सरकारी खानापूर्ति ने रामदेव पशु मेले को कर दिया खत्म

Sharad Shukla

Publish: Feb, 11 2019 12:13:40 PM (IST) | Updated: Feb, 11 2019 12:13:41 PM (IST)

Nagaur, Nagaur, Rajasthan, India

नागौर. पशुओं के ख्यात विश्वप्रसिद्ध रामदेव पशु मेले पर गोवंश परिवहन पर लगी रोक सहित अन्य अव्यवस्थाओं के साथ पर्यटन की विभाग की बेरुखी के कारण ग्रहण लग गया है। अब इसमें कुल पशुओं की संख्या जहां पांच से छह हजार तक के आंकड़ों पर जा सिमटी है, वहीं विदेशी सैलानी भी न के बराबर नजर आते हैं। गत वर्ष एवं इस वर्ष तुलनात्मक तौर पर पशुओं में गोवंशों की संख्या इस बार भी डेढ़ से दो हजार तक जा सिमटी है। पशु पालकों की माने तो मेले में पशुओं के न तो ठहरने, रहने आदि के प्रबन्ध किए जाते हैं, और न ही सैलानियों के लिए पर्यटन विभाग की ओर से कोई प्रबन्ध किया जाता है। मेले के आयाजन में गोवंश के परिवहन पर लगी रोक के साथ सरकारी विभागों की खानापूर्ति ने पूरे मेले का अस्तित्व ही खत्म कर दिया है। यही वजह रही है कि अब मेला केवल चंद पशुओं की भीड़ तक सिमटकर रह गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned