डिस्कॉम के तकनीकी कर्मचारी बने ‘बाबू’, आए दिन हो रहे हादसे

जिले सहित प्रदेश भर में फिल्ड के कर्मचारी कार्यालयों में जमे, विधानसभा में खींवसर विधायक ने मांगी सूचना तो अधिकारी जवाब देने से कतराने लगे, अब अजमेर एमडी ने जारी किया फरमान

By: shyam choudhary

Published: 27 Jul 2020, 06:11 PM IST

नागौर. जिले में डिस्कॉम के सैकड़ों तकनीकी कर्मचारी वर्षों से बाबूगिरी कर रहे हैं, जिसके कारण फिल्ड में न केवल व्यवस्था बिगड़ रही है, बल्कि आए दिन विद्युत हादसे भी हो रहे हैं। इसके बावजूद निगम अधिकारियों का कहन है कि कार्यालयों में स्टाफ की कमी के कारण उन्हें मजबूरन तकनीकी स्टाफ से काम करवाना पड़ रहा है।
हालांकि अब अजमेर डिस्कॉम एमडी वीएस भाटी ने डिस्कॉम के सभी अधीक्षण अभियंताओं को यह निर्देश दिए हैं कि सभी तकनीकी कर्मचारियों को फिल्ड में भेजा जाए। कोई भी तकनीकी कर्मचारी अब कार्यालय में काम नहीं करेगा, इसके बावजूद स्थिति में सुधार नहीं हो पाया है।

गौरतलब है कि जिले में पिछले पांच साल में करंट लगने से 180 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि इतने ही पशु भी काल कवलित हुए हैं। विद्युत हादसों की रोकथाम को लेकर गत दिनों अजमेर डिस्कॉम के मुख्य अभियंता मुरारीलाल मीणा ने निर्देश जारी कर उनकी सख्ती से पालना सुनिश्चित करने के लिए कहा था, जिसमें एक यह भी था कि ठेकेदार द्वारा काम कराने पर मौके पर जेईएन या लाइनमैन की उपस्थिति अनिवार्य रहेगी, लेकिन जिले में 100 से अधिक तकनीकी कर्मचारी कार्यालयों में होने के कारण ठेकेदारों को समय पर कर्मचारी नहीं मिलते, ऐसे में वे अकेले ही काम करवाते हैं और फिर हादसे होते हैं।


विधायक बेनीवाल ने मांगी जानकारी का नहीं दिया जवाब
खींवसर विधायक नारायण बेनीवाल गत विधानसभा सत्र के दौरान तारांकित प्रश्न लगाकर इस सम्बन्ध में जानकारी मांगी थी, लेकिन निगम अधिकारियों ने अब तक इसका जवाब तक नहीं दिया है। विधायक ने यह भी जानकारी मांगी कि क्या विद्युत निगम में कार्यरत तकनीकी सहायकों को कार्यालयों में पदस्थापित नहीं किया जा सकता है? यदि हां, तो आदेश की प्रति उपलब्ध करवाएं। उन्होंने नागौर जिले सहित जोधपुर डिस्कॉम के अधीन जोधपुर जिले के अधीक्षण अभियंता, अधिशासी अभियंता व सहायक अभियंताओं के कार्यालयों में कार्यरत तकनीकी सहायक नॉन फील्ड ड्यूटी व कार्यालयों में कार्यरत कार्मिकों की जानकारी मांगी थी।

स्टाफ की कमी है
निगम में स्टाफ की कमी के कारण कुछ स्थानों पर तकनीकी कर्मचारियों को कार्यालयों में लगा रहा है, लेकिन वे भी पूरे समय कार्यालय में नहीं रहते। आधे समय फिल्ड में भी ड्यूटी दे रहे हैं। हमारा प्रयास है कि तकनीकी कर्मचारियों को फिल्ड में ही रखा जाए।
- आरबी सिंह, अधीक्षण अभियंता, डिस्कॉम, नागौर वृत्त

Show More
shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned