जिला कलक्टर पहुंचे गांवों, मनरेगा स्थल का औचक निरीक्षण

सामुदायिक स्वच्छता कॉपलेक्स, राजकीय चिकित्सा संस्थान व उचित मूल्य की दुकान का भी निरीक्षण

By: shyam choudhary

Published: 03 Jul 2021, 10:57 PM IST

नागौर. जिला कलक्टर डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी ने शनिवार को ग्रामीण क्षेत्रों का दौरा करते हुए मनरेगा कार्यस्थल, चिकित्सा संस्थान, सामुदायिक स्वच्छता कॉम्पलैक्स सहित पेयजल व्यवस्था का औचक निरीक्षण किया और अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए।
जिला कलक्टर डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी ने गंठिलासर ग्राम पंचायत क्षेत्र में राजकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का औचक निरीक्षण करते हुए वहां चिकित्सा व्यवस्थाओं का जायजा लिया। यहां जिला कलक्टर ने कोरोना वैक्सीनेशन सत्र का भी जायजा लिया और प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ. नथमल पंवार से पीएचसी में उपलब्ध चिकित्सा सुविधाओं की प्रगति रिपोर्ट ली।
इसके बाद जिला कलक्टर गंठिलासर गांव में मनरेगा कार्यस्थल पर पहुंचे। यहां पर पाई गई अव्यवस्थाओं के चलते जिला कलक्टर ने ग्राम विकास अधिकारी को 17 सीसी के तहत नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। इस मामले में ग्राम रोजगार सहायक को भी नोटिस जारी करने के निर्देष दिए गए। गंठिलासर के बाद जिला कलक्टर डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी टांकला ग्राम पंचायत पहुंचे। यहां उन्होंने जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जवाहर चौधरी के साथ ग्राम पंचायत मुख्यालय पर बने सामुदायिक स्वच्छता कॉम्लैक्स का निरीक्षण किया और वहां की स्वच्छता संबंधी व्यवस्थाओं को संतोषजनक बताया। डॉ. सोनी ने यहां पानी-बिजली की व्यवस्थाओं का भी जायजा लिया। जिला कलक्टर ने टांकला ग्राम पंचायत मुख्यालय पर ही उचित मूल्य की दुकान का निरीक्षण किया। यहां उन्होंने उचित मूल्य दुकान के अनुज्ञापत्रधारी गणेशाराम द्वारा पोश मशीन के जरिए गेहूं की वितरण व्यवस्था का जायजा लिया, जो संतोषजनक पाई गई। इस दौरान जिला कलक्टर ने गेहूं लेने आए राशनकार्ड धारक कालूराम से भी बातचीत की। उन्होंने अनुज्ञापत्रधारी गणेशाराम को उचित मूल्य की दुकान का रंगरोगन करवाने का निर्देश दिया।
इसके बाद जिला कलक्टर डॉ. सोनी ने टांकला ग्राम पंचायत मुख्यालय पर ही स्थित जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के ओवरहैड टैंक का निरीक्षण किया और यहां से पेयजल वितरण व्यवस्था के बारे में पूर्ण जानकारी ली। निरीक्षण के दौरान मौजूद जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अभियंता ने जिला कलक्टर को बताया कि ग्राम पंचायत पंचायत पीएण्डटी एवं नहरी पीएसपी योजना से लाभान्वित है। यहां निर्मित ओवरहैड टैंक से टांकला ग्राम सहित सियागों की ढाणी, हमीराणा, अहमदपुरा, डेहरू, गिरावण्डी, जोरावरपुरा एवं गुडिया ग्राम को पेयजल वितरण किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त यहां पर तीन नलकूप विभिन्न ढाणियों में निर्मित है और जाजड़ों की ढाणी में सोलर डीएफयू कार्यरत है। निरीक्षण के दौरान जिला कलक्टर ने टांकला ग्राम पंचायत के सरपंच से वार्ता की तो उन्होंने पेयजल व्यवस्थाओं को संतोषप्रद बताया। जिला कलक्टर के निरीक्षण के दौरान विकास अधिकारी कालूराम मीणा, स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के जिला समन्वयक देव किशन जोशी भी मौजूद रहे

उपखण्ड अधिकारियों ने भी अपने-अपने क्षेत्र में निरीक्षण
जिला कलक्टर डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी के निर्देषानुसार जिले में उपखण्ड अधिकारियों व तहसीलदारों ने भी चिकित्सा संस्थानों पर संचालित कोरोना टीकाकरण सत्रों, मनरेगा कार्यस्थलों, सामुदायिक स्वच्छता कॉम्लेक्स व इंदिरा रसोई आदि जन कल्याणकारी सेवाओं का जायजा लिया। लाडनूं के उपखण्ड अधिकारी अनिल कुमार ने लाडनूं शहर में ही कोरोना टीकाकरण सत्र का निरीक्षण करने के साथ-साथ इंदिरा रसोई का निरीक्षण किया। उपखण्ड अधिकारी नावां ब्रह्मलाल जाट ने सीएचसी नावां में कोरोना वैक्सीनेषन, मारोठ ग्राम पंचायत क्षेत्र में मनरेगा कार्यसिल का निरीक्षण किया। मेड़ता के तहसीलदार छत्रसिंह ने पीएचसी गगराना तथा नागौर के तहसीलदार सुभाषचंद्र ने पीएचसी कुम्हारी, तहसीलदार उमाराम ने लाडनूं, तहसीलदार पी.आर. पूनिया ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मूण्डवा, तहसीलदार घनष्याम कड़वा ने परबतसर के बागोट व पीपलाद में कोरोना टीकाकरण सत्रों व नरेगा स्थल का निरीक्षण किया। इसी प्रकार रियांबड़ी के उपखण्ड अधिकारी सुरेश कुमार ने भी ग्रामीण क्षेत्रों के मनरेगा कार्यस्थलों का निरीक्षण किया।

shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned