रोडवेज में नहीं बरसा धन, वेतन का इंतजार कर रहे कार्मिक

धन तेरस को भी तरस गए, भुगतान नहीं मिलने से फीकी दीपावली, दो माह से चल रहा था बकाया, नवम्बर में मिला है सितम्बर का भुगतान

By: Jitesh kumar Rawal

Published: 17 Nov 2020, 08:17 PM IST

नागौर. धनतेरस के बावजूद रोडवेज में धन नहीं बरसा। कार्मिकों को वेतन और पेंशनर को पेंशन नहीं मिल पाई है। वेतन की बाट जोह रहे कार्मिकों के लिए यह दीपावली फीकी रहने के आसार है। कार्मिक पिछले दो माह से यही स्थिति झेल रहे हैं। राशि दो माह से बकाया चल रही है, लेकिन न तो भुगतान हो रहा है और न राहत मिल रही है। हालांकि सितम्बर माह का भुगतान आ चुका है, लेकिन वह भी नवम्बर में ही मिला। अक्टूबर का वेतन व पेंशन अब भी बकाया है। ऐसे में रोडवेजकर्मी अपनी दीपावली किस तरह मनाएंगे यह सोचा जा सकता है।

न वेतन मिला और न बोनस
बजट के अभाव में कार्मिकों को वेतन जारी नहीं हो पाया। बिना वेतन वे माहभर किसी तरह गुजार सकते हैं, लेकिन त्योहार में घर खर्च भी बढ़ जाता है। इन दिनों में ज्यादा पैसों की जरूरत रहती है, जो वेतन व बोनस से पूरी हो जाती है। लेकिन इस बार न वेतन मिला और न बोनस।

धराशायी हो रही उम्मीद
कार्मिक बताते हैं कि समय पर वेतन मिलने की उम्मीद थी, ताकि त्योहारी खरीद कर सके। लेकिन, ऐसा नहीं हो पाया। नए कपड़े, मिठाई, आतिशबाजी, पूजा सामग्री और अन्य जरूरी सामान की खरीदारी तो करनी ही करनी है। ऐसे में बजट भी चाहिए, लेकिन उम्मीद धराशायी हो रही है।

नेग नहीं देने की रहेगी पीड़ा
सेवारत कार्मिक वेतन नहीं मिलने से परेशान है वही सेवानिवृत्त को पेंशन नहीं मिली है। एक पेंशनर ने बताया कि त्योहार से पहले पेंशन आने पर काफी सम्बल मिलता है। त्योहारी खरीद में उनकी पेंशन का भी बड़ा हिस्सा खर्च होता है, ताकि परिवार की जरूरतों को पूरा कर सके। साथ ही पर्व पर धोक लगाने आते बच्चों को नेग देने का रिवाज है, लेकिन इस बार केवल आशीर्वाद से ही काम चलाना पड़ेगा।

फैक्ट फाइल


आगार मेें कार्मिक- 295
वेतन- 81 लाख लगभग
पेंशन- करीब 11 लाख

(आंकड़े मासिक, स्रोत: रोडवेज)

Jitesh kumar Rawal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned