सवा घंटे में पूरा किया 38 पेज का बजट अभिभाषण

वित्त समिति अध्यक्ष के साथ नेता प्रतिपक्ष की तीखी नोक-झोंक, नगर परिषद में बजट

By: Jitesh kumar Rawal

Updated: 01 Mar 2020, 12:59 PM IST

नागौर. नगर परिषद में शनिवार को आयोजित बैठक में 38 पृष्ठों का अभिभाषण करीब सवा घंटे में पूरा कर दिया गया। इसके बाद नेता प्रतिपक्ष ओमप्रकाश सांखला ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए आरोप लगाए गए कि बार-बार एक ही बजट पेश किया जा रहा है। गत वर्षों में पेश किया बजट ही वापस पढ़ दिया है। लोग विकास कार्यों के लिए हमारी तरफ देख रहे हैं। वित्त समिति अध्यक्ष के साथ उनकी तीखी नोक-झोंक हुई। इस पर सभापति ने बीच में टोका कि आप बजट सम्बंधी मुद्दे पर ही बोलिए दूसरे भी बैठे है सभी को बोलने का मौका दीजिए, लेकिन नेता प्रतिपक्ष समस्याएं गिनाते रहे।

उखड़ी पार्षद, फेंके फोल्डर

करीब दस मिनट बाद ही सभापति ने बैठक समाप्ति की घोषणा कर दी। हालांकि इस घोषणा से एक महिला पार्षद पुष्पा सारस्वत उखड़ गई तथा उसने टेबल पर रखे फोल्डर फेंक दिए तथा रोष जताया कि ऐसे कैसे बैठक समाप्त कर दोगे, शहर की समस्याओं का समाधान कौन करेगा। इस पर कुछ देर के लिए सभी रूक गए तथा उनकी समस्या सुनी। उन्होंने बताया कि वार्ड-26 में सीवरेज प्रोपर्टी कनेक्शन व पेयजल पाइप लाइन के कनेक्शन नहीं हुए हैं तथा सड़कें भी क्षतिग्रस्त है। सभापति ने भरोसा दिलाया कि उनके एरिया में जल्द ही काम करवाया जाएगा। इसके बाद पार्षद सरोज प्रजापत ने भी कहा कि आप लोग रवाना हो रहे हैं हम अपनी समस्याएं किसे सुनाए। आप बैठक की औपचारिकता निभा रहे हैं।

आवंटित 300 बीघा भूमि पर बसेगी कॉलोनियां

बजट अभिभाषण में बताया गया कि राज्य सरकार ने नगर परिषद को कुल तीन सौ बीघा भूमि आवंटित की है, जिसके लिए लम्बे समय से प्रयास चल रहे थे। भूमि आवंटन से न केवल कॉलोनियों का विस्तार हो सकेगा, बल्कि परिषद की आय में भी इजाफा होगा। इसमें से डेढ़ सौ बीघा भूमि पर अहिछत्रपुर कॉलोनी बसाना प्रस्तावित है, जिसका प्लान बनाया जा चुका है। इसी तरह से डेढ़ सौ बीघा भूमि अलग-अलग जगहों पर आवंटित है, जिसे नियमन, खांचा भूमि आवंटन, कब्जा बेदखल व आवंटन आदि प्रक्रिया से राजस्व आय में बढ़ोतरी कर सकेंगे।

वर्तमान का अंतिम और लगातार दसवां बजट अभिभाषण

वर्तमान नगर परिषद बोर्ड का यह पांचवां एवं अंतिम बजट अभिभाषण रहा। आगामी छह माह बाद ही इस बोर्ड का कार्यकाल पूरा होने वाला है। वैसे यह दिलचस्प रहा कि वित्त समिति अध्यक्ष ने लगातार दसवां अभिभाषण पेश किया। वित्त समिति अध्यक्ष मनोहरसिंह लगातार तीसरी बार पार्षद तो बने ही वित्त समिति का दायित्व भी लगातार दूसरी बार उन्हें ही मिला। वे बताते हैं कि भूमि आवंटन होने से परिषद की आय में अब इजाफा होगा। इस लिहाज से गत वर्ष की अपेक्षा दोगुना बजट पेश किया गया है। उधर, बजट बैठक के प्रारंभ में नवनिर्वाचित पार्षद प्रवीण सोलंकी का साफा पहना कर स्वागत किया गया। अंतिम बजट बैठक होने से पार्षदों का आभार जताया।

Jitesh kumar Rawal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned