलाम'58% संक्रामक रोग जलवायु परिवर्तन से हुए बदतर: प्रोफेसर मोरा ने बताया, जलवायु परिवर्तन से है उनके घुटने के दर्द का संबंध14 अगस्त स्मृति दिवस: वो तारीख जब छलनी हुआ भारत मां का सीना, देश के हुए थे दो टुकड़ेआरएसएस नेता इंद्रेश कुमार का बड़ा बयान, बापू की छोटी सी भूल ने भारत के टुकड़े करा दिएHimachal Pradesh: जबरदस्ती धर्म परिवर्तन करवाने पर होगी 10 साल की जेल, लगेगा भारी जुर्मानाDGCA ने एयरपोर्ट पर पक्षियों के हमले को रोकने के लिए जारी किया दिशा-निर्देश'हर घर तिरंगा' अभियान में शामिल हुई PM नरेंद्र मोदी की मां हीराबेन, बच्‍चों के संग फहराया राष्‍ट्रीय ध्‍वज
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.