पार्षदों को खरीदने के आरोप

पार्षदों की बाड़ाबन्दी

By: Sandeep Pandey

Published: 23 Jul 2018, 09:45 PM IST

 

नावां शहर. नावां नगरपालिका में अविश्वास प्रस्ताव पारित होने के बाद अब उपचुनाव को भाजपा व कांग्रेस अपने खेमों में पार्षदों की संख्या बढाने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। जहां एक ओर कांग्रेस के उम्मीदवार सरिता गोधा अपने दो कांग्रेस पार्षद भाजपा के खेमे में जाने की कह रही हैं वहीं दूसरी ओर कार्यवाहक पालिकाध्यक्ष प्रियंका बियाणी का कहना है कि भाजपा के खेमे में कोई भी कांग्रेस का पार्षद नहीं है। ऐसे में संशय बना हुआ है कि आखिर कांग्रेस के दो पार्षद गए तो कहां गए।

नगरपालिका के बीस में से सत्रह पार्षदों ने एकजुट होकर पालिकाध्यक्ष स्वाति बंसल को तो अविश्वास पारित कर कुर्सी से हटा दिया, लेकिन निर्वाचन विभाग की ओर से चुनाव की तिथि तय करने के बाद अब यह एकजुटता बिखरने के साथ ही कांग्रेस व भाजपा पार्टी अपने अपने पार्षदों की बाड़ाबन्दी करने के साथ ही एक दूसरे के पार्षदों को अपने गुट में मिलाने का हर संभव प्रयास कर रही है। जहां सोमवार की दोपहर तक कांग्रेस के खेमे में छह पार्षद सहित एक निर्दलीय पार्षद शामिल था वहीं सोमवार की देर शाम तक एक और निर्दलीय पार्षद कांग्रेस खेमे में शामिल हो गया। जिससे कांग्रेस को कुछ मजबूती मिली है। अभी कांग्रेस के खेमे में कुल बीस पार्षदों में से आठ पार्षद ही हुए है जो कि पालिकाध्यक्ष की कुर्सी जीतने के लिए काफी नहीं है। कांग्रेस के दो पार्षद दोनों पार्टियों से ही अज्ञातवास पर चल रहे हैं। एक ओर कांग्रेस के उम्मीदवार उन्हें भाजपा में शामिल बता रहे है वहीं दूसरी ओर भाजपा अपने खेमे में कांग्रेस पार्षदों का शामिल नहीं होने का दावां कर रही है।पार्टी का निर्णय सर्वोपरि

भाजपा पार्टी के पार्षद व वर्तमान कार्यवाहक पालिकाध्यक्ष प्रियंका बियाणी ने कहा कि भाजपा पार्टी जिस पार्षद को अपना उम्मीदवार चयनित करेगी सभी पार्षद उसी को वोट देंगे। पार्टी एकजुट है तथा यह केवल एक अफवाह है कि पार्टी के पार्षदों में दो गुट हो गए है। भाजपा पार्टी का निर्णय ही सर्वोपरि होगा। इसके साथ ही भाजपा के खेमे में केवल भाजपा व निर्दलीय पार्षद ही शामिल है। कांग्रेस पार्टी के पार्षदों की हमें जानकारी नहीं है कि कहां है।

कांग्रेस ने लगाए आरोपकांग्रेस के उम्मीदवार सरिता गोधा ने आरोप लगाया है कि भाजपा के विधायक विजयसिंह चौधरी व शिल्प एवं माटी कला बोर्ड के अध्यक्ष हरीश कुमावत सहित कार्यवाहक पालिकाध्यक्ष बियाणी रुपए का दुरुपयोग करते हुए पार्षदों को खरीद रही हैं तथा उन्हें लालच देकर भाजपा का बोर्ड बनाना चाहते हैं। कांग्रेस के दो पार्षद अगर हमारे खेमे में नहीं है तो फिर आखिर गए कहां? इनका जवाब भी उनके पास नहीं है।

इनका कहनाभाजपा के विधायक पार्षदों को रुपए के जोर पर खरीदने के साथ ही सरकारी तंत्र का दुरुपयोग कर रहे हैं। जिन पार्षदों के परिजन सरकारी नौकरी कर रहे हैं उनके स्थानान्तरण की धमकी देकर वोट लेने का प्रयास किया जा रहा है जबकि कांग्रेस के पदाधिकारी सुनियोजित तरीके से अपनी गुप्त रणनीति के साथ कार्य कर रहे हैं।

महेन्द्र चौधरी, नावां शहरपूर्व विधायक ।

भाजपा पार्टी के कोई दो गुट नहीं हुए। कांग्रेस की ओर से लगाए गए आरोप निराधार हैं जबकि पार्षदों की खरीद कांग्रेस के पदाधिकारी व उम्मीदवार ही कर रहे हैं। भाजपा के उम्मीदवार का चयन मंगलवार की शाम पार्टी की बैठक में किया जाएगा।विजयसिंह चौधरी

विधायक विधानसभा क्षेत्र नावां शहर।

Sandeep Pandey Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned