वीडियो : भाजपा ने कहा - सरकार तीन महीने के बिजली-पानी के बिल माफ करे

भाजपा नेताओं ने मुख्यमंत्री के नाम जिला कलक्टर को सौंपा ज्ञापन, राष्ट्रीयकृत बैंकों के सभी किसानों के दो लाख रुपए तक ऋण माफ करने व ब्याज मुक्त फसली ऋण बढ़ाने की भी मांग

By: shyam choudhary

Published: 06 Jun 2020, 12:12 PM IST

नागौर. भारतीय जनता पार्टी के पदाधिकारियों एवं पूर्व मंत्रियों ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री के नाम जिला कलक्टर को तीन सूत्री मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा। नागौर शहर अध्यक्ष मोहनराम चौधरी व देहात अध्यक्ष गजेन्द्रसिंह ओडिंट के नेतृत्व में भाजपा नेताओं एवं पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने सुबह कलक्ट्रेट पहुंचकर जिला कलक्टर दिनेश कुमार यादव को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा।
भाजपा पदाधिकारियों ने ज्ञापन में बताया कि कोरोना महामारी के कारण देश व प्रदेश में लगाए गए लॉकलाडन से आम उपभोक्ता से लेकर किसानों, व्यापारियों, मजदरों एवं लघु उद्योग पर पड़े आर्थिक भार को देखते बिजली-पानी के तीन माह के बिल माफ किए जाएं।

अपना वादा निभाए सरकार - किलक
पूर्व मंत्री किलक ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा 19 दिसम्बर 2019 को निर्णय लिया गया था कि सभी राष्ट्रीयकृत बैंकों, अनुसूचित बैंकों एवं क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों के सभी कृषकों के जो आर्थिक रूप से संकटग्रस्त हैं और अपना ऋण नहीं चुका पा रहे हैं, उनका 2 लाख रुपए की सीमा तक का कालातीत/अवधिपार अल्पकालीन फसली ऋण माफ किया जाएगा। भाजपा ने बताया कि इस निर्णय की पालना अब तक नहीं हो पाई है। वर्तमान में कोरोना संकट के चलते किसानों को राहत देने के लिए सरकार 2 लाख तक का ऋण माफ करे। इसके साथ आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत भारत सरकार द्वारा नाबार्ड को 30 हजार करोड़ रुपए का अतिरिक्त बजट आवंटित किया गया है। अब नाबार्ड द्वारा सहकारी बैंकों को अधिक राशि पुनर्वित की जाएगी, इसलिए उचित होगा कि इस संकट के समय में प्रदेश के किसानों को अधिक ब्याज मुक्त फसली ऋण वितरिण किया जाकर राहत प्रदान की जाए।

केन्द्र सरकार के पैकेज से भारत बनेगा आत्मनिर्भर - चौधरी
पूर्व केन्द्रीय मंत्री सीआर चौधरी ने सर्किट हाउस में पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोरोना महामारी में जिस प्रकार देश को संभाला है, उसकी पूरे विश्व में प्रशंसा हो रही है। उन्होंने कहा कि जनसंख्या की तुलना में यहां इस महामारी से संक्रमित हुए लोगों की संख्या नगण्य है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन से हुए आर्थिक नुकसान के बाद जारी किए गए 20 लाख करोड़ के पैकेज से हर वर्ग को फायदा होगा।

संगठन के पुनर्गठन का काम लगभग पूरा - जैसास
संगठन के प्रदेश महामंत्री बीरमदेवसिंह ने कहा कि प्रदेश में संगठनात्मक रूप से हमारे 44 जिले एवं 1078 मंडल हैं, लगभग सभी का पुनर्गठन हो चुका है, कुछ बाकी हैं, उनकी भी घोषणा दो-चार दिन में हो जाएगी। इसके साथ सभी विधानसभा क्षेत्रों में दो-दो वर्चुअल रैलियां आयोजित करने की योजना है। जैसास ने कहा कि प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत का एक पत्रक आमजन तक पहुंचे, इस पर भी संगठन विचार कर रहा है।

ये रहे उपस्थित
ज्ञापन देते समय भाजपा के पूर्व अध्यक्ष हरिश कुमावत, रामचंद्र उत्ता, रमाकांत शर्मा, भाजयुमो के जिलाध्यक्ष लक्ष्मीनारायण मुण्डेल, भाजपा उपाध्यक्ष अजीतसिंह भाटी, प्रदेश कार्य समिति सदस्य जगदीशसिंह, जिला महामंत्री नौरतमल सिंघवी व भंवरसिंह रेवंत, स्टेफी चौहान, ओबीसी मोर्चा के जिला महामंत्री रमेश अपूर्वा, पूर्व जिला महामंत्री जगवीर छाबा, महावीर सांदू, मनीष बंसल, प्रेमाराम चौधरी, ओमप्रकाश डागा, कैलाश तोलावत, प्रमिल नाहटा, दीपक सोनी, हनुमानराम फिड़ौदा, प्रतीक पारीक, बाबूलाल लोमरोड़ आदि कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned