scriptDevotees laid eyelids and paws on Acharya Mahashraman's Didwana Mangal | आचार्य महाश्रमण के डीडवाना मंगल प्रवेश पर भक्तों ने बिछाए पलक-पावड़े | Patrika News

आचार्य महाश्रमण के डीडवाना मंगल प्रवेश पर भक्तों ने बिछाए पलक-पावड़े

डीडवाना. शहर में गुरुवार को जैन श्वेतांबर तेरापंथ धर्मसंघ के ग्यारहवें अधिशास्ता आचार्य महाश्रमण ने अपनी धवल सेना के साथ मंगल प्रवेश किया। आचार्य महाश्रमण प्रवास व्यवस्था समिति के अध्यक्ष सुरेश चन्द चौपड़ा ने बताया कि अहिंसा यात्रा की शुरुआत हुई तब आचार्य महाप्रज्ञ जनवरी, 2005 में डीडवाना आए थे। इस वर्ष अहिंसा यात्रा का समापन हो रहा है तब यात्रा के अंतिम चरण में आचार्य महाश्रमण का डीडवाना में पदार्पण हुआ है।

नागौर

Published: January 13, 2022 07:59:43 pm

-जिसकी भक्ति की भावना प्रगाढ़ हो वह व्यक्ति बड़ा होता है : आचार्य महाश्रमण

-आभानगरी में पहुंचे जैन श्वेतांबर तेरापंथ धर्मसंघ के ग्यारहवें अधिशास्ता आचार्य महाश्रमण
- स्वागत में उमड़ा सर्वसमाज



गुरुवार सुबह साढे नौ बजे आचार्यश्री के शहर में प्रवेश करने पर बैंड बाजों के गूंजते स्वर के साथ स्वागत किया गया। प्रचार प्रसार समिति के अध्यक्ष नगेन्द्र सिंह मोहनोत ने बताया कि आचार्य का जैन समाज सहित सर्व समाज, विभिन्न सामाजिक व खेल संगठनों की ओर से स्वागत किया गया। आचार्य का भव्य जुलूस जिला परिवहन अधिकारी कार्यालय, बच्छराज स्कूल, सैयदों का मोहल्ला, कोट मोहल्ला, चौखंडिया भैरूंजी मंदिर, सदर बाजार, नागौरी गेट, महिला महाविद्यालय होते हुए आचार्य के प्रवास व प्रवचन स्थल अग्रवाल भवन पहुंचा।
इस मौके पर धर्मेन्द्र सिंह मोहनोत ने स्वागत भाषण दिया। महिला मण्डल द्वारा मंगला चरण से कार्यक्रम की शुरूआत की गई। जैन श्वेतांबर तेरापंथी सभा व तेरापंथ कन्या मण्डल द्वारा गीतिका प्रस्तुत की गई, कुलदीपसिंह मोहनोत ने गीतिका प्रस्तुत की। इस मौके पर विधायक चेतन डूडी, नगर पालिकाध्यक्ष रचना होलानी, पूर्व केबिनेट मंत्री यूनुस खान, जितेन्द्रसिंह जोधा, रामाकिशन खींचड़, अग्रवाल समाज के अध्यक्ष गोविंद लाल रुवटिया, मंत्री नितेश बाजारी, डीडवाना विकास परिषद समिति के पूर्व अध्यक्ष शंकरलाल परसावत सहित काफी संख्या में श्रावक श्राविकाएं मौजूद रहे। विधायक चेतन डूडी व नगरपालिका अध्यक्ष, रचना होलानी ने आचार्य के दर्शन कर डीडवाना की ओर से अभिनंदन पत्र श्रीचरणों में समर्पित किए। अग्रवाल समाज ने भी पूज्यचरणों में अभिनंदन पत्र समर्पित किया। इससे पूर्व आचार्य महाश्रमण डीडवाना स्थित बांगड़ कन्या महाविद्यालय पहुंचे। वहां पूर्व मंत्री युनूस खान व महाविद्यालय के प्रबंधक सहित अन्य ने महाविद्यालय के एक ऑडिटोरियम का नाम आचार्यश्री महाश्रमण ऑडिटोरियम करने की घोषणा की। आचार्य महाश्रमण प्रवास व्यवस्था समिति के अध्यक्ष सुरेशचन्द चौपड़ा ने आभार व्यक्त किया।
आचार्य महाश्रमण का डीडवाना मंगल प्रवेश पर भक्तों ने बिछाए पलक-पावड़े
 डीडवाना. शहर के नागौरी गेट से निकलता जुलूस।
श्रावक श्राविकाओं को मंगल उपदेश दिया

अग्रसेन भवन में आचार्य ने वर्चुअल माध्यम से श्रावक श्राविकाओं को मंगल उपदेश दिया गया। परिसर में लगे एलईडी स्क्रीन पर ऑनलाइन जैसे ही आचार्य महाश्रमण दृश्यमान हुए पूरा प्रवचन पंडाल जयघोष से गूंजा उठा। आचार्य ने उपदेश देते हुए कहा कि छदमस्थ अवस्था वाले गृहस्थ से जीवन में गलती हो सकती है, हालांकिसाधु से भी कभी गलती हो सकती है। लेकिन गृहस्थ अवस्था में आदमी से अधिक गलतियां होती है। उन्होंने कहा कि आदमी को अपनी गलतियों का परिस्कार करने का प्रयास करना चाहिए। आदमी अपनी प्रकृति से महान और नीच बनता है। उन्होंने कहा जो आदमी आचरण से विनम्र, क्षमाशील और सहिष्णु होता है, अपने आराध्य के समक्ष दीनता की भावना रखने वाला होता है, जिसकी भक्ति की भावना प्रगाढ हो वह आदमी बड़ा होता है। आचार्य ने कहा कि आज हम अहिंसा यात्रा के साथ डीडवाना आए हैं। उन्होंने आशीष वचन कहते हुए कहा कि डीडवाना की जनता में सद्भावना, नैतिकता और नशामुक्ति का भाव विद्यमान रहे, अच्छे संस्कार और धार्मिकता का अच्छा विकास होता रहे।
दिए मंगल आशीष-

इस दौरान अपने ननिहाल और जन्मभूमि में अपने आराध्य के अभिनंदन पर मुनि गौरवकुमार ने भी अपनी श्रद्धाभिव्यक्ति अर्पित की तो आचार्य ने कहा कि मुनि गौरव का गौरव निरंतर बढ़ता रहे। लम्बे-लम्बे विहार कर गुरुदर्शन को पहुंचे मुनि राजकुमार व मुनि अनुशासनकुमार ने भी श्रद्धाभिव्यक्ति की। इसी क्रम में बर्हिविहार से गुरुकुलवास में पहुंची साध्वी प्रबलयशा आदि साध्वियों ने आचार्य के समक्ष अपनी हर्षाभिव्यक्ति दी तो आचार्य ने उन्हें भी मंगल आशीष प्रदान किया।

आराध्य की अभिवंदना

आचार्य के स्वागत में तेरापंथ महिला मण्डल, तेरापंथ कन्या मण्डल, तेरापंथी सभा, कुलदीप मुणोत व दीपाली लुणिया ने गीत का संगान कर अपने आराध्य की अभिवंदना की। व्यवस्था समिति के सुरेश घोड़ावत, अग्रवाल समाज के मंत्री नितेश बाजारी, धर्मेन्द्र मोहनोत तथा मुनि गौरवकुमारजी की संसारपक्षीया माता सुनीता कोठारी ने भी अपनी हर्षाभिव्यक्ति दी। डीडवाना जैन समाज के बच्चों ने भावपूर्ण प्रस्तुति के माध्यम से अपने गुरुदेव की अभिवंदना की।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Cash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतहो जाइये तैयार! आ रही हैं Tata की ये 3 सस्ती इलेक्ट्रिक कारें, शानदार रेंज के साथ कीमत होगी 10 लाख से कमइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजमां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतShani: मिथुन, तुला और धनु वालों को कब मिलेगी शनि के दशा से मुक्ति, जानिए डेटइन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीराजस्थान में आज भी बरसात के आसार, शीतलहर के साथ फिर लौटेगी कड़ाके की ठंडPost Office FD Scheme: डाकघर की इस स्कीम में केवल एक साल के लिए करें निवेश, मिलेगा अच्छा रिटर्न

बड़ी खबरें

Subhash Chandra Bose Jayanti 2022: महान हस्तियों के इतिहास को सीमित करने की गलतियों को सुधार रहा देश: पीएम मोदीभारत में कम्युनिटी ट्रांसमिशन स्टेज पर पहुंचा ओमिक्रॉन वेरिएंट - केंद्र सरकारUP Assembly Elections 2022 : पलायन और अपराध खत्म अब कानून का राज,चुनाव बदलेगा देश का भाग्य - गृहमंत्री शाहराजपथ पर पहली बार 75 एयरक्राफ्ट और 17 जगुआर का शौर्य प्रदर्शन, देखें फुल ड्रेस रिहर्सल का वीडियोहेट स्पीच को लेकर हिन्दू संगठन पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, कहा-मुस्लिम नेताओं की भी हो गिरफ्तारीअब अहमदाबाद में खेले जाएंगे भारत-वेस्टइंडीज की वन डे सीरीज के सभी मैचयूपी के 8.68 लाख किसानों से योगी सरकार ने खरीदा धान, ₹10,192 करोड़ किया भुगतानMayawati ने Yogi Adityanath को याद दिलाया गोरखपुर का वो बंगला..
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.