scriptEven after giving electricity for free, discoms are being limed... | Video...फ्री में बिजली देने के बाद भी डिस्कॉम को लगा रहे चूना... | Patrika News

Video...फ्री में बिजली देने के बाद भी डिस्कॉम को लगा रहे चूना...

Nagaur. फ्री बिजली मिलने के बाद भी नहीं रुक रही बिजली चोरी
-पिछले कुछ सालों में बिजली की छीजत का औसत बढ़ा
-जिस अभियंता के क्षेत्र मे चोरी ज्यादा मिली अब उसको भी माना जाएगा जवाबदेह
-अब तक की चोरी प्रकरणो का क्षेत्रवार आकलन कर अब अभियंताओं को करनी होंगी कार्रवाई
-उच्चाधिकारियों से मिली नसीहत के बाद जिले में जोनवार बिजली चोरी रोकने के लिए बनी टीमें

नागौर

Published: May 29, 2022 06:07:46 pm

नागौर. जिले में करीब छह लाख से ज्यादा उपभोक्ताओं के साथ ही बिजली चोरों पर लगाम कसना डिस्कॉम के लिए चुनौती बन गया है। पिछले कुछ सालों में छीजत का औसत भी बढ़ा है। यह स्थिति तब है, जबकि प्रति माह उपभोक्ताओं को 50 यूनिट की बिजली फ्री में मिल रही है। इस संबंध में उच्चाधिकारियों ने भी अब अभियंताओं को स्पष्ट तौर पर चेता दिया है कि वह बाहर निकलकर काम करें। बिजली की छीजत और ज्यादा बढ़ी तो फिर अब उनके लिए भी मुश्किल हो सकती है। इसलिए सभी से कहा गया है कि वह अपने-अपने क्षेत्रों में बिजली आपूर्ति के दौरान टीम बनाकर जांच की कार्रवाई करें।
डिस्कॉम के जिले में करीब छह लाख 29 हजार उपभोक्ता हैं। इसमें अकेले नागौर शहर के उपभोक्ताओं की संख्या 26 हजार 917 है। विभागीय अधिकारियों के अनुसार यह तो रिकार्ड में दर्ज उपभोक्ताओं की संख्या हैं। इनमें से महज 25 प्रतिशत से भी कम के यहां स्मार्ट मीटर लगे हैं। इन उपभोक्ताओं पर सामान्यत: बिजली का उपभोग 120 लाख यूनिट का होता है, लेकिन विशेष परिस्थितियों में इनके आंकड़ों में यूनिट की संख्या बढ़ जाती है। खासकर गर्मी के दिनों में। इन उपभोक्ताओं पर आपूर्ति के साथ ही जोनवार अभियंताओं की टीम इनकी गतिविधियों पर निगरानी करती रहती है। इसके बाद भी मकराना, खींवसर एवं मूण्डवा आदि क्षेत्रों में बिजली चोरी का औसत पिछले कुछ सालों में तेजी से बढ़ा है। बढ़़े औसत ने नागौर का औसत बिगाडकऱ रख दिया है। हालांकि गत डेढ़ से दो सालों के अंतराल में बिजली चोरी घटनाओं में इजाफा होने के साथ ही पकड़े जाने वाले बिजली के ट्रांसफार्मरों सहित अन्य उपकरणों की संख्या आंकड़ों में एक तिहाई तक पहुंच चुकी है। इसक बाद बिजली चोरी का औसत नहीं घटा।
बिजली चोरी का औसत बढ़ा तो अब अभियंताओं को भी देना होगा जवाब
विभाग की ओर से अभियंताओं को अब स्पष्ट तौर पर कहा गया है कि वह अपने-अपने क्षेत्रों में चोरी की रोकथाम के लिए प्रभावी कार्रवाई करें। उनके क्षेत्रों में बिजली की छीजत बढ़ी तो फिर इस संबंध में उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जा सकती है। इस संबंध में प्रबन्ध निदेशक एन. एस. निर्वाण ने गत दिवस नागौर में बातचीत के दौरान बताया कि चोरी पर लगाम लगाए जाने के लिए उनकी ओर से अभियंताओं को विशेष निर्देश दिए गए हैं। कहा गया है कि वह चोरी रोकने में असफल रहे तो फिर कार्रवाई का सामना करने के लिए तैयार रहें। यह भी कहा गया है कि अब तक अपने क्षेत्रों में चोरी के हुए प्रकरणों का आकलन कर प्रभावी कार्रवाई करें। यह संदेश इसलिए दिया गया कि संभाग में शामिल जिलों में बिजली छीजत के बढ़े औसत में नागौर का नंबर अव्वल है। एमडी की ओर से इस संबंध में सख्त चेतावनी मिलने के बाद अभियंताओं ने अब अपने-अपने क्षेत्रों में जोनवार टीमों का गठन किया है। यह टीमें विशेष तौर पर बिजली चोरी रोकने के लिए काम करेगी।
इन पर भी अब दिया जाएगा ध्यान
डिस्कॉम के अनुसार कनेक्शनधारी उपभोक्ताओं के अलावा गैर कनेक्शनधारी उपभोक्ताओं को पकडऩा चुनौती रहती है। कारण कई बार कार्रवाई के लिए जब तक टीम पहुंचती है तो वहां पर सबकुछ क्लीयर मिलता है। इस संबंध में अब विभाग की ओर से खुद के अधिकारियों एवं कर्मियों की गतिविधियों पर भी अधिकारियों की नजर रहेगी। इसमें किसी की संलिप्तता पाए जाने पर विभाग ऐसे कर्मियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करेगा। उल्लेखनीय है कि पूर्व में हुए ऐसे प्रकरणों में जिले के कुछ स्थानों पर विभागीय कर्मियों की लिप्तता सिद्ध होने पर कार्रवाई भी की जा चुकी है।
इनका कहना है...
बिजली चोरी पर प्रभावी रोकथाम लगाए जाने के लिए विशेष योजना के तहत काम किया जाएगा। इस संबंध में वृत्त के सभी अभियंताओं को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए जा चुके हैं। चोरी का औसत बढऩे पर संबंधित अभियंताओं को भी इसका जवाब देना होगा।
जी. एस. मीणा. अधीक्षण अभियंता, अजमेर-नागौर डिस्कॉम

na051252.jpg

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

श्रीनगर में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, एक आतंकी को लगी गोली, जवान भी घायल38 साल बाद शहीद लांसनायक चंद्रशेखर का मिला शव, सियाचिन ग्लेशियर की बर्फ में दबकर हो गए थे शहीदराष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का देश के नाम संबोधन, कहा - '2047 तक हम अपने स्वाधीनता सेनानियों के सपनों को पूरी तरह साकार कर लेंगे'पंजाब में शुरु हुई सेहत क्रांति की शुरुआत, 75 'आम आदमी क्लीनिक' बन कर तैयार, देश के 75वें वर्षगांठ पर हो जाएंगे जनता को समर्पितMaharashtra: सीएम शिंदे की ‘मिनी’ टीम में हुआ विभागों का बंटवारा, फडणवीस को मिला गृह और वित्त, जानें किसे मिली क्या जिम्मेदारीलाखों खर्च कर गुजराती युवक ने तिरंगे के रंग में रंगी कार, PM मोदी व अमित शाह से मिलने की इच्छा लिए पहुंचा दिल्लीशेयर मार्केट के बिगबुल राकेश झुनझुनवाला की मौत ऐसे हुई, डॉक्टर ने बताई वजहBJP ने देश विभाजन पर वीडियो जारी कर जवाहर लाल नेहरू पर साधा निशाना, कांग्रेस ने किया पलटवार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.