गुरुद्वारे में की अरदास, किया शबद कीर्तन

गुरु नानक देव की जयंती पर सोमवार को सिख समुदाय की ओर से प्रकाश पर्व मनाया

By: Jitesh kumar Rawal

Updated: 30 Nov 2020, 08:46 PM IST

नागौर. गुरु नानक देव की जयंती पर सोमवार को सिख समुदाय की ओर से प्रकाश पर्व मनाया गया। इस दौरान विभिन्न कार्यक्रम हुए।
शहर में प्रभात फेरी निकाली गई। इसमें कई श्रद्धालुओं ने शिरकत की। सुगनसिंह सर्किल के समीप गुरुद्वारे में गुरुवाणी व शबद कीर्तन के कार्यक्रम हुए। इस दौरान लंगर का अयोजन किया गया, जिसमें श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण किया।


प्रकाश पर्व मनाया, गुरुवाणी का पाठ किया
नागौर. गौ चिकित्सालय में कार्तिक पूर्णिमा पर गुरु नानक देव का 551 वां जन्मोत्सव मनाया गया। स्वामी कुशालगिरी महाराज, कथा वाचिका देवी ममता, संत इन्द्रजीतसिंह, संत गोविन्दराम महाराज का सान्निध्य रहा।
व्यवस्थापक श्रवणराम बिश्नोई ने बताया कि गुरु नानक देव की तस्वीर पर पुष्पमाला पहनाई गई। गुरु सरणसिंह ने अरदास कर गुरुवाणी का पाठ किया। स्वामी ने कहा कि गुरु नानक ने अपना पूरा जीवन मानवता की सेवा में लगा दिया था। समाज व धर्म सुधारक के रूप में कई कार्य किए। समाज में फैली बुराइयों को दूर करने में महत्ती भूमिका निभाई। इस अवसर पर लुधियाना के गुरुशरणसिंह ने लंगर लगाया, भक्तों ने प्रसाद ग्रहण किया। पंजाब से गुरुमितसिंह, गुरु हिन्दूसिंह, बतवीरसिंह, गुरुमिलसिंह, जगदीशसिंह, बूटासिंह, मनप्रीतसिंह, मनदिल सिंह, उम्मेदसिंह सोनी, सुभाष सोनी, शान्ति देवी, राहुल डूडी, हरलाल बिश्नोई, देवेन्द्र राणा आदि उपस्थित थे।

प्रकाश पर्व सभी समाज के लोगों को भेदभाव छोड़ कर मनाना चाहिए
नागौर. राठौड़ी कुआं स्थिति त्यागीजी की बगीची में गुरु नानक जयंती धूमधाम के साथ मनाई गई। रामद्वारा महंत जानकीदास महाराज का सान्निध्य रहा। मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विभाग प्रचारक विजेंद्र कुमार रहे। उन्होंने कहा कि गुरु नानक देव का प्रकाश पर्व सभी समाज के लोगों को भेदभाव छोड़ कर मनाना चाहिए। हिंदू समाज में फैली कुरीतियों को मिटाने के लिए गुरु नानक ने अथक प्रयास किए थे। उन्होंने एक लंगर एक पंगत का नारा भी समाज को दिया। संघ के प्रांत कार्यकारिणी सदस्य रुद्र कुमार शर्मा, साजनराम चौधरी, अरविंद बोड़ा, दौलतराम सारण, खंड प्रचारक विक्रमसिंह, विहिप के विभाग मंत्री पुखराज सांखला, रामनिवास सांखला, मेघराज राव आदि उपस्थित रहे। सुंदरकांड के पाठ भी किए गए। इसमें गजेंद्र गौड़, विनय वैष्णव, कैलाश रामावत, तुलसीदास, रामचंद्र राव आदि उपस्थित रहे। शारदापुरम में विहिप की ओर से गुरु नानक जयंती कार्यक्रम व सुंदरकांड के पाठ किए गए। पुखराज सांखला, सरिता राव, ललित सांखला, दुर्गा वाहिनी जिला संयोजिका माया सांखला आदि उपस्थित रहे।

Jitesh kumar Rawal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned