खोला लाइसेंस पर लगा ब्रेक, टेस्ट के लिए खुले कम्प्यूटर ट्रेक

परिवहन विभाग कार्यालयों में दो माह बाद प्रक्रिया शुरू, नई गाइडलाइन के तहत पेंडिंग आवेदनों का प्राथमिकता से निस्तारण

By: Jitesh kumar Rawal

Published: 26 May 2020, 07:05 PM IST

जीतेश रावल
नागौर. ड्राइविंग लाइसेंस की बाट जोह रहे लोगों की उम्मीद पूरी होने लगी है। कोरोना काल में परिवहन विभाग (DTO NAGAUR) ने लाइसेंस प्रक्रिया को बंद कर रखा था। लाइसेंस बनाने पर लगा ब्रेक खुल चुका है। टेस्ट के लिए कम्प्यूटर भी शुरू कर दिए हैं। हालांकि पूरा काम सरकारी गाइड लाइन के तहत किया जा रहा है, लेकिन दो महीनों से अटा लाइसेंस कार्य शुरू होने से आवदकों में खुशी है। इस सम्बंध में हाल ही में आदेश जारी हुए हैं। लाइसेंस के लिए अलग से गाइड लाइन तय की है। इसके तहत लॉक डाउन से पहले एवं लॉक डाउन के दौरान बुक किए स्लॉट्स का निस्तारण किया जा रहा है। स्लॉट में पूर्व निर्धारित संख्या के बजाय एक तिहाई आवेदकों को ही बुलाया जा रहा है। लिहाजा स्लॉट्स को रिशेडयूल किया जा रहा है और इसकी सूचना आवेदकों को एसएमएस से दी जा रही है। लाइसेंस जारी किए जा रहे हैं।

कार्य समय बढ़ाने के निर्देश
कार्यालयों में लाइसेंस सम्बंधी पैंडेंसी निपटाने के लिए विशेष प्रयास किए जा रहे हैं। गाइड लाइन के तहत कार्यालयों का कार्य समय बढ़ाया जा रहा है। स्लॉट निपटारे के लिए सुबह नौ से शाम छह बजे तक कार्य समय बढ़ाया जाएं, ताकि स्लॉट की उपलब्धता बढ़ाई जा सके। साथ ही शनिवार को भी लाइसेंस सम्बंधी कार्य नियमित रूप से किया जाएं।

टच नहीं करेंगे टच स्क्रीन
लर्निंग लाइसेंस के लिए कम्प्यूटर टच स्क्रीन पर यातायात टेस्ट लिया जाता है, लेकिन वह टेस्ट विभागीय अधिकारी या कार्मिक ही लेंगे। आवेदक को निश्चित दूरी से विकल्प बताना होगा। स्क्रीन के पास नियुक्त कार्मिक बटन को टच कर विकल्प दबाएगा। आवेदकों को टच स्क्रीन को टच करने की अनुमति नहीं होगी। सहयोग करने वाले कार्मिक को मास्क, दस्ताने आदि पहनने की व्यवस्था करनी होगी। कार्यालय के विभिन्न हिस्सों को प्रतिदिन सेनेटाइज भी किया जाएगा।

करने होंगे एहतियात के उपाय
- लाइसेंस भवन व कार्यालय में केवल एक आवेदक को ही मिलेगा प्रवेश
- सभी के लिए हैंड सेनेटाइजर से हाथ धुलाई की व्यवस्था एवं मास्क लगाना अनिवार्य
- कार्यालय में थर्मल स्कैनर की उपलब्धता भी सुनिश्चित की जाएं
- किसी आवेदक में संक्रमण के लक्षण दिखने पर चिकित्सक से सम्पर्क करने का सुझाव दें
- आवेदकों से दस्तावेज जांच, फोटो आदि के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग की पालना आवश्यक
- आवेदकों के बीच कम से कम दो गज की दूरी में रखी जाएं

लाइसेंस बनाना शुरू किया...
करीब दो माह से लाइसेंस बनाना बंद था। हाल ही में आए आदेश के बाद यह कार्य शुरू किया है। नए दिशा-निर्देश के अनुरूप लाइसेंस से सम्बंधित लम्बित आवेदनों का निस्तारण किया जा रहा है। कार्यालय में सेनेटाइजेशन, मास्क, सोशल डिस्टेंस समेत गाइड लाइन का पूरी तरह पालना किया जा रहा है।
- ओमप्रकाश चौधरी, जिला परिवहन अधिकारी, नागौर

Jitesh kumar Rawal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned