‘परमात्मा की कृपा पर संभव मानव शरीर मिलना’

डोडवाड़ी में राम कथा प्रवचन

By: Dharmendra gaur

Published: 18 Dec 2018, 06:42 PM IST

मकराना. कथावाचक संत महेश महाराज ने कहा कि प्राणी जिस तरह के कर्म करते है, उसे उसके अनुसार ही फल की प्राप्ति होती है, लेकिन मानव शरीर कर्म प्रधान नही कृपा प्रधान है अर्थात मानव शरीर कर्म करने से नही मिलता वरन मानव शरीर उस जीव को मिल पाता है जिस पर परम पिता परमेश्वर की कृपा हुई हो। वे मंगलवार को निकटवर्ती ग्राम डोडवाड़ी में राम कथा प्रवचन में कहा कि जब परमात्मा ने हम पर कृपा करके यह मानव शरीर प्रदान किया है तो हमें चाहिए कि हम परमात्मा को कभी नही भूलें। हमारा कर्तव्य बनता है कि हम परमात्मा के बनाए हर जीव को भगवान का रूप समझकर उसकी सेवा करें। उन्होंने कहा कि जो भक्त निस्वार्थ एवं सच्चे दिल सहित समर्पण भाव से परमात्मा की भक्ति में लग जाते हैं, इस तरह के भक्तों से बढकऱ परमात्मा को कोई प्रिय नही होता तथा परमात्मा चाहते है कि ऐसे भक्तो का दुनिया में उनसे भी बढकर मान हो। उन्होंने गाय एवं गुरु की सेवा को जरूरी बताते हुए उससे भी जरूरी मां-बाप की सेवा बताई। उनका कहना था कि जिस तरह से संत-समागम एवं परमात्मा की कथा का रसपान उसे ही संभव हो पाता है जिस पर परमात्मा की कृपा हो उसी तरह मां-बाप की सेवा का अवसर भी परमात्मा की कृपा से ही मिल पाता है। कथा विश्राम से पूर्व सजीव झांकियां सजाकर भगवान श्रीराम का अभिषेक किया गया।

Show More
Dharmendra gaur Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned