छात्रसंघ चुनाव के प्रचार में अभी से शहर बदरंग

छात्रसंघ चुनाव के प्रचार में अभी से शहर बदरंग

Mohummed Razaullah | Publish: Jul, 14 2018 10:32:53 AM (IST) Nagaur, Rajasthan, India

छात्रनेताओं के सामने जिम्मेदारों ने साधी चुप्पी

नागौर. जिलेभर के सरकारी कॉलेजों तथा नागौर के बलदेवराम मिर्धा महाविद्यालय, माडी बाई महिला महाविद्यालय में छात्रसंघ चुनाव अगस्त माह के अंतिम सप्ताह में होने है। उससे पहले चुनाव लडऩे के इच्छुक उम्मीदवार प्रचार- प्रसार में कोई कमी नहीं छोडऩा चाहते, इसलिए शहर को बदरंग किया जा रहा है और जिम्मेदार अधिकारी कोई कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। प्रत्याशी छात्र संगठन एनएसयूआई, एबीवीपी या निर्दलीय का हो शहर में जहां भी नजर दौड़ाएं वहां पर इनके पोस्टर अभी से नजर आने लगे हैं। इसके अलावा निजी स्कूलों, महाविद्यालयों, कम्पनियों के भी पोस्टरों से शहर को बदरंग किया जा रहा है।

आखिर कार्रवाई क्यों नहीं
शहर को साफ सुथरा रखने का दावा करने वाली नगर परिषद के कर्मचारियों की आंखों सामने पूरे शहर में जब चाहे जहां चाहे दीवारों पर पोस्टर चिपकाकर उन्हें बदरंग किया जा रहा है। परिषद के पास संपत्ति विरूपण अधिनियम के तहत कार्रवाई का प्रावधान है, लेकिन कार्रवाई करना तो दूर छात्रनेताओं को समझाना तक उचित नहीं समझा गया। जिसका खमियाजा शहर में देखने को मिल रहा है।

मकानों की दीवारें, खम्भें तक नहीं छोड़े
सरकारी भवनों की दीवारों को पोस्टर लगाकर पहले ही बदरंग किया जा चुका है। अब छात्रनेता शहरवासियों के निजी मकानों की दीवारों व बिजली के खम्भें तक को नहीं छोड़ रहे। काठडिय़ों का चौक, पिपली गली, तिगरी बाजार, बाठडिय़ों का चौक, पुराना हॉस्पिटल चौराहा सहित अन्य स्थानों की दीवारों पर अपने संगठनों का नाम रंग से लिख कर उम्मीदवार के लिए अपील कर रहे हैं। इस संबंध में शहरवासियों का कहना है कि आखिर इन सब पर कार्रवाई कब की जाएगी।

एनसीसी के जवानों ने दी हिदायत
गत 11 जुलाई को ‘एनसीसी के सामाजिक सरोकार- बने जिम्मेदार’ कार्यक्रम के तहत शहीद स्मारकों पर श्रमदान के दौरान छात्रनेताओं के पोस्टरों को बड़ी मश्क्कत से हटाया था। इसके बाद एनसीसी के जवानों ने यह प्रण लिया कि जो छात्रनेता स्मारकों को खराब करेगा उनका आगामी चुनावों में साथ नहीं दिया जाएगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned