नगर परिषद में पैसे मांग रहा ठेकेदार, मजदूर छोड़ गए मझधार

नगर परिषद व ठेकेदार की लड़ाई में पीसे जा रहे मजदूर, समय पर नहीं मिल रहा भुगतान, सीवरेज व सीसी रोड निर्माण कार्य अधूरा छोड़ गए, भुगतान मिला तो शुरू किया काम

By: Jitesh kumar Rawal

Published: 12 Nov 2020, 09:05 PM IST

नागौर. शहर में सीवरेज व सीसी रोड निर्माण के कार्य में जुटे मजदूरों की दीपावली फीकी रहने का अंदेशा है। कार्यकारी एजेंसी ने नगर परिषद से भुगतान नहीं मिलने की बात कहते हुए अपने हाथ खड़े कर दिए। नगर परिषद व ठेकेदार की भुगतान वाली लड़ाई में मजदूर पीसे जा रहे हैं, लेकिन उनकी सुनवाई करने वाला कोई नहीं है। समय पर भुगतान नहीं मिलने से मजदूर भी ठेकेदार के कार्य को मझधार में ही छोड़ कर चले गए। कार्य तीन-चार दिन तक बंद रहा, जिससे मजदूरों का पूरा आर्थिक सिस्टम ही गड़बड़ा गया। मालूम हो कि शहर के भीतरी भाग में कुछ समय से सीवरेज व सीसी रोड का निर्माण चल रहा था, जो तीन-चार दिन तक बंद रहा। अधूरे पड़े इस कार्य से लोगों की परेशानी बढ़ी तो जिला कलक्टर तक शिकायत पहुंची। ऐसे में भुगतान मिल गया, जिससे बुधवार से कार्य भी वापस शुरू हो गया। तीन-चार दिन तक अटका रहा यह कार्य अब शायद ही दीपावली से पहले पूरा हो सके। इस सम्बंध में नगर परिषद आयुक्त से जानकारी लेने का प्रयास किया गया, लेकिन उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया।

भुगतान आया तभी काम शुरू किया
बताया जा रहा है कि संकरी गलियों में काम करने के दौरान मजदूरों को पहले भी काफी समस्या हुई थी। इसके बाद लगातार काम किया जाता रहा, ताकि दीपावली से पहले लोगों को राहत मिल सके। लेकिन, भुगतान नहीं मिलने से मजदूरों ने काम करना बंद कर दिया। ठेकेदार के प्रतिनिधि भी नगर परिषद से भुगतान आए बगैर मजदूरों को पैसा देने में असमर्थता जता रहे हैं। ऐसे में नगर परिषद से भुगतान होने पर ही काम शुरू हो सका।

कार्यशैली पर खड़े हो रहे सवाल
अधूरे रह गए कार्य से न केवल नगर परिषद वरन् एजेंसी की कार्यशैली पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं। लम्बे समय से शहर में काम कर रही इस एजेंसी का भुगतान केवल एक बिल पास नहीं होने के कारण ही अटक जाना सोचनीय स्थिति है। वहीं लगातार चल रहे कार्य को लेकर बिल पेश होने के बाद भी भुगतान नहीं करना नगर परिषद की भी बेपरवाही दर्शाता है। चाहे जो हो, लेकिन बिना भुगतान न केवल मजदूरों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा बल्कि शहरवासी भी समस्या झेलते रहे।

मजदूर काम छोड़ गए थे...
दीपावली से पहले सभी को भुगतान चाहिए इसलिए हमने नगर परिषद में बिल पेश कर दिया था। बिल टेबल पर ही है और सप्ताहभर से हिला नहीं है। भुगतान नहीं देने से मजदूर काम अधूरा छोड़ कर चले गए थे। अब भुगतान हो चुका है और मजदूर भी काम पर आ गए। बुधवार से वापस काम शुरू हो गया है। जितना जल्दी हो सकेगा पूरा करने का प्रयास किया जाएगा।
- पवन गुप्ता, कार्यकारी एजेंसी के प्रतिनिधि, नागौर

Jitesh kumar Rawal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned