घर में सो रहे पूर्व सरपंच पर तलवार से वार कर हाथ पैर काटे, परिवार वाले देख रहे थे टीवी

घर में सो रहे पूर्व सरपंच पर तलवार से वार कर हाथ पैर काटे, परिवार वाले देख रहे थे टीवी

Nidhi Mishra | Publish: Sep, 07 2018 12:30:31 PM (IST) Nagaur, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

गच्छीपुरा/ नागौर। मकराना तहसील की ग्राम पंचायत ईटावा लाखा के पूर्व सरपंच मनोहर सिंह पर रात 11 बजे धारदार हथियारों से हमला कर तीन युवक हाथ पैर काट भाग गए। गम्भीर घायल को जयपुर रैफर किया गया। इस मामले में 3 लोगों पर हमले का अंदेशा जताया जा रहा है। गच्छीपुरा पुलिस मौका मुआयना कर एक युवक से पूछताछ कर रही है। पीड़ित के भतीजे दीपेंद्र सिंह ने बताया कि 3 युवक बाइक से आए थे। हम सब घरवाले टीवी देख रहे थे। हमलावर कमरे में सो रहे मनोहर सिंह पर तलवार से वार कर 1 हाथ व 1 पैर काट कर भाग गए। खबर लिखे जाने तक मामला पुलिस में दर्ज नहीं करवाया गया था।

 

नागौर सभापति को सुपारी देने का मामला
उधर, नागौर नगर परिषद के सभापति कृपाराम सोलंकी की सुपारी देने के मामले में एसओजी की टीम नागौर पहुंची। नागौर सर्किट हाऊस में एसओजी के एएसपी करण शर्मा ने नागौर नगर परिषद के सभापति कृपाराम सोलंकी व पार्षदो के बयान दर्ज किये। इस दौरान सर्किट हाऊस में दिनभर गहमागहमी बनी रही। कई घंटो तक एसओजी की टीम ने सभापति कृपाराम सोलंकी, उपसभापति इसलामुद्दीन व पार्षदो के बयान दर्ज किए। इसके अलावा अधिवक्ता महावीर बिश्नोई के बयान भी एसओजी ने दर्ज किये।

 

यह रहा घटनाक्रम
मामले को लेकर सभापति कृपाराम सोलंकी ने कहा कि इस मामले की जांच पहले एएसपी ने की और मामले को सही माना। इसके बाद मामले की जांच एसओजी को दे दी और सीआई राहुल जोशी ने इसकी जांच शुरु की। लेकिन सीआई ने मामले की कोई जांच नहीं की और ना ही कभी नागौर आकर किसी के बयान दर्ज किये। इसके बावजूद एसओजी के सीआई ने हाईकोर्ट में यह स्टेटस रिपोर्ट पेश की कि कोई मामला नहीं बनता।

 

यह कहना है सभापति का..
वहीं सभापति ने कहा कि सुपारी लेने वाले आरोपी बलवीर ने सरेंडर होकर बयान दिये थे कि हरीराम लोमरोड ने उसे सभापति को मारने की सुपारी दी। वहीं कोर्ट में 164 के बयान में भी बलवीर अपने बयान पर कायम रहा और सुपारी लेना स्वीकार किया। लेकिन डेढ साल बाद बलवीर अपने बयान से मुकर गया। बलवीर के मुकरने के आधार एसओजी को मामले में एफआर लगाने की तैयार कर रही है।

 

विधायक हनुमान बेनीवाल की सुपारी का भी जिक्र
यह प्रकरण काफी समय से लंबित चल रहा है । गौरतलब है कि करीब डेढ साल पहले सीकर के बदमाश बलवीर ने थाने मेंं पेश होकर पुलिस को बताया था कि उसे हरीराम लोमरोड ने सभापति कृपाराम को मारने की सुपारी दी थी, साथ ही विधायक हनुमान बेनीवाल की सुपारी का भी जिक्र किया गया। जिसके बाद जांच स्थानीय पुलिस ने की और फिर एसओजी को जांच सौंपी गई।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned