नागौर. ‘महिला व पुरुष के बीच शारीरिक बनावट के अलावा कोई अंतर नहीं है। जितने भी अंतर हैं, वे सब समाज द्वारा थोपे गए हैं, जिन्हें समाज को ही दूर करना है। प्रकृति ने न तो पहले अंतर किया और न ही अब करती है। लडक़े को ज्यादा महत्व देना और लडक़ी को कम, ये सब हमारे द्वारा थोपे गए हैं। जिस प्रकार हम लडक़े के जन्म पर खुशियां मनाते हैं, उसी प्रकार लड़कियों का जन्मोत्सव मनाने के लिए आज हमने जिला स्तर से शुरुआत की है।’ यह बात कलक्टर कुमारपाल गौतम ने बुधवार को टाउन हॉल में राजस्थान पत्रिका की मीडिया पार्टनरशिप में महिला अधिकारिता विभाग की ओर से आयोजित अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस समारोह में बतौर मुख्य अतिथि कही। कलक्टर ने कहा कि अब हर तीन महीने में पंचायत मुख्यालय पर जन्मोत्सव मनाया जाएगा। इस दौरान तीन महीने की अवधि में जन्म लेने वाली बालिकाओं का जन्मोत्सव मनाया जाएगा, ताकि समाज में बदलाव आए। बेटियां हर क्षेत्र में बेटों से आगे हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned