scriptFirst Peera then Peeriya later Poornaram took sixty years to become Po | पहले पीरा फिर पीरिया बाद में पूर्णाराम को पूराराम बनने में लगे साठ साल | Patrika News

पहले पीरा फिर पीरिया बाद में पूर्णाराम को पूराराम बनने में लगे साठ साल

पत्रिका ग्राउण्ड रिपोर्ट

सवाईसिंह हमीराणा

खींवसर (nagaur). भूप्रबंध विभाग की लापरवाही के कारण दांतिणा गांव के एक ही परिवार के 42 लोग अपनी ही भूमि के स्वयं मालिक नहीं बन पाए। गलती दो-चार साल पुरानी नहीं बल्कि साठ वर्ष पुरानी है। अपनी सही खातेदारी प्राप्त करने के लिए इन लोगों की चार पीढिय़ां गुजर गई। भू प्रबंध ने भी राजस्व रेकर्ड में एकाध गलतियां नहीं की बल्कि गलतियों के अंबार लगा दिए।

नागौर

Published: October 29, 2021 08:54:22 pm


- सही खातेदारी के लिए गुजरी चार पीढिय़ां
- प्रशासन ने दी 42 परिवारों को राहत
- भू प्रबंध की लापरवाही ने कभी नाम बदला तो कभी पिता

खास बात यह है कि जब-जब भूप्रबंध हुआ तब-तब रिकॉर्ड में नाम और पिता-पुत्र बदलते गए। इन परिवार के एक सदस्य को पीरा से पीरिया, पीरिया से पूर्णाराम और पूर्णाराम से वापस पीराराम बनाने में छह दशक लग गए। भू प्रबंध के लापरवाह अधिकारियों ने परिवार के सदस्य को चेनाराम का पुत्र बताया तो कभी धनाराम का पुत्र बता दिया। यही हाल दयालराम के थे उसे दयाल पुत्र धनाराम बताया तो कभी दिपला बताकर खातेदारी से वंचित कर दिया। अपना मालिकाना हक पाने के लिए परिवार के कई सदस्यों ने न्यायालय का दरवाजा का खटखटाया और मामला बरसों तक चलता रहा। शुक्रवार को दांतिणा में एक जाजम पर बैठे प्रशासन और पीडि़त परिवारों के राजस्व रिकॉर्ड में नामों का शुद्धिकरण कर 42 परिवारों को सही खातेदारी अधिकार मिला तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा और कानूनी प्रक्रिया में एक-दूसरे से दुश्मनी रखने वाले सभी सदस्य आपसे में गले मिले। अपनी जमीन का हक पाने के लिए कई खातेदारों के पोते भी दादा बन गए और जब हक मिला तो चंद मिनट लगे। पात्रों को हक दिलाने में राजस्व विभाग के साथ एडवोकेट मूलसिंह व लालसिंह की भी विशेष भूमिका रही।
पहले पीरा फिर पीरिया बाद में पूर्णाराम को पूराराम बनने में लगे साठ साल
खींवसर. दांतिणा में आयोजित शिविर में नाम शुद्धि के बाद नामांतरण दस्तावेज सौंपते अधिकारी।
इन्हें मिली राहत

प्रशासन के प्रयास से मिले भूमि हक में दांतिणा के गोरखाराम पुत्र तुलछाराम मेघवाल, बीजाराम पुत्र गिरधारीराम मेघवाल, मालाराम पुत्र तुलछाराम मेघवाल, प्रतापराम पुत्र धुड़ाराम मेघवाल, पदमाराम पुत्र प्रभूराम मेघवाल, अखाराम पुत्र भीखाराम मेघवाल, बंशीराम पुत्र भीखाराम मेघवाल,दीपाराम के पुत्र नथाराम, जेठाराम, मोतीराम, नगाराम, सोनाराम मेघवाल, माडी पत्नी दीपाराम मेघवाल, जयराम पुत्र सुरजाराम मेघवाल, पीराराम के पुत्र रूपाराम, बीराराम, बालूराम मेघवाल, मांगीदेवी मेघवाल, मीरा पुत्री झींटाराम मेघवाल, गुड्डी पत्नी झींटाराम मेघवाल, झींटाराम के पुत्र बुधाराम व चंदूराम, तुलछाराम की पुत्री हवली व गवरी मेघवाल, शुगनी पत्नी गिरधारीराम मेघवाल, गिरधारीराम के पुत्र भगवानाराम, पेमाराम, डालूराम मेघवाल, धुड़ाराम के पुत्र पुरखाराम व भागुराम मेघवाल, प्रभूराम के पुत्र मुल्तानराम, निंबाराम, आसुराम, हणुताराम, सुगनाराम मेघवाल, मीरा पत्नी प्रभुराम, प्रभूराम की पुत्री जेठी, सोनी, रामी मेघवाल, मदाराम पुत्र टीकूराम मेघवाल, पतासी पत्नी भीकाराम मेघवाल, लिखमाराम पुत्र मालाराम मेघवाल शामिल है।
यह था मामला

ग्रामीण चेनाराम के चार पुत्र हीराराम, टिकूराम, पीराराम व मानाराम थे जो खसरा नम्बर 248 में काबिज थे। उस वक्त सेटलमेंट में पीराराम पुत्र चेनाराम के स्थान पर पीराराम पुत्र धन्नाराम दर्ज कर दिया गया। उसके बाद हुए सेटलमेंट में दिपला पीरा पुत्र धना भी गलत दर्ज कर दिया गया तथा उसके बाद पुरिया पुत्र चेनाराम कर दिया गया जो अभी तक गलत चल रहा था। जबकि सही नाम पीराराम पुत्र चेनाराम दर्ज किया जाना था। जबकि दिपला पुत्र धनाराम अथवा धन्नाराम इस खसरे में कभी काबिज नहीं रहे। राजस्व रेकर्ड में में दयालराम पुत्र धन्नाराम इन्द्राज होने के कारण नामान्तरण नहीं हो पा रहा था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Maharashtra Nagar Panchayat Election Result: 106 नगरपंचायतों के चुनावों की वोटों की गिनती जारी, कई दिग्‍गजों की प्रतिष्‍ठा दांव परUP Election 2022: यूपी चुनाव से पहले मुलायम कुनबे में सेंध, अपर्णा यादव ने ज्वाइन की बीजेपीकेशव मौर्य की चुनौती स्वीकार, अखिलेश पहली बार लड़ेंगे विधानसभा चुनाव, आजमगढ के गोपालपुर से ठोकेंगे तालकोरोना के नए मामलों में भारी उछाल, 24 घंटे में 2.82 लाख से ज्यादा केस, 441 ने तोड़ा दम5G से विमानों को खतरा? Air India ने अमरीका जाने वाली कई उड़ानें रद्द कीरोहित शर्मा को क्यों नहीं बनाया जाना चाहिए टेस्ट कप्तान, सुनील गावस्कर ने समझाई बड़ी बातखत्म हुआ इंतज़ार! आ गया Tata Tiago और Tigor का नया CNG अवतार शानदार माइलेज के साथकोरोना का कहर : सुप्रीम कोर्ट के 10 जज कोविड पॉजिटिव, महाराष्ट्र में 499 पुलिसकर्मी भी संक्रमित
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.