गांवों में से अस्सी प्रतिशत टिड्डियों को मारने का किया दावा

Nagaur patrika latest news. तकरीबन १८ घंटे तक चले टिड्डी खात्मे के इस ऑपरेशन में विभागीय अधिकारियों ने लगभग ८० प्रतिशत के खात्मे का दावाNagaur patrika latest news

Nagaur patrika latest news. नागौर. जिले के गांवों में आई घुसपैठ कर आए हरियाली के लुटेरों, टिड्डी दलों पर गुरुवार की रात्रि एवं शुक्रवार को दिन में एक-साथ चार आटोमेटिक वाहनों से घेराबंदी कर राशायनिक दवाओं से छिडक़ाव किया गया। तकरीबन १८ घंटे तक चले टिड्डी खात्मे के इस ऑपरेशन में विभागीय अधिकारियों ने लगभग ८० प्रतिशत के खात्मे का दावा किया है।

दिन भर निगरानी, रात में घात लगाकर हमला

अधिकारियों का कहना है कि अब जिले के गांवों में महज चार से पांच प्रतिशत टिड्डियां रह गई हैं। इनको भी शनिवार तक खत्म करने की कोशिश रहेगी। इसक अलावा बची हुई करीब १० से १५ प्रतिशत टिड्डियां वापस बीकारेन की ओर चली गई। इस संबंध में नागौर के अधिकारियों ने दूरभाष पर बीकानेर के अधिकारियों को जानकारी भी दे दी है।

चुरू १७ एवं १९ वर्षीय एथलीट का बना विजेता
कृषि विभाग, उद्यानिकी एवं सीकर से आए संयुक्त निदेशक सहित करीब दर्जन भर से अधिकारियों-कर्मचारियों के दलों ने लाडिय़ा क्षेत्र में पूरी रात ट्रेकिंग कर टिड्डी दलों को खत्म करने का काम किया। खेतों के किनारों, झाडिय़ों, खेजड़ी पर लदे लाखों की संख्या में टिड्डियों को खत्म् करने के लिए एक और गाड़ी बीकानेर से मंगा ली गई थी। चारों वाहनों से अलग-अलग जगहों पर लाडिय़ां में घेरा बनाते हुए दवाओं का छिडक़ाव किया गया। इस दौरान इसका ध्यान रखा गया कि इन दवाओं का स्प्र्रे खेतों में न पड़े, नहीं तो फिर फसलें भी जहरीली हो सकती हैं। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए इसमें ग्रामीणों से भी मदद ली गई। विभाग की ओर से यहां से साथ ले जाई गई कई छोटी मशीनों का भी इसमें प्रयोग किया गया। अधिकारियों व कर्मचारियों क अलावा ग्रामीणों ने भी सुव्यवस्थित तरीके से इन टि½ियों को खत्म करने का मोर्चा संभाला।

ट्रेक न, खेल मैदान, खेतों में अभ्यास कर जीता गोल्ड
टिड्डियों में मची भगदड़, छिप गई पेड़ों में
टिड्डी दलों को मारने में लगे अधिकारियों ने लाडिय़ा में करीब चार से पांच घंटे की ट्रेकिंग कर काफी संख्या में टिड्डियों को खत्म किया, लेकिन इसके बाद भी इनमें कई टिड्डियों के दल दवाओं की मार से घबराकर खेजड़ी के नीचे, तनों के पास एवं झाडिय़ों में छिप गए। इन्हें तलाश कर मारने का रात्रि में टुकड़ों में चला। दल ने लाडिय़ा एवं कालड़ी में एकसाथ टि½ियों को मारने का काम शुरू किया, लेकिन इनमें से टिड्डी के कुछ दल अभी गांवों में छिपे हुए हैं। इनकी तलाश करने के लिए दल अब शनिवार को आपरेशन चलाएगा।अधिकारियों का कहना है कि करीब १० से १५ प्रतिशत टिड्डी हवाओं के रूख के साथ श्रीबालाजी होते हुए बीकानेर के गूंटूसर, खोजास एवं टाट क्षेत्र व इसके आसपास चली गई हैं। इसकी जानकारी बीकानेर के अधिकारियों को दी जा चुकी है।
प्रदेश भर के धावकों का लगा मेला
इनका कहना है...
जिले के गांवों में करीब ८० प्रतिशत टिड्डियों को समाप्त किया जा चुका है। करीब १० से १५ प्रतिशत बीकानेर क्षेत्र में चली गई हैं। शेष रही टिड्डियों को समाप्त करने का काम शनिवार को भी किया जाएगा। इसमें एकसाथ चार गाडिय़ों से टिड्डियों पर राशायनिक दवाओं से हमला करने की योजना है।
हरजीराम चौधरी, उपनिदेशक कृषि विस्तार नागौर.Nagaur patrika latest news

Sharad Shukla
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned