जिला कलक्टर ने कहा- कोरोना को भगाएं, बेटियों को आगे बढ़ाएं

Beti Bachao - Beti Padhao campaign, ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ व कोरोना जागृति अभियान पर संगोष्ठी

By: shyam choudhary

Updated: 01 Jul 2020, 12:22 PM IST

नागौर. जिला कलक्टर दिनेश कुमार यादव ने कहा कि बेटियों को खूब पढ़ाएं और आगे बढ़ाएं। बेटियां अनमोल हैं, वे दो परिवारों को भविष्य सुधारती हैं। इसलिए कन्या भू्रण हत्या पर पूर्णत: रोक लगे, इसके लिए आम आदमी को आगे आना होगा। इसके साथ-साथ हमें कोरोना जैसी विश्वव्यापी महामारी से दो-दो हाथ करते हुए उसे दूर रखना होगा, जरूरी है इसके लिए निर्धारित गाइडलाइन का पालन करें और आमजन को जागरूक भी करें।

जिला कलक्टर ने कहा कि पत्रकार समाज के प्रहरी हैं, उन्हें बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान तथा कोरोना जागरुकता अभियान का अगुआ बनकर काम करना चाहिए। यादव ने कहा कि नागौर का पत्रकार समाज इन दोनों ही अभियान में सरकार व प्रशासन का हर कदम पर साथ दे रहा है, इसके लिए वह साधुवाद का पात्र हैं।
कलक्टर यादव ने कहा कि समाज को प्रगति के पथ पर आगे ले जाना है तो हमें बेटियों की सुरक्षा हर हाल में करनी होगी। बेटियां पूजनीय रही हैं और इन्हें कुरीतियों से दूर रखें और पढ़ा-लिखाकर आगे बढ़ाएं। कलक्टर ने कन्या भू्रण हत्या के विरूद्ध पीसीपीएनडीटी एक्ट को और अधिक प्रभावशाली बनाने की बात कही।

समाज में एसएमएस मंत्र की पालन करें - कश्यप
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुकुमार कश्यप ने कहा कि बेटी बचाओ अभियान में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग पूरी सक्रियता से काम कर रहा है। विभाग की पीसीपीएनडीटी सेल नियमित रूप से सोनोग्राफी सेंटरों की जांच करने का काम कर रही है, साथ ही वहां गर्भवती महिलाओं को जागरूक करने के लिए पीसीपीएनडीटी एक्ट की सामान्य जानकारी देने वाली प्रचार-प्रसार सामग्री भी चस्पा कर रखी है। डॉ. कश्यप ने कहा कि कोरोना के संक्रमण काल में अब तक आए पॉजिटिव मरीजों में एक्टिव केस का आंकड़ा 42 ही रहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना से बचना है तो समाज में एसएमएस (सोशियल डिस्टेसिंग, मास्क और सेनेटाइजेशन) मंत्र की पालन करें और आमजन को भी इसके प्रति जागरूक रखें।

गांव-ढाणी स्तर तक फैलाई जागरुकता
महिला एवं बाल विकास विभाग के उप निदेशक दुर्गासिंह उदावत ने कहा कि बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान तथा कोरोना के संक्रमण से बचाव को लेकर चलाए जा रहे जागरुकता अभियान में गांव-ढाणी स्तर तक आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने सक्रियता से काम किया है। वर्तमान में राज्य सरकार की ओर से चलाए जा रहे कोरोना से बचाव-जागरुकता अभियान में भी महिला पर्यवेक्षकों के निर्देशन में रंगोली सजाने से लेकर आमजन तक मुख्यमंत्री की अपील पहुंचाने तक में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने बेहत्तरीन काम किया है। महिला अधिकारिता विभाग के उप निदेशक अशोक गोयल ने स्वागत भाषण में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान की मूल रूपरेखा पर प्रकाश डाला। उन्होंने कार्यशाला में आए पत्रकार बंधुओं से भी इस अभियान को लेकर अपने विचार साझा किए और इस मुहिम को और प्रभावशाली बनाने के लिए सुझाव भी लिए।

कार्यशाला में राजस्थान पत्रिका, नागौर संस्करण के संपादकीय प्रभारी रुद्रेश शर्मा, पत्रकार संघ के जिलाध्यक्ष रमेश जैन, पत्रकार युनूस गैसावत, विकास व्यास तथा रामकिशोर राव ने भी बेटी बचाओ अभियान तथा कोरोना से बचाव-जागरुकता अभियान को कैसे सफल बनाया जा सकता है, इस पर अपने सुझाव दिए।

shyam choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned