सीमेन्ट कम्पनी की मुश्किलें बढ़ी, प्रशासन ने रुकवाया अम्बुजा प्लांट का निर्माण कार्य

सिविल वर्क के नाम पर चल रहे निर्माण कार्य को एसडीएम ने रूकवाया, दिसम्बर 2016 में समाप्त हो चुकी है सीमेंट प्लांट लगाने की समयावधि, सरकार ने नहीं दिया विस्तार

By: shyam choudhary

Published: 07 Jun 2018, 11:20 AM IST

नागौर. जिले के मूण्डवा कस्बे के पास अत्याधुनिक सीमेंट संयंत्र लगाने की तैयारी कर रही सीमेंट कम्पनी अम्बुजा को प्रशासन ने निर्माण कार्य रुकवाकर बड़ा झटका दिया है। बिना अनुमति निर्माण कार्य करवा रही कम्पनी को कलक्टर के निर्देश पर एसडीएम परसाराम टाक ने नोटिस देकर न केवल काम रुकवाया है, बल्कि अब तक करवाए गए कार्य का जवाब भी मांगा है। गौरतलब है कि कम्पनी मूण्डवा में खरीदी गई जमीन पर 4.5 एमटीपीए सीमेंट इकाई और 3 एमटीपीए क्लिंकर संयंत्र स्थापित करने के साथ ही एक 9 मेगावाट वेस्ट हीट रिकवरी बॉयलर इकाई स्थापित करने की तैयारी कर रही है। इसको लेकर पिछले छह महीने से सीमेंट प्लांट के लिए प्रस्तावित जमीन पर हॉस्पिटल, मैस, कर्मचारियों के लिए आवास सहित अन्य बिल्डिंग का निर्माण कार्य चल रहा है, लेकिन सरकार ने कम्पनी को दिसम्बर 2016 के बाद प्लांट लगाने की अनुमति नहीं दी है। हालांकि गत माह जिले के दौरे पर आईं मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने मातासुख माइंस का पानी सीमेंट प्लांट को देने के संकेत दिए थे।

कब-कब बढ़ाई समयावधि

मूण्डवा में सीमेंट प्लांट स्थापित करने के लिए 1 सितम्बर 2006 को इंडो निपोन स्पेशल सीमेंट नामक कम्पनी (वर्तमान में अम्बुजा के पास) के साथ सीमेंट प्लांट स्थापित करने के लिए 31 दिसम्बर 2008 तक प्लांट स्थापित करने की शर्त पर एमओयू किया गया। जिसे सरकार ने 8 जुलाई 2008, 18 नवम्बर 2010, 24 दिसम्बर 2012 तथा 29 जनवरी 2015 को प्लांट स्थापित करने की समयावधि को बढ़ाया गया। प्लांट स्थापित करने की अंतिम समयावधि 31 दिसम्बर 2016 तक बढ़ाई गई थी। उसके बाद कम्पनी ने वापस 31 दिसम्बर 2019 तक समयावधि बढ़ाने की मांग की है, जो पत्रावली अभी सरकार के पास लंबित है।

2 हजार करोड़ के निवेश की तैयारी
मूण्डवा में लम्बे इंतजार के बाद सीमेंट निर्माता कम्पनी अम्बुजा सीमेंट कम्पनी ने गत वर्ष प्लांट शुरू करने के संकेत दिए। कम्पनी मूण्डवा में सीमेंट एवं क्लिंकर निर्माण संयंत्र के विकास पर 2000 करोड़ रुपए का निवेश करने का दावा कर रही है। इस अत्याधुनिक संयंत्र में 4.5 एमटीपीए सीमेंट इकाई और 3 एमटीपीए क्लिंकर संयंत्र स्थापित करने के साथ ही एक 9 मेगावाट वेस्ट हीट रिकवरी बॉयलर इकाई भी स्थापित की जाएगी।

4584 बीघा भूमि ले चुकी कम्पनीसीमेंट प्लांट के लिए पहले चरण में वर्ष 2007 में 1203.13 बीघा जमीन अवाप्त की गई थी। दूसरे चरण में वर्ष 2009 में 999 बीघा जमीन रीको के माध्यम से माइंस (खनन) के लिए अवाप्त की। तीसरे व चौथे चरण में 2381 बीघा 15 बिस्वा जमीन रीको व अंबुजा ने सीधे खरीदी। इस प्रकार कुल 4584 बीघा जमीन कम्पनी खरीद चुकी है। अम्बुजा ने ये जमीन मूण्डवा, ईनाणा, खेण, खेरवाड़, रूपासर, भडाणा, रोल, डिडिया आदि गांवों में खरीदी है।

सरकार उठाए सकारात्मक कदम
मूण्डवा में अम्बुजा सीमेंट का प्लांट लगाने के लिए राज्य सरकार ने उन परिस्थितियों में 10 वर्षों तक समयावधि का विस्तार किया, जब कम्पनी काम ही शुरू नहीं किया था। अब जब कम्पनी ने प्लांट लगाने का मानस बना लिया है और काम शुरू कर दिया है तो सरकार ने अनुमति अटका रखी है। मूण्डवा एवं आसपास गांवों के लोगों के हित को देखते हुए सरकार को सकारात्मक कदम उठाते हुए प्लांट लगाने की अनुमति देनी चाहिए, ताकि स्थानीय लोगों को रोजगार मिल सके।
घनश्याम सदावत, अध्यक्ष, नगरपालिका, मूण्डवा

बिना अनुमति करवा रहे थे काम
अम्बुजा सीमेंट कम्पनी के पास प्लांट लगाने की अनुमति दिसम्बर 2016 तक ही थी। उसके बाद सरकार ने समयावधि नहीं बढ़ाई, लेकिन कम्पनी मूण्डवा में प्लांट का काम करवा रही थी, जिसको लेकर एसडीएम के माध्यम से नोटिस देकर निर्माण कार्य रूकवाया है तथा अब तक करवाए गए काम का कारण पूछा है।
कुमारपाल गौतम, जिला कलक्टर, नागौर

shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned