Video : नहरबंदी खत्म, फिर भी नहीं मिल रहा पूरा पानी, पूरा नागौर शहर परेशान

लौहारपुरा की महिलाओं ने कलक्ट्रेट के आगे धूप में घंटों खड़ी रहकर किया प्रदर्शन, फोड़ी मटकियां

By: shyam choudhary

Updated: 09 Jun 2021, 09:51 PM IST

नागौर. नागौर शहर में अमृत मिशन के करोड़ों रुपए खर्च करने व अधिकारियों के लाख प्रयास के बावजूद पेयजल आपूर्ति की व्यवस्था पटरी पर नहीं आ पा रही है। आए दिन शहर के विभिन्न मोहल्लों से लोग ज्ञापन लेकर कलक्ट्रेट पहुंच रहे हैं तो ज्यादा परेशान लोग प्रदर्शन भी कर रहे हैं। अब तक नगर परिषद के अधिकारी नहरबंदी का बहाना बनाकर अपना बचाव कर रहे थे, लेकिन अब तो नहरबंदी भी समाप्त हो चुकी है और गत 7 जून को ही नहर का पानी नोखा-दैय्या पहुंच गया। ऐसे में नहरी विभाग ने भी पानी की आपूर्ति बढ़ा दी है। इसके बावजूद शहर में लोगों को पूरा पानी नहीं दिया जा रहा है। कहीं अमृत योजना में बिछाई गई पाइपलाइनों की कमी है तो कहीं कर्मचारियों की लापरवाही से शहरवासियों को समय पर पूरा पानी नहीं मिल रहा है।

लौहारपुरा की महिलाओं ने रोका रास्ता, फोटी मटकियां
शहर के लौहारपुरा क्षेत्र में पानी की सप्लाई नहीं होने से परेशान सैकड़ों महिलाएं बुधवार को कलक्ट्रेट के आगे पहुंच गई और स्टेशन की तरफ जाने वाली रोड को जाम कर दिया। इसकी जानकारी मिलने पर पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे और रास्ता खुलवाया। इसके बाद महिलाओं ने एक तरफ की रोड पर कब्जा जमाते हुए मटकियां फोडकऱ अपना गुस्सा जताया। इस दौरान नगर परिषद आयुक्त श्रवणराम चौधरी ने भी महिलओं को समझाने का प्रयास किया तथा जल्द ही पानी आपूर्ति देने का आश्वासन दिया।

पानी की मात्रा बढ़ाई है
नहरबंदी समाप्त होने के बाद वापस पानी की सप्लाई तीन दिन पहले ही शुरू हो चुकी है, जिसके बाद हमने शहर में पानी की आपूर्ति बढ़ाई भी है। हालांकि नहरबंदी के दौरान भी नागौर शहर के 17-18 एमएलडी पानी दिया जा रहा था। इसके बावजूद शहर में आपूर्ति सुचारू क्यों नहीं है, इसकी जानकारी नगर परिषद के अधिकारी ही दे सकते हैं।
- महेन्द्र प्रकाश सोनी, एसई, पीएचईडी नहरी परियोजना, नागौर

shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned