डिस्कॉम को प्रतिदिन वसूलने होंगे दस करोड़

- नागौर आए प्रबंध निदेशक कर रहे बकाया वसूली की समीक्षा- अधिकारियों ने दिए शत-प्रतिशत वसूली के निर्देश

नागौर. डिस्कॉम ने अपने अधिकारियों को प्रतिदिन दस करोड़ रुपए की वसूली के निर्देश दिए हैं। ऐसे में बिजली खर्च कर भुगतान करने से बच रहे उपभोक्ताओं पर डंडा भी पड़ सकता है। वसूली कार्य को लेकर अजमेर डिस्कॉम के प्रबंधक निदेशक वीएस भाटी खुद मॉनिटरिंग कर रहे हैं एवं नागौर के दौरे पर रहे। एक-एक उपखंड क्षेत्र का दौरा कर अधिकारियों के कार्यों की समीक्षा की। वसूली कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए।अजमेर विद्युत वितरण निगम के प्रबंध निदेशक ने गुरुवार को नागौर सर्किल के रियां बड़ी, गोटन, मूण्डवा व मेड़ता उपखंड कार्यालयों का दौरा किया। इस दौरान अधिकारियों की समस्याएं सुनी तथा शत-प्रतिशत वसूली को लेकर प्रोत्साहित किया। अधिकारियों की बैठक ली तथा लक्ष्यों के अनुरूप राजस्व वसूली के निर्देश दिए। कार्य की मॉनिटरिंग करते हुए शत-प्रतिशत बकाया वसूली के टिप्स दिए। गुरुवार को नागौर में ही रात्रि विश्राम किया। शुक्रवार को खींवसर समेत जिले के अन्य उपखंडों में दौरा कर वसूली कार्य की समीक्षा की जाएगी। मुख्य अभियंता एनएस निर्वाण, अधीक्षण अभियंता (ऑडिट) एसएन शर्मा, नागौर अधीक्षण अभियंता आरके सिंह, अधिशासी अभियंता एसके गुप्ता समेत अन्य अधिकारी साथ रहे।अभी तक वसूलने है 134 करोड़जिले में अभी तक 134 करोड़ रुपए की वसूली बकाया है। मार्च क्लोजिंग को देखते हुए प्रतिदिन दस करोड़ रुपए वसूलने पर ही यह लक्ष्य हासिल किया जा सकता है। लक्ष्यों की पूर्ति को लेकर अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए। स्थानीय स्तर पर वसूली कार्य में आ रही समस्याएं सुनी। साथ ही सामूहिक रूप से प्रयास करते हुए बकाया वसूलने के निर्देश दिए।इसलिए प्रतिदिन का लक्ष्य तय कियाअधिकारी बताते हैं कि वित्तीय वर्ष समाप्ति की ओर है, लेकिन भारी-भरकम राशि बकाया है। समय पर लक्ष्यों की पूर्ति के लिए जोर-शोर से कार्य करना होगा। इसके लिए स्थानीय स्तर पर योजना बनाई गई है। अवकाश के दिन भी कार्य किया जा रहा है। बकाया वसूली के लिए प्रतिदिन का लक्ष्य निर्धारित किया है, ताकि समय पर कार्य पूर्ण करते हुए शत-प्रतिशत लक्ष्य हासिल कर सके।

Jitesh kumar Rawal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned