नागौर के बासनी मॉडल की सीएम गहलोत ने की तारीफ

वीडियो कॉन्फ्रेंस में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग एसीएस ने प्रदेश के अधिकारियों के सामने रखा बासनी का उदाहरण

By: shyam choudhary

Published: 05 May 2020, 11:25 AM IST

नगाौर. जिले के बासनी कस्बे में 100 से अधिक कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने के बावजूद जिस प्रकार जिला प्रशासन, पुलिस विभाग एवं चिकित्सा विभाग ने जिस प्रकार महामारी को नियंत्रित किया है, उसकी प्रदेशभर में चर्चा हो रही है। सोमवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत एवं उच्चाधिकारियों द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से ली गई जिला कलक्टरर्स एवं अन्य अधिकारियों की बैठक में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के एसीएस रोहित कुमार ने नागौर के बासनी कस्बे में जिला प्रशासन द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना की तो मुख्यमंत्री गहलोत ने भी तारीफ करने से पीछे नहीं रहे। मुख्ममंत्री ने कहा कि नागौर के बासनी कस्बे में जिस प्रकार कोरोना का बम विस्फोट हुआ था, उसके बाद जिला प्रशासन, पुलिस एवं चिकित्सा विभाग न केवल नियंत्रित किया, बल्कि 49 मरीजों को ठीक कर अस्पताल से डिस्चार्ज भी कर दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मॉडल को प्रदेश के अन्य जिलों में भी अपनाया जाना चाहिए।

एसीएम चौधरी के नेतृत्व में बासनी
गौरतलब है कि जिला कलक्टर ने नागौर के एसीएम अमित चौधरी को बासनी में कोरोना विस्फोट होने पर बासनी का कोविड-19 प्रभारी बनाया था, हालांकि सभी विभागों के अधिकारी एवं कर्मचारी पूरी मुस्तैदी से कार्य कर रहे हैं, लेकिन एसीएम ने जिस कार्य कुशलता का संदेश दिया है, उसकी भी तारीफ हो रही है। एसीएम के साथ बासनी के ग्राम विकास अधिकारी श्रवण फिड़ौदा व पटवारी श्रवणकुमार खुडख़ुडिय़ा भी लगातार ड्यूटी दे रहे हैं।

नागौर में अब केवल 68 कोरोना पॉजिटिव मरीज बचे
प्रदेश के आठ रेड जोन जिलों में शामिल हो चुके नागौर जिले के लिए अच्छी खबर है। एक ओर जहां पिछले चार दिन में मात्र एक पॉजिटिव केस सामने आया है, वहीं पिछले पांच दिन में 49 मरीजों को अस्पताल से डिस्चार्ज किया जा चुका है। ये सभी मरीज जयपुर व नागौर के जेएलएन अस्पताल से ठीक होकर क्वॉरंटीन सेंटर भेजे गए हैं, जहां 14 दिन बिताने के बाद उन्हें घर भेज दिया जाएगा।
चार दिन सोमवार रात 9 बजे जारी हुई रिपोर्ट में नागौर जिले से एक पॉजिटिव केस आया, जिसकी जानकारी लेने पर पता चला कि यह बासनी की महिला है, जो गर्भवती भी है। जिले से अब तक 3341 सैम्पल जांच के भेजे गए हैं, जिनमें से 3163 की रिपोर्ट मिल चुकी है तथा 3043 की रिपोर्ट नेगिटिव, 178 की रिपोर्ट आना शेष है। वहीं सोमवार को जिले में 103 नए सैम्पल लिए गए।
जिला मुख्यालय पर स्थित राजकीय जेएलएन अस्पताल, नागौर की ओर से सोमवार को 51, मकराना के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में 14, राजकीय जी.आर. सरावगी अस्पताल तथा लाडनूं में 30 राजकीय बांगड़ अस्पताल डीडवाना में 8 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की कांटेक्ट हिस्ट्री के आधार पर सैम्पलिंग का काम जारी है।

COVID-19
shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned