हैड कांस्टेबल ने भावण्डा थाने में मचाया हंगामा, लाइन हाजिर

हैड कांस्टेबल ने भावण्डा थाने में मचाया हंगामा, लाइन हाजिर

shyam choudhary | Publish: Sep, 06 2018 12:18:05 PM (IST) Nagaur, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/nagaur-news/

- विधायक बेनीवाल को बोला - हां, शराब पी है, मेडिकल जांच में पुष्टि
- विधायक की शिकायत पर पुलिस अधिकारियों ने की कार्रवाई
नागौर. जिले के पुलिस विभाग को खुद पुलिसकर्मी ही बदनाम करने में लगे हुए हैं। पिछले दिनों थांवला थाने एएसआई व कांस्टेबलों द्वारा राह चलते युवक के साथ गंभीर मारपीट करने तथा पादू कलां थाने से दुष्कर्म के आरोपी को खुद थानाधिकारी द्वारा भगाने का मामला अभी शांत नहीं हुआ कि जिले के भावण्डा थाने में मंगलवार को हैड कांस्टेबल द्वारा शराब पीकर हंगामा करने का मामला सामने आ गया। हालांकि एसपी हरेन्द्र कुमार महावर ने विभाग की बदनामी करने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई भी की है, लेकिन पुलिसकर्मी हैं कि सुधरने का नाम नहीं ले रहे।

जानकारी के अनुसार हाल ही एसपी महावर द्वारा किए गए थानाधिकारियों के तबादले के चलते भावण्डा थानाधिकारी मनीष चारण का भी तबादला होने के कारण मंगलवार को हैड कांस्टेबल बीरमाराम के पास चार्ज था। थाने का चार्ज आते ही हैड कांस्टेबल शराब के नशे में ड्यूटी पर आ गया। मंगलवार शाम को भावण्डा के लोगों ने खींवसर विधायक हनुमान बेनीवाल को फोन पर सूचना दी कि हैड कांस्टेबल शराब के नशे में भावण्डा चौराहे पर वाहन चालकों से अवैध वसूली कर रहा है और लोगों से दुव्र्यवहार भी कर रहा है। इस पर विधायक बेनीवाल ने हैड कांस्टेबल से फोन पर बात की, लेकिन उसने विधायक से तरीके से बात नहीं की और दुस्साहस दिखाते हुए शराब पीने की बात भी स्वीकार कर ली। हैड कांस्टेबल के दुस्साहस को देखते हुए विधायक बेनीवाल ने एसपी हरेन्द्र कुमार महावर व आईजी बीजू जॉर्ज जोसेफ से बात कर हैड कांस्टेबल के खिलाफ सख्त कार्रवाई के लिए कहा। जिसके बाद एसपी ने एएसपी व डीएसपी को जांच कर कार्रवाई के निर्देश दिए। एसपी व एएसपी के निर्देश पर नागौर डीएसपी सुभाष मिश्रा भावण्डा पहुंचे तथा हैड कांस्टेबल का खींवसर सीएचसी में मेडिकल करवाया, जिसमें उसके शराब पीने की पुष्टि होने पर एएसपी राजकुमार चौधरी ने हैड कांस्टेबल बीरमाराम को लाइन हाजिर कर दिया।

 

जांच में एल्कोहल की पुष्टि
मंगलवार रात को उच्चाधिकारियों के निर्देश पर मैंने भावण्डा पहुंचकर हैड कांस्टेबल का मेडिकल करवाया था। जांच रिपोर्ट में एल्कोहल की पुष्टि तो हुई, लेकिन ज्यादा नहीं थी। हैड कांस्टेबल होश में ही था।
- सुभाष मिश्रा, वृत्ताधिकारी, नागौर

लाइन हाजिर किया है
भावण्डा थाने के हैड कांस्टेबल बीरमाराम पर तरीके से बात नहीं करने का आरोप था। प्रथम दृष्टया हैड कांस्टेबल को लाइन हाजिर किया है। पूरे मामले की जांच के लिए नागौर वृत्ताधिकारी सुभाष मिश्रा को निर्देश दिए हैं, उन्होंने हैड कांस्अेबल का मेडिकल भी करवाया है।
- राजकुमार चौधरी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, नागौर

ऐसे लोगों को बाहर भेजना चाहिए
मंगलवार शाम को भावण्डा से कुछ लोगों का मेरे पास फोन आया। उन्होंने बताया कि भावण्डा थाने का हैड कांस्टेबल बीरमाराम, जिसके पास थानाधिकारी का चार्ज है, शराब पीकर भावण्डा चौराहे पर वाहन चालकों से अवैध वसूली कर रहा है। ग्रामीणों की शिकायत पर मैंने हैड कांस्टेबल से बात की तो वह नशे में लगा। मैंने उससे पूछा तो उसने शराब पीकर ड्यूटी करने की बात स्वीकार कर ली और बोला कि वह ऐसे ही ड्यूटी करता है। इस पर मैंने नागौर एसपी व अजमेर रेंज आईजी से बात की। जिसके बाद पुलिस अधिकारियों ने हैड कांस्टेबल का खींवसर में मेडिकल करवाया, जिसमें शराब पीने की पुष्टि हुई है। शराब पीकर ड्यूटी के नाम पर लोगों को परेशान करने वाले पुलिसकर्मियों को निलम्बित कर दूसरे जिलों में भेजना चाहिए, ताकि कानून व्यवस्था में सुधार हो सके।
- हनुमान बेनीवाल, विधायक, खींवसर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned