हनुमान बेनीवाल को यहां मात दे गई कांग्रेस की ज्योति मिर्धा, रालोपा अध्यक्ष रह गए कौसों दूर

हनुमान बेनीवाल को यहां मात दे गई कांग्रेस की ज्योति मिर्धा, रालोपा अध्यक्ष रह गए कौसों दूर

Dinesh Saini | Publish: Apr, 22 2019 04:32:24 PM (IST) Nagaur, Nagaur, Rajasthan, India

चुनावी नतीजे क्या होंगे, ये कहना अभी मुश्किल नजर आता दिख रहा है...

नागौर।

लोकसभा चुनाव 2019 ( lok sabha election 2019 ) में राजस्थान की हॉट सीट बनी नागौर में कांग्रेस की ज्योति मिर्धा ( Jyoti Mirdha ) और एनडीए से रालोपा के हनुमान बेनीवाल ( hanuman beniwal ) के बीच कांटे की टक्कर है। नागौर सीट ( Nagaur Lok Sabha Seat ) पर लोकसभा चुनाव 6 मई को होने है और दोनों ही प्रत्याशी चुनावी प्रचार में अपना पूरा दमखम दिखा रहे हैं। चुनावी नतीजे क्या होंगे, ये कहना अभी मुश्किल नजर आता दिख रहा है। जहां कांग्रेस के समर्थक मिर्धा की जीत की हुंकार भर रहे हैं वहीं बेनीवाल भी नागौर सीट से विजयी होने की बात कह रहे हैं। खैर जो भी हो, लेकिन एक पहलू में कांग्रेस प्रत्याशी हनुमान बेनीवाल से कई गुना आगे हैं।

लोकसभा चुनाव के लिए नामांकन प्रपत्र में दिए गए सम्पति विवरण के अनुसार ज्योति मिर्धा मारवाड़ की पांच सीटों में सबसे ज्यादा आभूषण रखने वाली प्रत्याशी है। आंकड़ों के अनुसार ज्योति मिर्धा के पास कुल 90.5 लाख के गहने है। वहीं हनुमान बेनीवाल इस मामले में पीछे रह गए हैं। उनके पास 3.75 लाख के गहने है और उनकी पत्नी के पास 12 लाख के जेवरात है।

 

ज्योति मिर्धा
नामांकन दाखिल करने के बाद ज्योति मिर्धा ने कहा कि हमने हमारा चुनावी बिगुल बजा दिया है। मिर्धा ने कहा कि वे जनता से पिछले कार्यकाल में करवाए गए विकास कार्यों के नाम पर वोट मांग रही है। मिर्धा ने कहा कि उन्होंने गत कार्यकाल में नागौर में नहर का पानी लाने के लिए जापान से तीन हजार करोड़ लाने, आरओबी स्वीकृत कराने, टाउन हॉल बनवाने, अस्पताल भवन बनवाने में मुख्य भूमिका निभाई थी।

संपत्ति विवरण
65.06 करोड़ रुपए लगभग
नकद: 3.40 लाख रुपए
बैंक जमा : 5.13 करोड़ रुपए
गहने : 2.756 किलो सोना
अचल सम्पत्ति : 27.31 करोड़
निवेश : 16.90 करोड़ लगभग
देयता : 9.71 करोड़ रुपए
आपराधिक केस : कोई नहीं

देश की एकमात्र सीट जहां भाजपा ने किया गठबंधन
नागौर प्रदेश की 25 में से वह एकमात्र ऐसी सीट है, जहां भाजपा ने अपना उम्मीदवार नहीं उतार कर रालोपा से गठबंधन किया है। हालांकि इससे पहले रालोपा व कांग्रेस के गठबंधन और कांग्रेस प्रत्याशी ज्योति के भाजपा में जाने की चर्चाएं भी जोरों पर रही। लेकिन जब कांग्रेस ने ज्योति मिर्धा को टिकट दे दिया, तो भाजपा ने गठबंधन कर नया दावं खेला। कुछ स्थानीय भाजपा नेताओं की ओर से मौजूदा सांसद व केन्द्रीय मंत्री सीआर चौधरी के टिकट की खिलाफत भी इस गठबंधन की नींव बनी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned