कर्मचारियों की कमी से झूझ रहा है बैंक

कर्मचारियों की कमी से झूझ रहा है बैंक

Jyoti Patel | Publish: Sep, 11 2018 12:26:18 PM (IST) Nagaur, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

कुचामनसिटी/नागौर. शहर के कॉपरेटिव सेंट्रल कॉपरेटिव बैंक में इन दिनों कर्मचारियों की कमी से ऋण वितरण समेत अन्य कार्य प्रभावित हो रहे हैं। बैंक में दो साल पहले सात जनों का स्टाफ था, लेकिन अब सिर्फ तीन के भरोसे व्यवस्था चल रही है। जानकारी के मुताबिक इन दिनों ऋण वितरण का कार्य जोरों पर चल रहा है। ऐसे में बैंक में ग्राहकों की भीड़ उमड़ रही है। किसानों को अपनी बारी के लिए लम्बा इंतजार करना पड़ रहा है। वर्तमान में बैंक में एक प्रबंधक समेत दो बैंकिंग सहायकों के भरोसे कार्य चल रहा है। कैशियर कार्य में भी एक जने को ही लगा रखा है। बैंक में स्टाफ पर्याप्त हो तो दो जनों को कैश में लगाया जा सकता है। लेकिन अभी स्थिति लगभग बिगड़ी हुई है। अधिकारियों के अनुसार वर्ष 2016 में बैंक में एक प्रबंधक, पांच बैंकिंग सहायक सहित सात जनों का स्टाफ था। लेकिन बाद में धीरे-धीरे स्टाफ की कमी होती गई। वर्तमान में स्थिति यह है कि पासुबक में एंट्री समेत वेरिफिकेशन आदि कार्य में स्टाफ की कमी महसूस होती है।

गौरतलब है कि सहकारिता विभाग को 15 सितम्बर से पहले सहकारी समितियों के किसानों को ऋण वितरण करना है। जानकारी के अनुसार बैंक में स्टाफ की कमी से कर्मचारियों पर कार्यभार ज्यादा है। ऐसे में देरी तक रुककर उनको कार्य पूरा करना पड़ रहा है। कैश के कार्य में तो शाम तक हो जाती है। कर्मचारी के अवकाश में चले जाने पर व्यवस्था ज्यादा बिगड़ जाती है। हालांकि दिन के समय व्यवस्था बनाने में काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। इधर, इस संबंध में प्रबंधक विमल महर्षि ने बताया कि बैंक में स्टाफ की कमी है। ऐसे में दिक्कत का सामना करना पड़ता है। वर्तमान में ऋण वितरण का कार्य चलने से बैंक में काफी उमड़ रही है। इसके बावजूद व्यवस्था नहीं बिगडऩे दी जा रही है।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned