राजस्थान के राष्ट्रीय राजमार्ग-65 पर हुआ बड़ा हादसा, यात्रियों से भरी बस पलटी, तीन दर्जन से ज्यादा घायल, एक की मौत

राजस्थान के राष्ट्रीय राजमार्ग-65 पर हुआ बड़ा हादसा, यात्रियों से भरी बस पलटी, तीन दर्जन से ज्यादा घायल, एक की मौत

rohit sharma | Publish: Nov, 10 2018 09:47:29 PM (IST) Nagaur, Nagaur, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news

नागौर।

राजस्थान के नागौर-जोधपुर राष्ट्रीय राजमार्ग - 65 पर शनिवार सुबह ग्राम प्रेमनगर के समीप एक बस अनियंत्रित होकर पलट गई, जिससे उसमें सवार करीब 40 लोग घायल हो गए। इनमें एक गम्भीर घायल की इलाज के दौरान मौत हो गई। घटना के बाद मौके पर जाम लग गया। बाद में पहुंची पुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद बस को क्रेन की सहायता से हटाकर जाम खुलवाया।

 


उधर, बड़ी संख्या में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचे घायलों को लेकर एकबारगी अफरा-तफरी मच गई। बाद में चिकित्साकर्मियों ने तत्परता दिखाते हुए घायलों का उपचार किया। इनमें दो गम्भीर घायलों को जोधपुर रेफर किया गया, जबकि 8 जनों को दो एम्बुलेंस की सहायता से नागौर जिला मुख्यालय के राजकीय अस्पताल रेफर किया गया। पुलिस ने दुर्घटनाग्रस्त बस को जब्त कर चालक के खिलाफ लापरवाही से बस चलाकर दुर्घटना कारित करने का मामला दर्ज किया है।



खींवसर पुलिस थाना प्रभारी रमेशसिंह बिट्ठू ने बताया कि शनिवार सुबह करीब साढ़े 10 बजे मजदूरों से भरी एक निजी सवारी बस अनियंत्रित होकर नागौर-जोधपुर राजमार्ग पर ग्राम प्रेमनगर के बस स्टैण्ड पर पलटी खा गई। इस दौरान बस में करीब 40 से अधिक यात्री सवार थे। दुर्घटना के बाद मौके पर अफरा-तफरी मच गई। आस-पास के दुकानदार एवं ग्रामीण दौड़कर आए और घायलों को निजी वाहनों में बैठाकर खींवसर के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचाया।

 

 

एक साथ करीब 40 घायलों के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचने पर चिकित्साकर्मियों के हाथ पांव फूल गए। इस दौरान अस्पताल स्टाफ ने तत्परता दिखाते हुए तुरंत ईलाज किया। इस दौरान ग्रामीणों ने भी घायलों के ईलाज में पूरी मदद की। इनमें दो जनों को नाजुक हालत में जोधपुर रेफर किया गया, जहां उपचार के दौरान गुडिय़ा निवासी ओमाराम (45) पुत्र हरदेवराम नायक की मौत हो गई। पुलिस ने पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सुपुर्द किया है। मृतक के भाई श्रवणराम पुत्र हरदेवराम ने बस चालक के खिलाफ तेज गति एवं लापरवाही से चलाकर दुर्घटना का मामला दर्ज करवाया है।

 


बता दें कि नागौर-जोधपुर राजमार्ग पर स्थित प्रेमनगर दुर्घटना का केन्द्र बना हुआ है। यहां सालभर में बड़ी तादाद में हादसे हुए हैं। जिनमें कई लोगों की जानें चली गई। सड़क में एकदम चढ़ाव के साथ गांवों से आने वाले रास्ते में बोर्ड नहीं होने से वाहन चालक अचानक आते वाहन को देखकर संतुलन खो बैठते हैं और दुर्घटना हो जाती है, लेकिन राष्ट्रीय राजमार्ग प्रशासन इन हादसों को रोकने में कोई रुचि नहीं दिखा रहा है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned