चोरी की बिजली से हो रहा ‘अमृत’ का काम

Dharmendra gaur | Publish: Oct, 13 2018 01:36:57 PM (IST) Nagaur, Rajasthan, India

नागौर के वार्ड नम्बर 21 में ठेकेदार के श्रमिक कर रहे बिजली चोरी
नागौर. शहर के वार्ड नम्बर 21 में अमृत योजना के तहत किए जा रहे काम के लिए सडक़ तोडऩे ठेकेदार के श्रमिक चोरी की बिजली से ड्रिल मशीन चला रहे हैं। इस संबंध में पार्षद ने शराफत खान ने शुक्रवार को जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपकर ठेकेदार के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की है। पार्षद ने ज्ञापन में लिखा है कि कार्य की गुणवत्ता को लेकर अमृत योजना का काम देख रहे इंजीनियर को फोन करने पर उसने बदतमीजी से बात की व संतोषजनक जवाब भी नहीं दिया। पार्षद का आरोप है कि ठेकेदार अमृत योजना में लाइन बिछाने के लिए सडक़ खोदने के लिए चोरी की लाइट से मशीनरी चला रहा है। पार्षद ने कलक्टर से तत्काल कार्रवाई की मांग की है। गौरतलब है कि अमृत योजना के तहत नागौर शहर में पेयजलापूर्ति की पुरानी लाइनों का बदलने का काम किया जा रहा है।


मिठाई की दुकान से बाल श्रमिक को मुक्त कराया
मानव तस्करी विरोधी एवं गुमशुदा व्यक्ति प्रकोष्ठ ने कार्रवाई करते हुए शुक्रवार को दिल्ली दरवाजा स्थित पुराना बस स्टैण्ड के पास मिठाई की दुकान से एक बाल श्रमिक को मुक्त करवाया। अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस (मानव तस्करी विरोधी) जयपुर के आदेशानुसार व जिला पुलिस अधीक्षक हरेन्द्र कुमार के आदेशानुसार नागौर में संचालित बालश्रम के विरूद्ध 1 से 31 अक्टूबर 2018 तक चलाए जा रहे अभियान के तहत मानव तस्करी विरोधी एवं गुमशुदा व्यक्ति प्रकोष्ठ प्रभारी विद्या मीणा के नेतृत्व में कार्रवाई की गई।


यूं दिया कार्रवाई को अंजाम
हैड कांस्टेबल गुमानाराम, कांस्टेबल मेहराम, श्रीमती पप्पी, श्रीमती कृष्णा, हरिराम ने नागौर के पुराना प्राइवेट बस स्टैण्ड के पास एक मिष्ठान भण्डार से एक बाल श्रमिक को बाल श्रम से मुक्त करवाया। प्रभारी मीणाा के अनुसार बालक के सर्वोतम हित व पुर्नवास के लिए बाल कल्याण समिति नागौर के समक्ष पेश किया। नियोक्ताओं के खिलाफ नियमानुसार कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned