scriptFear of gang war in Nagaur jail, five sent to Jodhpur | नागौर जेल में गैंगवार की आशंका, पांच को जोधपुर भेजा | Patrika News

नागौर जेल में गैंगवार की आशंका, पांच को जोधपुर भेजा

- नरपत हत्या काण्ड के आरोपियों को अदालत ने नागौर जेल भेजने के दिए थे आदेश
- नरपत का भाई जगदीश पहले से ही इस जेल में बंद, जेलर को थी आशंका, कुछ घंटे एहतियात के साथ रोका फिर भेजा जोधपुर

नागौर

Published: July 08, 2022 09:31:10 pm


एक्सक्लूसिव

नागौर. जेल में गैंगवार हो सकती है, इसकी सुगबुगाहट से जेलर के कान खड़े हो गए। पुलिस आरोपियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करना चाहती थी, इधर उनके जेल आने की चिंता से जेल स्टाफ की नींद उड़ चुकी थी। जिसके दो भाई की हत्या हो चुकी थी, वो जगदीश सलाखों के पीछे था तो जो इन हत्याओं में शामिल थे, उनके जेल में आना लगभग तय हो गया था। ऐसे में नागौर जिला जेल में अनहोनी की आशंका अपनी जड़ें जमाने लगा था। जेलर राज महेन्द्र की रणनीति ने अदालत से पहले एक और फिर आए चार आरोपियों को सूझबूझ से एक रात ठहराया फिर जोधपुर जेल शिफ्ट कर दिया।
जेल में गैंगवार
जेल में अनहोनी की आशंका अपनी जड़ें जमाने लगा था। जेलर राज महेन्द्र की रणनीति ने अदालत से पहले एक और फिर आए चार आरोपियों को सूझबूझ से एक रात ठहराया फिर जोधपुर जेल शिफ्ट कर दिया।
यह वाकया दुगस्ताऊ के नरपत सारण हत्याकाण्ड से जुड़ा है। करीब एक पखवाड़ा पहले दुगस्ताऊ से उसका अपहरण किया गया। उसको बुरी तरह घायल कर तरनाऊ अस्पताल के सामने पटककर चले गए, अस्पताल में उसकी मौत हो गई। शराब के काला कारोबार से बढ़ी रंजिश ने पहले नरपत के भाई बलराम की हत्या भी इसी गैंग ने की थी। इनका तीसरा भाई जगदीश पिछले कुछ वर्षों से नागौर जेल में है, इस पर इस गैंग के एक शातिर पर कातिलाना हमले का आरोप है।
हत्या के बाद जेल में सुगबुगाहट

सूत्र बताते हैं कि अपने भाई नरपत के दाह संस्कार में शामिल होने के बाद जगदीश वापस जेल गया। अब सलाखों के पीछे आरोपियों के आने की संभावना तो बढ़ ही गई थी, जगदीश भी मुश्किल में था। हालांकि काफी समय से रह रहे जगदीश को अन्य बंदी हिम्मत बंधा रहे थे। अपने दो भाई की हत्या के आरोपियों के साथ रहने की मुश्किल और भीतर ही भीतर पनप रही बदले की भावना जेल स्टाफ के माध्यम से जेलर राज महेंद्र तक पहुंची तो वे भी सतर्क हो गए। पहले तो उन्होंने जेल के आला अधिकारियों से बात कर इस बाबत पूरी हकीकत बता दी, साथ ही नरपत की हत्या के आरोपियों के नागौर जेल में आने के बाद गड़बड़ी होने की आशंका भी जताई। इस पर कहा गया कि आने पर देखते हैं।
बड़े सलीके से रातभर रोका, सुबह जल्द जोधपुर

सूत्रों के अनुसार बुधवार की शाम नरपत राम हत्याकाण्ड के चारों आरोपी रिमाण्ड के बाद अदालत में पेश किए गए जहां से उन्हें नागौर जेल भेज दिया गया। उनको लेकर ज्योंकि गाड़ी नागौर जेल पहुंची, स्टाफ हरकत में आ गया। पहले बाहर बरामद के बंदियों को बैरक में बंद किया गया। आरोपी जितेंद्र उर्फ जीतू, रामविलास उर्फ कालू, भंवरा राम और किशनाराम को शुरआती कुछ समय तो बाहर ही चौकसी में बैठाया गया। जब सारे बंदी बैरक में चले गए तो इन चारों को स्पेशल सेल में डाला गया। जोधपुर जेल बातकर फाइनल होते ही जल्द सुबह इन चारों को जोधपुर जेल भेज दिया गया। पूरे सुरक्षा के इंतजाम के साथ। इससे पहले एक आरोपी पुनीत विश्नोई को भी इसी तरीके से कुछ घंटों के बाद जोधपुर जेल भेजा गया था।
गैंगवार से हो जाते हालात

सूत्रों के मुताबिक जेल के भीतर इसी बात पर कई दिनों से शंका चल रही थी। पुलिस आरोपियों को पकडऩे में लगी थी तो जेलर इस चिंता में थे कि उनको यहां रखा कैसे जाएगा। भीतर से मिली जानकारी के बाद भी यह तो लगभग तय था कि कभी भी कोई भी गड़बड़ी हो सकती है। ऐसे में राज महेन्द्र ने कोशिश कर पहले से ही आला अधिकारियों से इस संदर्भ में संवाद शुरू कर दिया था। इसके चलते इन आरोपियों को तुरंत जोधपुर जेल में शिफ्ट कर दिया गया।
अभी दो रिमाण्ड पर

नरपत सारण हत्याकाण्ड के मास्टर माइण्ड दुगस्ताऊ निवासी हिस्ट्रीशीटर दिनेश उर्फ विक्की नेतड़ को केन्द्रीय कारागृह बीकानेर से प्रोडक्शन वारंट पर लिया है। इसके अलावा एक अन्य आरोपी धर्माराम भी रिमाण्ड पर है। अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है। जायल सीओ रामेश्वर लाल ने बताया कि अन्य आरोपियों के लिए पुलिस दबिश दे रही है।
यह था मामला

पुलिस के अनुसार हिस्ट्रीशीटर राजेन्द्र उर्फ राजू पुत्र मनफूल जाट व उसके सहयोगियों ने पुरानी रंजिश को लेकर गांव से नरपतराम पुत्र सुखाराम जाट का अपहरण कर लिया था और बोलेरो केपर गाड़ी में डालकर उसके साथ संगीन मारपीट की। बाद में उसे तरनाऊ हॉस्पिटल के सामने पटककर फरार हो गए। जिसकी इलाज के दौरान नागौर जिला चिकित्सालय में मृत्यु हो गई थी।
इनका कहना

जेल के भीतर किसी भी अप्रिय हालात न हों, इसके लिए उन पांच आरोपियों को जोधपुर जेल शिफ्ट किया गया है। जेल की सुरक्षा-शांति के लिए एहतियातन पहले से ही आला अधिकारियों से बात की गई थी। किसी भी तरह की गड़बड़ी नहीं होने देंगे।
-राज महेन्द्र, जेलर नागौर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Maharashtra News: महाराष्ट्र के रायगढ़ में संदिग्ध नाव मिलने से हडकंप, AK 47 सहित कई हथियार हुए बरामदपश्चिम बंगाल में STF को मिली बड़ी सफलता, अल-कायदा से जुड़े दो आतंकवादियों को किया गिरफ्तारBJP में शामिल होंगे JDU के पूर्व अध्यक्ष RCP सिंह, नीतीश के बारे में कहा- 7 जन्म में नहीं बन सकेंगे प्रधानमंत्रीराजू श्रीवास्तव की हालत नाजुक, ब्रेन हुआ डेड, दिल नहीं कर रहा काम, शुरू कराया गया महामृत्युंजय जापअशोक गहलोत ने गुजरात सरकार पर साधा निशाना, प्रदेश के विकास मॉडल को बताया खोखलाJammu Kashmir: बाहरी लोगों को वोट के अधिकार देने पर भड़के कश्मीरी नेता, मुफ्ती और उमर ने केंद्र पर साधा निशानाGujarat Assembly Elections: AAP ने जारी की उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट, जानें किसे कहां से मिला टिकट?शुभेंदु अधिकारी का दावा, दिसंबर तक टूट जाएगी TMC, बंगाल में दोहराया जाएगा महाराष्ट्र!
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.