‘शिक्षा से ही समाज का होगा विकास’

‘शिक्षा से ही समाज का होगा विकास’

Pratap Singh Soni | Publish: Aug, 26 2018 06:21:57 PM (IST) Nagaur, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/nagaur-news/

कुचामनसिटी. समाज के सम्पूर्ण विकास के लिए शिक्षा बहुत ही जरूरी है। शिक्षा से ही समाज को नई दिशा मिलेगी और समाज प्रगति की ओर आगे बढ़ेगा। शिल्प व माटी कला बोर्ड के अध्यक्ष हरीशचन्द कुमावत भांवता रोड पर स्थित शिव मन्दिर में शिव मन्दिर समस्त कुम्हारान् पंचायत ट्रस्ट की ओर प्रतिभा एवं भामाशाह सम्मान समारोह में उक् त विचार व्यक् त किए। कार्यक्रम में न्यू मॉर्डन के मोहनलाल दादरवाल ने कहा कि प्रतिभाओं के प्रति अपने दायित्वों का निर्वहन करते हुए ऐसे कार्यक्रमों के आयोजनों से प्रतिभाओं का हौसला अफजाई होता है। आदर्श महाविद्यालय के राजाराम प्रजापति ने कहा कि हर क्रांति में युवाओं की अहम् भूमिका होती है। ईओ किशनलाल कुमावत ने कहा कि आज अपने समाज के बालकों के साथ-साथ बालिकाएं भी परिवार और समाज का नाम रोशन कर रही है। इस मौके पर ट्रस्ट के अध्यक्ष भैंरूराम धुमाणिया, हंसराज कुमावत, सी आर कुमावत, ओमप्रकाश बारवाल, पूर्व सरपंच रामलाल पीपलोदा, घासीराम कुमावत, सत्यनारायण कुमावत, श्रवणलाल पीपलोदा, गिरधारी कुमावत, खेमारा आईथान, सत्यनारायण कुमावत, दुर्गेश मारोठिया सहित बड़ी संख्या में मौजूद रहे। कार्यक्रम में देवीलाल दादरवाल, राजकुमार फौजी, मांगीलाल दादरवाल, नावां के गोपालकृष्ण,पार्षद गोपाल कुमावत, मदनलाल कुमावत, डॉ. के जी कुमावत, बाबूलाल दुबलदिया मंचासीन रहे।

प्रतिभाओं का किया सम्मान
कार्यक्रम के दौरान शैक्षणिक गतिविधियों में अव्वल रही प्रतिभाएं, सरकारी सेवाओं में चयनित प्रतिभाएं, खेलकूद में भूमिका निभाने वाले खिलाडिय़ों सहित 100 से अधिक प्रतिभाओं को प्रशस्ति पत्र एवं स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मान किया गया। इस दौरान करीब 50 से अधिक भामाशाहों का मन्दिर के विकास एवं कार्यक्रम में सहयोग करने पर सम्मान किया गया। मन्दिर में हुए रक्तदान शिविर में समाज के तीन युवाओं की ओर से मरणोपरांत नेत्रदान की घोषणा करने पर उनका सम्मान किया गया। शोभायात्रा की अगुवाई करने वाले भामाशाह खेमाराम आईथान का भी अतिथियों की ओर से सम्मान किया गया।

विद्यार्थियों ने निकाली प्रभात फेरी
लाडनूं. गांव निम्बीजोधा स्थित राजकीय उच्च प्राथमिक संस्कृत विद्यालय पीपलनाड़ी की ढाणी में संस्कृत दिवस मनाया गया। इस मौके पर स्कूल के विद्यार्थियों ने प्रभात फेरी निकाली। कार्यक्रम संयोजक पीयूष शर्मा ने संस्कृत भाषा को सभी भाषाओं की जननी बताया। प्रधानाध्यापक रिड़मल ने कहा कि संस्कृत भाषा से हमारे देश की संस्कृति जुड़ी हुई है। इस मौके पर एसएमसी अध्यक्ष हरजीराम ठोलिया, मंजूरानी, संजीवनी शेखावत, अभयसिंह, प्रभुराम खीचड़, छोटाराम ठोलिया आदि मौजूद थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned