उल्लास से मनाई गणगौर तीज, घरों में ही रस्म अदायगी

गणगौर पर्व को लेकर तीजणियों में उल्लास, खुशहाली की कामना की, नहीं हुए सामूहिक कार्यक्रम

By: Jitesh kumar Rawal

Updated: 27 Mar 2020, 02:34 PM IST

नागौर. गणगौर पर्व को लेकर तीजणियों में उल्लास बना हुआ है। शुक्रवार को गणगौर तीज हर्षोल्लास से मनाई गई। इस सम्बंध में तीजणियों ने काफी तैयारी की है। हालांकि इस बार सामूहिक रूप से कार्यक्रम नहीं हुए, लेकिन घरों में कार्यक्रम धूमधाम से मनाए गए। शहर के विभिन्न मोहल्लों में सुहागिनों ने तीज की जोरदार तैयारी की है। महिलाओं ने बताया कि इस बार तालाब पर पानी पिलाने की रस्म नहीं हो पाई, लेकिन परम्परागत रीति-रिवाज के अनुरूप ही गणगौर मनाई गई। पर्व के तहत सुबह विशेष पूजा-अर्चना की गई। इसके बाद इसर-गौर को पानी पिलाने की रस्म अदायगी की गई। घरों में ही विशेष आयोजन किए गए। इस दौरान तीजणियों ने गणगौर मां से खुशहाली की कामना की। पूजा करते हुए दूब से पानी के छींटें देते हुए गोर गोर गोमती गीत का उच्चारण किया गया। घरों में परिवार के साथ ही भजन-कीर्तन व नृत्य के आयोजन किए गए। आस्था, प्रेम व सौहार्द का उत्सवचैत्र माह में शुक्ल पक्ष की तीज को आने वाला गणगौर राजस्थान का खास त्योहार है। इस दिन युवतियों व सुहागिनों ने पूजा-अर्चना कर खुशहाली की कामना की। शिव-गौरी (इसर-गौर) की पूजा की गई। प्रदेश में आस्था, प्रेम व पारिवारिक सौहार्द का यह सबसे बड़ा उत्सव है। होलिका दहन के दूसरे दिन चैत्र कृष्ण प्रतिपदा से यह उत्सव शुरू हो जाता है, जो चैत्र शुक्ल तृतीया तक 18 दिनों तक चलता है gangaur-worshiped

Jitesh kumar Rawal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned