खतरा बन सकती है एटीएम की टच स्क्रीन व बटन, सेनेटाइजर तक नहीं

एटीएम में बार-बार हाथ साफ करने की एडवाइजरी, एहतियातन कुछ नहीं, सुनाई देता है रिकॉर्ड और चस्पा कर रहे पेम्पलट पर नहीं किए प्रबंध, बिना सुरक्षाकर्मियों के संचालित हो रहे अधिकतर एटीएम

By: Jitesh kumar Rawal

Updated: 18 Apr 2020, 09:19 PM IST

जीतेश रावल

नागौर. बैंक एटीएम में घुसते ही अपने हाथ सेनेटाइजर से धोने व मुंह पर मास्क लगाए जाने की एडवायजरी सुनाई पड़ती है। बैंक शाखाएं अपने उपभोक्ताओं को रिकॉर्ड सुनाकर महामारी में बचाव को लेकर जागरूक कर रही हैं, लेकिन व्यवस्थाएं नगण्य ही है। कुछ एटीएम में तैनात सुरक्षाकर्मियों के पास हैंड सेनेटाइजर हैं, लेकिन उपभोक्ताओं को मुहैया नहीं हो पाते। वैसे अधिकतर एटीएम में हाथ साफ करने को सेनेटाइजर तो दूर सुरक्षाकर्मी तक नहीं है। एटीएम की स्क्रीन को बार-बार छूने से संक्रमण का खतरा बन सकता है, लेकिन बचाव के प्रबंध नहीं किए जा रहे। जिला मुख्यालय पर संचालित एटीएम बूथों की यह दयनीय स्थिति है तो ग्रामीण क्षेत्र के एटीएम किस तरह सुरक्षित होंगे यह सोच सकते है। एटीएम में सेनेटाइजर व हाथ धोने के प्रबंध नहीं होना गंभीर स्थिति है, लेकिन प्रशासनिक स्तर पर कोई उपाय नहीं किए जा रहे। एटीएम बूथों में सफाई के प्रबंध तक नही ंहै। गेट का पल्ला खुला ही रहता है, जिससे जब चाहे कोई भी घुस सकता है।

संक्रमण के लिहाज से सुरक्षित नहीं

कुछ एटीएम में गार्ड है और उनके पास सेनेटाइजर भी है, लेकिन कुछ एटीएम ऐसे भी है जिनमें गार्ड तो नहीं है पर सेनेटाइजर रखा हुआ है। यह अच्छी स्थिति है, लेकिन बगैर गार्ड व बिना सेनेटाइजर वाले एटीएम संक्रमण के लिहाज से सुरक्षित नहीं कहे जा सकते। अधिकतर एटीएम बूथ में सफाई के भी पुख्ता प्रबंध नहीं है।

जागरूकता जगा रहे पर प्रबंध नहीं

एटीएम बूथों में जागरूकता के लिए रिकॉर्डिंग बजाई जा रही है। कई जगह पेम्फलेट चस्पा कर रखे है, लेकिन सेनेटाइजर नहीं रखे। इससे बूथ में आने वाले उपभोक्ता अपना काम करते हुए हाथ किस तरह साफ रखेंगे और सेनेटाइज कैसे होंगे यह कहना मुश्किल है। कोई अपने साथ ही सेनेटाइजर लेकर आए तो अलग बात है।

नाक के नीचे ही अव्यवस्था

सबसे अहम तो यह कि नगर परिषद व पुराना अस्पताल के बाहर संचालित एटीएम बूथों में ही सेनेटाइजर नहीं है। इन दोनों ही विभागों पर शहर की सफाई व स्वास्थ्य का जिम्मा है, लेकिन नाक के नीचे चल रहे इन बूथों पर सुरक्षा के प्रबंध नहीं है।

व्यवस्था करवाएंगे...

सभी बैंक शाखाओं को एडवाइजरी जारी कर रखी है कि एटीएम में हाथ धोने के लिए साबुन व पानी या सेनेटाइजर रखा जाए। जिन एटीएम में गार्ड नहीं है वहां भी इस तरह के प्रबंध रखने के निर्देश है। कहीं पर व्यवस्था नहीं है तो प्रबंधकों को वापस एडवाइजरी जारी की जाएगी।

- अभिनीत दयाल, लीड बैंक मैनेजर, नागौर

Jitesh kumar Rawal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned