स्वच्छ सर्वेक्षण को लेकर किया जागरूक

https://www.patrika.com/nagaur-news/

By: Anuj Chhangani

Published: 03 Jan 2019, 11:18 PM IST

नागौर. स्वच्छ भारत मिशन के तहत शहर में शुक्रवार से शुरू होने वाले स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 को लेकर नगर परिषद कर्मचारियों ने लोगों को जागरूक किया। नगर परिषद के मुख्य स्वच्छता निरीक्षक नरेन्द्र चौधरी व निरीक्षक अनिल ने नेहरू उद्यान में स्कूली छात्र-छात्राओं व आम लोगों को स्वच्छ भारत अभियान के तहत किए जाने वाले सर्वेक्षण को लेकर जानकारी दी। चौधरी ने बच्चों को सर्वेक्षण को लेकर किए जाने वाले सवालों व शहर में कचरा निस्तारण की व्यवस्था के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि सर्वेक्षण में शहर की बेहतर रेंकिंग के लिए सभी लोग शहर को साफ सुथरा रखने में मदद करें। कचरा पात्र व टेम्पो में ही कचरा डालें तथा आसपास के लोगों को इसके लिए प्रेरित करें। निरीक्षक अनिल ने कहा कि देश भर में 4 से 31 जनवरी तक नगर परिषद में स्वच्छता सर्वेक्षण किया जाएगा। सर्वे के दौरान आम जन से सर्वेक्षण से जुड़े सवाल जवाब भी किए जााएंगे। सही जवाब देने पर नगर परिषद को पांच हजार अंकों में से 1250 अंक मिलेंगे। उन्होंने कहा कि घर के आस-पास रखे कचरा पात्र में कचरा डालने के लिए लोगों को जागरूक करें, ताकि शहर साफ रहे। इस अवसर पर मौजूद लोगों के बीच सर्वेक्षण से जुड़ी जानकारी वाला पेम्पलेट भी वितरित किया गया।

सीधे जनता से लेंगे फीडबैक
स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 में वेस्ट पीकर्स के योगदान, सफाई कर्मचारियों व वेस्ट पीकर्स को पहचान कार्ड के भी पांच अंक दिए जाएंगे। इसे लेकर नगर परिषद ने शहर के अलग-अलग वार्डों में रहने वाली महिला वेस्ट पीकर्स व सफाई कर्मचारियों को पहचान पत्र दिए। स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 में दिल्ली से आई टीमों ने नगर पालिका व नगर परिषद कार्यालयों में पहुंचकर दस्तावेजों की जांच की थी। इस बार सर्वेक्षण को लेकर कोई टीम नगर परिषद नहीं आएगी, बल्कि लोगों से सीधे संवाद करेगी। स्वतंत्र संस्था की ओर से प्रमाणीकरण, ऑनलाइन वेरिफिकेशन, नागरिकों का फीडबैक और ऑन ग्राउंड स्क्रूटिनी की जाएगी। गौरतलब है कि 2018 के सर्वेक्षण में नागौर की 197 वीं रेंक रही थी।

Anuj Chhangani Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned