मच्छरों की फैक्ट्रियां बद करवाएगी एंटी लार्वा स्क्वायड

shyam choudhary

Publish: Mar, 14 2018 07:23:55 PM (IST)

Nagaur, Rajasthan, India
मच्छरों की फैक्ट्रियां बद करवाएगी एंटी लार्वा स्क्वायड

21 से 23 मार्च तक चलेगा 'स्वास्थ्य दल आपके द्वार' अभियान

नागौर. मच्छर जनित बीमारियों डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया व स्क्रब टाइफस से बचाव व मच्छरों की तादाद पर प्रभावी नियंत्रण के लिए पूरे प्रदेश में 21 मार्च से 3 दिवसीय विशेष अभियान 'स्वास्थ्य दल आपके द्वार' चलाया जाएगा। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की इस पहल को अंजाम देंगे सरकारी व निजी नर्सिंग विद्यार्थी व चिकित्सा विभाग के कार्मिक।

ये एंटी लार्वा स्क्वॉड के सिपाही बनकर जिले भर में मच्छरों से अधिक प्रभावित क्षेत्रों में घर-घर जाकर एंटी लार्वा तथा एंटी एडल्ट गतिविधियों का प्रदर्शन कर जनजागरण करेंगे। चिकित्सा विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव वीनू गुप्ता द्वारा जारी निर्देशानुसार पूरे राज्य में एक साथ अभियान चलाकर मच्छर जनित बीमारियों पर प्रभावी नियंत्रण व आम जन को इस लड़ाई से जोडऩे का प्रयास किया जाएगा। सीएमएचओ अभियान के नोडल व डिप्टी सीएमएचओ हेल्थ सह नोडल अधिकारी होंगे, जबकि खण्ड स्तर पर ब्लॉक सीएमएचओ नोडल होंगे। गौरतलब है कि जयपुर जिले में इस प्रकार का अभियान चलाया गया, जिसके काफी सकारात्मक परिणाम सामने आए थे, अब पूरे राज्य में इसे अपनाया जा रहा है।

नर्सिंग विद्यार्थियों को देंगे प्रशिक्षण
सीएमएचओ डॉ. सुकुमार कश्यप ने बताया कि अभियान के तहत जिले के सभी नर्सिंग विद्यार्थियों को लार्वा की पहचान, एंटी लार्वल गतिविधि व एंटी एडल्ट गतिविधि का प्रशिक्षण दिया जाएगा। फिर जिला से खण्ड स्तर तक नर्सिंग विद्यार्थियों के दल बनाए जाएंगे, जो वार्ड वार जिम्मेदारी लेते हुए घर-घर भ्रमण करेंगे। घरों में व आसपास मच्छर पैदा होने के मुख्य स्थानों से रू-ब-रू करवाएंगे और नियमित एंटी लार्वल गतिविधियां करने के लिए प्रेरित करेंगे। अभियान के लिए जिला प्रशासन के नेतृत्व में नगर परिषद, शिक्षा विभाग, पंचायती राज सहित विभिन्न विभागों व स्वयं सेवी संस्थाओं का सहयोग लिया जाएगा।

 

सभी अस्पतालों व शिक्षण संस्थानों में होगा सोर्स रिडक्शन

डिप्टी सीएमएचओ डॉ. अशोक यादव ने बताया कि घरों में जाने से पहले कार्य स्थलों को टारगेट किया जाएगा। समस्त राजकीय व निजी अस्पतालों, मेडिकल कॉलेज, विद्यालयों, सरकारी कार्यालयों व अन्य कार्य स्थलों पर एंटी लार्वल एक्टिविटी द्वारा सोर्स रिडक्शन की कार्यवाही स्वयं परिसर प्रभारियों द्वारा करवाई जाएगी।

तम्बाकू के दुष्प्रभाव भी बताएंगे
एपीडेमियोलोजिस्ट साकिर खान ने जानकारी दी कि अभियान की पूरी कार्ययोजना राज्य स्तर से मिली है, जिसके अनुसार व्यापक तैयारियों के लिए सभी खण्ड स्तरीय बैठकों से लेकर वीएचएससी व महिला आरोग्य समिति स्तर की बैठकों में एंटी लार्वल गतिविधियों पर चर्चा की जाएगी। पूरे अभियान के दौरान बैठकों व घर-घर भ्रमण के दौरान तम्बाकू से होने वाले दुष्प्रभावों के लिए भी जन-जागरण किया जाएगा।

 

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned