scriptDistrict Development Coordination and Monitoring Committee meeting | Video : गलती हो गई तो स्वीकार करें, फांसी नहीं देंगे, लेकिन सुधार हो : सांसद बेनीवाल | Patrika News

Video : गलती हो गई तो स्वीकार करें, फांसी नहीं देंगे, लेकिन सुधार हो : सांसद बेनीवाल

7 घंटे चली दिशा की बैठक में विकास कार्यों में भ्रष्टाचार के मुद्दों पर समिति के अध्यक्ष सांसद हनुमान बेनीवाल ने दिखाई सख्ती

सांसद ने कहा - सीईओ जवाहर चौधरी ने तबादला होने के बाद 100 करोड़ की स्वीकृतियां क्यों निकाली, इसकी जांच हो

नागौर

Updated: May 10, 2022 01:12:17 pm

नागौर. जिला परिषद सभागार में सोमवार को सांसद हनुमान बेनीवाल की अध्यक्षता में आयोजित जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) की बैठक सात घंटे तक चली। इस दौरान राज्य एवं केन्द्र सरकार से जुड़ी योजनाओं व विकास कार्यों की प्रगति के साथ विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हुई। बैठक के अंत में सांसद बेनीवाल ने कहा कि बिना खाना खाए सभी सदस्यों एवं अधिकारियों ने हर मुद्दे पर चर्चा की और समाधान के प्रयास किए यह सराहनीय। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि यदि किसी काम में गलती या देरी हो गई हो तो उसे स्वीकार करें, बहस करने से बैठक लम्बी होती है। गलती स्वीकार करने पर कोई फांसी नहीं हो जाएगी, लेकिन इस बात का भी ध्यान रखें कि आगे इस प्रकार की गलती दुबारा नहीं हो। उन्होंने कहा कि बैठकों में जिन मुद्दों पर चर्चा होती है, वह काम हो, अधिकारी गलत तथ्य नहीं बताएं, बल्कि उनका हल निकालें। अन्यथा ऐसी बैठकों का कोई औचित्य नहीं है, समय खराब क्यों करें।
District Development Coordination and Monitoring Committee meeting
District Development Coordination and Monitoring Committee meeting
हमारा प्रयास नागौर का विकास
सांसद ने कहा कि हमारा प्रयास नागौर का विकास करना है, आम आदमी को योजना का लाभ मिले और सरकार द्वारा दिए जाने वाले पैसे का सदुपयोग हो। उन्होंने विभिन्न विभागों में बढ़ रहे भ्रष्टाचार को लेकर काफी नाराजगी जताई, कहा कि भ्रष्टाचार करने वालों को वे छोड़ेंगे नहीं। सांसद ने कहा कि जिला परिषद के पूर्व सीईओ जवाहर चौधरी ने तबादला होने के बाद तीन दिन में 100 करोड़ की स्वीकृतियां निकाल दी। ऐसी क्या जल्दी थी कि तबादला होने के बाद भी 100 करोड़ की स्वीकृतियां निकालनी पड़ी। उन्होंने जिला कलक्टर से कहा कि इसकी बिन्दुवार जांच हो तथा एक जांच एसीबी से कराने के लिए समिति का प्रस्ताव भेजा जाए। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार मुक्त नागौर बनाने के लिए शुरुआत हमें ही करनी होगी।
विधायक हुए निष्क्रिय, सांसद हुए नाराज

साढ़े पांच माह बाद हुई दिशा की बैठक में खींवसर विधायक नारायण बेनीवाल के अलावा एक भी विधायक नहीं पहुंचा। गत दिनों हुई जिला परिषद की बैठक में भी खींवसर व मेड़ता विधायक ही आए। जिन बैठकों में जनता से जुड़ी हुई योजनाओं पर चर्चा होती हैं, उनसे विधायकों की दूरी चर्चा का विषय बनी हुई है। इसे लेकर सांसद बेनीवाल ने भी गहरी नाराजगी जताई तथा कहा कि यह दुर्भाग्य है कि दस में से एक विधायक आए हैं।
भ्रष्टाचार में प्रतिस्पर्धा मत करो

बैठक में आए दिन होने वाले विद्युत हादसों को लेकर चर्चा होने लगी तो खींवसर विधायक ने कहा कि जीएसएस पर बकरी चराने वाले को लगा दिया। हादसा नहीं होगा तो क्या होगा। आए दिन करंट से ठेके पर लगे लोग मर रहे हैं, इसके लिए निगम के अधिकारी भी जिम्मेदार हैं, क्योंकि उन्होंने ठेकेदार की एमबी भरी है, इसलिए उनके खिलाफ भी कार्रवाई हो। खींवसर क्षेत्र में पिछले कई सालों से घटिया सामग्री के चलते बंद पड़े बिजली लाइनों के कार्यों को लेकर सांसद ने कहा कि स्थिति यह है कि जांच किससे करवाएं। निगम के अधिकारी तो भ्रष्टाचार के रिकॉर्ड तोड़ रहे हैं। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि आप भ्रष्टाचार में प्रतिस्पर्धा मत करो। इसके बाद उन्होंने खींवसर एसडीएम को साथ लेकर पूरे मामले की जांच सात दिन में पेश करने के निर्देश दिए।
अडक़सर सरपंच बोली - रोजगार सहायक गाली-गलौच करते हैं

दिशा की सदस्य अडक़सर सरपंच मनीषा ने कहा उनकी ग्राम पंचायत के रोजगार सहायक तनसुख बिजारणिया उनके साथ गाली गलौच करते हैं। वीडीयो पोकरमल ढाका भी मनमानी करते हैं। इस पर सांसद ने गंभीरता दिखाते हुए कहा कि एक महिला सरपंच के साथ इस प्रकार का बर्ताव बर्दाश्त नहीं होगा। उन्होंने कलक्टर को निर्देश दिए कि दोनों को निलंबित करके मुख्यालय नागौर करें। सरकार चाहे किसी की हो, जनप्रतिनिधियों का अपमान सहन नहीं होगा। गुंडागर्दी नहीं चलने देंगे।
प्रताडि़त एईएन ने जेब में सुसाइड नोट डाल लिया है

सदस्य जगदीश सिंह ने कहा कि लाडनूं में अच्छा काम करने के बावजूद अनुसूचित वर्ग के पीएचईडी के एईएन को एक्सईएन द्वारा प्रताडि़त किया जा रहा है। वे इतना प्रताडि़त हो चुके हैं कि अब उन्होंने सुसाइड नोट जेब में डाल लिया है। इस पर सांसद व जिला कलक्टर ने गंभीरता दिखाते हुए कहा कि इस पूरे मामले की जांच एडीएम स्तर के अधिकारी से तीन दिन में करवाई जाएगी और दोषी के खिलाफ कार्रवाई होगी।
क्यों झूठे बिल उठा रहे हो

बैठक में गांवों को ओडीएफ घोषित करने को लेकर सदस्यों ने सवाल खड़े किए। सदस्य बीएल भाटी ने कहा कि गलत तरीके से ग्राम पंचायतों को ओडीएफ घोषित कर दिया है। प्रत्येक गांव में आज भी 25 प्रतिशत घरों में शौचालय नहीं हैं। विधायक बेनीवाल ने कहा कि रेंडम सर्वे में साबित हो चुका है, इसमें विभाग की शत-प्रतिशत नाकामी रही है, लेकिन अब इसे सुधारा जाए। अब वंचितों की सूची मंगवाएं और उनके शौचालय बनाएं। सदस्य जगदीश सिंह ने कहा कि प्रशासन गांवों के संग अभियान में ओडीएफ पर भी ध्यान दिया जाए। गत बैठक की पालना रिपोर्ट में सम्बन्धित अधिकारी ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत अलग-अलग मद में खर्च हुए बजट के बारे में बताया तो जिला प्रमुख भागीरथराम चौधरी चौंक गए। बोले - प्रचार प्रसार पर 2 करोड़ खर्च कर दिए, कहां किया प्रचार-प्रसार। क्यों झूठे बिल उठा रहे हो। धरातल पर काम कुछ नहीं हुआ।
गांवों की सफाई व्यवस्था पर ध्यान देना होगा

समिति सदस्य सुनीता रांदड़ ने कहा कि गांवों में सफाई व्यवस्था चरमराई हुई है। केवल शौचालय बनाने से स्वच्छ भारत नहीं बनेगा। पिछली बार भी यह मुद्दा उठा था, लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया। जिला प्रमुख ने चौधरी ने कहा कि जहां स्वच्छ भारत का बोर्ड लगा है, वहीं कचरा पड़ा है। इस पर सांसद बेनीवाल ने कहा कि समिति की ओर से एक प्रस्ताव तैयार किया जाए, जिसमें गांवों में बने सामुदायिक शौचालयों की सफाई के लिए एक व्यक्ति लगाने के लिए सरकार को लिखें। उन्होंने कहा कि इससे रोजगार भी मिलेगा और सफाई व्यवस्था भी सुधरेगी।
लोगों को परेशान मत करो

सांसद ने डिस्कॉम एसई से कहा कि आप लोग गलत वीसीआर भर देते हो और फिर आधे पैसे जमा कराने पर अड़ जाते हैं, आप कोई भगवान नहीं हो। जब एमडी व मंत्री ने लिख दिया तो आपको क्या दिक्कत है। यह भी हो सकता है कि किसी अधिकारी ने जानबूझकर अधिक वीसीआर भरी हो। लोगों को परेशान मत करो। सदस्य जगदीश खोजा ने कहा कि उनके गांव में ट्यूबवैल का कनेक्शन करने के लिए फाइल लगाई, लेकिन डिस्कॉम अधिकारियों ने चार महीने से डिमांड नोटिस निकाला है। यह हालात हैं।
ब्लाइंड मर्डर का खुलासा करें

बैठक में सांसद बेनीवाल ने कानून व्यवस्था को लेकर एसपी राममूर्ति जोशी से कहा कि कुचामन के रश्मि गौड़ हत्याकांड, डिस्कॉमकर्मी किरण शर्मा हत्याकांड, श्रीबालाजी थाना अधिकारी की हत्या सहित जिले के दर्जनों ब्लाइंड मर्डर से जुड़े मामलों का खुलासा करें। साथ ही जिले में हो रही चोरियों के प्रकरणों में भी जल्द खुलासा करते हुए बढ़ते नशे के कारोबार पर लगाम लगाएं। इस पर एसपी जोशी ने समुचित कार्रवाई का आश्वाासन दिया।
पत्रकारों कॉलोनी का उठा मुद्दा

सांसद बेनीवाल ने पत्रकार कॉलोनी में पत्रकारों को आवंटित भूखंडों से जुड़ी समस्या का समाधान करने के लिए नगर परिषद आयुक्त श्रवणराम को निर्देश दिए। साथ ही शहर में प्रतिबंधित श्रेणी की भूमि पर जारी पट्टों की वस्तुस्थिति तलब करके गलत रूप से जारी पट्टों को निरस्त करने के निर्देश दिए। वहीं शहर में सीवरेज, पेयजल व सौंदर्यीकरण से जुड़े मामलों पर भी चर्चा की। साथ ही कहा कि शहर में एक हजार करोड़ की कस्टोडियम भूमि है, जिसे सरकार अपने कब्जे में लें। हम यूं ही किसी को करोड़ों रुपए की जमीन नहीं बांट सकते। बैठक में विधायक नारायण बेनीवाल ने कांग्रेस कार्यालय के पास दो सरकारी आवासों के बीच निजी व्यक्ति को दिए गए भूखंड का मुद्दा उठाते हुए जांच की मांग की। नागौर नगर परिषद की सभापति मीतू बोथरा ने कलक्ट्रेट के सामने बिजली लाइनों को भूमिगत करने की मांग की।
इन मुद्दों पर भी हुई चर्चा

- बैठक में फसल बीमा योजना के तहत किसानों को पूरा क्लेम नहीं मिलने, बैंकों व कम्पनी की गलती से गलत जानकारी भरने से वंचित रहे किसानों की पीड़ा को भी विधायक व सांसद ने प्रमुख से रखा तथा कम्पनी प्रतिनिधियों से जवाब तलब किया।
- सांसद बेनीवाल ने कलक्टर को सडक़ दुर्घटनाओं में घायल होने वाले पशुओं-पक्षियों को बचाने के लिए एम्बुलेंस 108 की तर्ज पर रेस्क्यू की व्यवस्था करने के लिए प्रस्ताव तैयार कर सरकार को भिजवाने के निर्देश दिए।
- जिले में पेयजल वितरण की व्यवस्थाओं को सुचारू करने, नहरी पानी से वंचित ढाणियों को जोडऩे व जल जीवन मिशन के क्रियान्वयन को लेकर हो रही देरी पर सांसद ने नाराजगी जाहिर की।
- नागौर शहर के बाहर रिंग रोड के घटिया निर्माण की जांच राज्य स्तर से करवाने व दुर्घटनाओं से जुड़े ब्लैक स्पॉट चिह्नित करके उन्हें दुरस्त करने, संखवास कस्बे में सार्वजनिक निर्माण विभाग द्वारा बनाई गई सडक़ में बरती गई अनियमितता की जांच करने के निर्देश दिए।
- विद्यालयों के जर्जर कमरों की मरम्मत के प्रस्ताव भिजवाने एवं सरकारी स्कूलों व खेल मैदानों के ऊपर से गुजर रही हाई टेंशन लाइनों को जल्द से जल्द शिफ्ट करवाने के निर्देश दिए।

- जल जीवन मिशन के तहत पेयजल लाइनें बिछाने के लिए ठेकेदार द्वारा जेसीबी से तोड़ी जाने वाली सीसी सडक़ों को लेकर सदस्यों ने विरोध जताया। इस पर कलक्टर ने कहा कि स्पष्ट आदेश हैं, कि सड़क की कटिंग कटर से होगी। यदि कोई ठेकेदार ऐसा नहीं कर रहा है तो उसके खिलाफ कार्रवाई करेंगे।
बैठक में पत्रिका के मुद्दे छाए रहे

बैठक में राजस्थान पत्रिका द्वारा गत दिनों में उठाए गए मुद्दे छाए रहे। सांसद सहित विधायक बेनीवाल व सदस्यों ने आंगनबाड़ी केन्द्रों में पोषाहार वितरण नहीं होने, जीएसएस पर अनाड़ी कार्मिकों को लगाने, फसल बीमा योजना में कम्पनी की मनमानी आदि मुद्दों को प्रमुखता से उठाया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

दिल्ली में बढ़ी MLA की सैलरी, जानिए सबसे ज्यादा किस राज्य में है विधायकों का वेतनPresident Election :ममता बनर्जी अचानक द्रौपदी मुर्मू की वकालत क्यों कर रहीं?मुजफ्फरनगर के बहुचर्चित बड़कली मोड़ सामूहिक हत्याकांड में 16 को उम्रकैद, एक परिवार के 8 लोगों को उतारा था मौत के घाटAmravati Murder Case: नूपुर शर्मा के सपोर्ट में व्हाट्सएप स्टेटस लगाने वालों को मिली जान से मारने की धमकी, उमेश कोल्हे की हुई थी हत्याIND vs ENG, 5th Test Match Day 4 Live Scorecard: ऋषभ पंत 57 रन बनाकर आउटDelhi News Live Updates: दिल्लीः जोर बाग मेट्रो स्टेशन पर ट्रेन के सामने कूदकर महिला ने दी जानAADHAR CARD भी होता है एक्सपायर, जानिए कैसे चेक करें कार्ड की वैलिडिटीनौकरशाहों की कमी से जूझ रही गहलोत सरकारः 16 आईएएस केंद्र में प्रतिनियुक्ति पर, आधा दर्जन अधिकारी जाने की तैयारी में
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.